जेवर हवाई अड्डे के लिए मुफ्त जमीन देगी यूपी सरकार, बनेगा दुनिया का 5वां सबसे बड़ा एयरपोर्ट

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 10, 2019, 5:50 PM IST
जेवर हवाई अड्डे के लिए मुफ्त जमीन देगी यूपी सरकार, बनेगा दुनिया का 5वां सबसे बड़ा एयरपोर्ट
इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा (IGI) में तीन रन-वे और तीन टर्मिनल हैं. जेवर एयरपोर्ट पर पांच से ज्यादा रन-वे की जरूरत होगी. (सांकेतिक फोटो.)

इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा (IGI) में तीन रन-वे और तीन टर्मिनल हैं. जेवर एयरपोर्ट पर पांच से ज्यादा रन-वे की जरूरत होगी. हालांकि पहले चरण में दो टर्मिनल ही बनाए जाएंगे.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) मंत्रिमंडल ने गौतम बुद्ध नगर (Gautam buddh Nagar) में बनने वाले जेवर हवाई अड्डे (Jewar Airport) के लिये ग्रामसभा और राज्य सरकार की जमीन नागरिक उड्डयन विभाग को मुफ्त देने का निर्णय लिया है. राज्य सरकार के प्रवक्ता मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की अध्यक्षता में हुई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में लिए गए इस निर्णय के बारे में संवाददाताओं को जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि बैठक में जेवर हवाई अड्डे के लिए नागरिक उड्डयन विभाग को ग्रामसभा की 59.79 हेक्टेयर और राज्य सरकार के स्वामित्व वाली 21.36 हेक्टेयर जमीन मुफ्त देने का फैसला किया गया है. उन्होंने बताया कि पहले चरण में इस हवाई अड्डे का विस्तार 1334 हेक्टयर क्षेत्र में किया जाएगा और इसके वर्ष 2023 तक बनकर तैयार होने की उम्मीद है.

करीब 5000 हेक्टेयर क्षेत्र में बनने वाले जेवर हवाई अड्डे के निर्माण पर 15754 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है. इसका संचालन पूरी तरह शुरू होने पर इसमें आठ रनवे काम करेंगे. इतनी संख्या में रनवे देश के किसी दूसरे हवाई अड्डे पर नहीं हैं. हवाई अड्डे का निर्माण वर्ष 2020 के शुरुआती महीनों में प्रारम्भ होने की सम्भावना है.

आईजीआई सबसे बड़ा टर्मिनल

इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा (आईजीआई) में तीन रन-वे और तीन टर्मिनल हैं. जेवर एयरपोर्ट पर पांच से ज्यादा रन-वे की जरूरत होगी. हालांकि पहले चरण में दो टर्मिनल ही बनाए जाएंगे. जेवर में बनने जा रहा इंटरनेशनल एयरपोर्ट 3000 हेक्टेयर जमीन पर बनेगा. पहले चरण में 1327 हेक्टेयर जमीन पर निर्माण होगा. दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा 5,106 एकड़ जमीन पर बना हुआ है. वर्ष 2022-23 में तैयार हो जाने के बाद जेवर विश्व का पांचवां सबसे बड़ा हवाई अड्डा बन जाएगा.

भारत का सबसे बड़ा हवाई अड्डा
इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा देश का सबसे बड़ा हवाई अड्डा है. दूसरे स्थान पर मुंबई का छत्रपति शिवाजी अंतराष्ट्रीय हवाई अड्डा और तीसरे स्थान पर बेंगलुरु का अंतराराष्ट्रीय हवाई अड्डा है. व्यस्तता के मामले में भी आईजीआई एशिया में 10वें जबकि विश्व में 21वें स्थान पर है. एशिया में पहले स्थान पर चीन का बीजिंग कैपिटल हवाई अड्डा जबकि, विश्व में पहले स्थान पर जार्जिया का अटलांटा हवाई अड्डा है.
Loading...

ये भी पढ़ें:

पढ़ाई में तेज होने के लिए 9 साल की छात्रा ने खुद को लगाई आग

नए ट्रैफिक नियमों की धज्जियां उड़ा रही है 'जुगाड़' पर दौड़ती हजारों गाड़ियां

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ग्रेटर नोएडा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 10, 2019, 5:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...