Home /News /uttar-pradesh /

ग्रेटर नोएडा में गायब हो गई थी 400 करोड़ की जमीन, 'वन मैप' ऐप ने ढूंढ निकाले लापता प्‍लॉट

ग्रेटर नोएडा में गायब हो गई थी 400 करोड़ की जमीन, 'वन मैप' ऐप ने ढूंढ निकाले लापता प्‍लॉट


ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी को मिले लापता प्‍लॉट्स की कीमत करीब 400 करोड़ रुपये है.

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी को मिले लापता प्‍लॉट्स की कीमत करीब 400 करोड़ रुपये है.

Greater Noida Authority: ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने पिछले साल वन मैप ग्रेटर नोएडा ऐप (One Map Greater Noida App) लॉन्‍च की थी. इस ऐप के जरिए अथॉरिटी को 100 से अधिक प्‍लॉट्स मिले हैं, जिनकी कीमत 400 करोड़ से ज्‍यादा है.

    ग्रेटर नोएडा. यूपी के गौतम बुद्ध नगर के ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने ‘वन मैप ग्रेटर नोएडा’ ऐप के जरिए 100 से अधिक लापता प्‍लॉट ढूंढ़ निकाले हैं. इन प्‍लॉट्स की कीमत 400 करोड़ रुपए से अधिक है. इसके अलावा इन प्‍लॉट्स के आवंटन से 1500 करोड़ रुपये के निवेश और 4000 से अधिक युवाओं को रोजगार के अवसर भी मिलने का अनुमान है.

    प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी नरेंद्र भूषण ने बताया कि उत्तर प्रदेश में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण पहला प्राधिकरण है, जिसने वन मैप तैयार कराया है. उन्होंने कहा कि सिंगापुर की तर्ज पर बने इस वन मैप में ग्रेटर नोएडा से जुड़ी हर एक जानकारी दी गई है. उनके अनुसार प्राधिकरण ने परीक्षण के रूप में इसका बीटा वर्जन शुरू कर दिया है, ताकि आम जन का फीडबैक मिल सके.

    नरेंद्र भूषण ने बताया कि इसका औपचारिक शुभारंभ बाद में मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के हाथों होना है, लेकिन ट्रायल में ही इसके खुशनुमा परिणाम आने लगे हैं. उन्होंने कहा कि वन मैप के जरिए प्राधिकरण को जो लापता 108 औद्योगिक प्‍लॉट मिले हैं, उनकी कीमत 400 करोड़ रुपए से अधिक आंकी गई है. उनहोंने बताया कि इसकी निगरानी वह खुद कर रहे हैं और उन्होंने उद्योगों के साथ ही संस्थागत, आईटी, रिहायशी और वाणिज्यिक विभागों को वन मैप के जरिए प्‍लॉट्स की छानबीन करने के निर्देश दिए हैं.

    वन मैप के जरिये मिले लापता प्लॉट

    ‘वन मैप ग्रेटर नोएडा’ के जरिए जिन लापता प्‍लॉट्स का पता चला है, माना जा रहा है कि ये वे प्‍लॉट हैं, जो किसी योजना में शामिल किए गए होंगे, लेकिन वे उस योजना से आवंटित नहीं हुए. ऐसे प्‍लॉट्स को किसी दूसरी स्कीम में शामिल किया जाना चाहिए था, लेकिन संबंधित अधिकारी या कर्मचारी के तबादला हो जाने से ये प्‍लॉट छूट गए. अब वन मैप के जरिए प्राधिकरण को ये प्‍लॉट मिल रहे हैं.

    सभी तरह के प्‍लॉट हैं खाली

    सीईओ ने बताया कि ग्रेटर नोएडा से जुड़ी हर जानकारी को आम जनता तक पहुंचाने के लिए वन मैप तैयार कराने का निर्णय लिया गया. इसकी शुरुआत करीब डेढ़ साल पहले हुई थी, इसे प्राधिकरण की टीम और एनआईसी ने तैयार किया है. इसे ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की वेबसाइट डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू डॉट ग्रेटरनोएडा ऑथोरिटी डॉट इन से लिंक किया गया है तथा उस पर क्लिक करते ही सारी जानकारी आपके सामने आ जाएगी. मसलन, सिटीजन कॉलम पर क्लिक करने से ग्रेटर नोएडा में स्थित बस स्टॉप और पुलिस स्टेशन, पोस्ट ऑफिस, सार्वजनिक शौचालय कहां हैं, यह सब पता चल जाएगा. इसके अलावा उन्होंने कहा कि आवासीय, इंडस्ट्री, संस्थागत, वाणिज्यिक, आईटी आदि के कितने प्‍लॉट खाली हैं, इसे भी आप यहां देख सकते हैं और अपनी जरूरत के हिसाब से स्कीम के जरिए आवेदन कर प्‍लॉट पा सकते हैं.

    Tags: CM Yogi Adityanath, Greater Noida Industrial Development Authority, Greater noida news, Noida news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर