Assembly Banner 2021

Noida News: ग्रेटर नोएडा वेस्ट से कालिंदी कुंज तक जून से बिना रुके फर्राटा भर सकेंगे वाहन, जानिए पूरा प्‍लान

इस अंडरपास के तैयार होते ही नोएडा सेक्टर-71 चौक सिग्नल फ्री हो जाएगा.  
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

इस अंडरपास के तैयार होते ही नोएडा सेक्टर-71 चौक सिग्नल फ्री हो जाएगा. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

अंडरपास (Underpass) बन जाने से सेक्टर-32, सिटी सेंटर (City Center) से पर्थला गोल चक्कर की तरफ आने-जाने वाले सैकड़ों वाहनों को भी इसका फायदा मिलेगा. इस अंडरपास की लागत करीब 57 करोड़ रुपये है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2021, 8:31 AM IST
  • Share this:
नोएडा. दिल्‍ली-एनसीआर के प्रमुख शहर नोएडा के सेक्टर-71 में बन रहे अंडरपास का काम लगभग पूरा होने वाला है. मई के आखिर तक काम पूरा होने के बाद जून की शुरुआत से यहां वाहन फर्राटा भरने लगेंगे. अंडरपास के शुरू होते ही ग्रेटर नोएडा वेस्‍ट (Greater Noida West) से लेकर कालिंदी कुंज (Kalindi Kunj) तक रोजाना हजारों वाहन बिना रुके सरपट दौड़ सकेंगे. इतना ही नहीं अंडरपास बनने के दौरान रूट डायवर्जन और कुछ रूट बंद होने से हो रही परेशानी से छुटकारा भी मिल सकेगा.

अप्रैल 2021 तक सेक्टर-71 के इस अंडरपास को बनाने का लक्ष्य रखा गया था, लेकिन कभी लागत बढ़ जाने के चलते कंपनी ने काम रोक दिया तो कभी मेट्रो ट्रेन का पिलर अंडरपास के बीच में आ जाने के चलते काम रोका गया. अब 90 फीसद काम पूरा हो चुका है. बाकी बचा 10 फीसद काम भी मई के आखिर तक पूरा हो जाने की उम्मीद है.

सिग्नल फ्री हो जाएगा सेक्टर-71 चौक
मेट्रो लाइन शुरू होने के बाद नोएडा के सेक्टर-71 चौक पर यात्रियों की संख्या बढ़ गई है. मेट्रो से उतरने वाले भी सेक्टर-53, 61, 71, 72, 73, 119, 120, 121, 122, पर्थला, सर्फाबाद, ग्रेटर नोएडा वेस्ट, गौड़ सिटी, छिजारसी, शाहबेरी, क्रॉसिंग रिपब्लिक, बिसरख और सूरजपुर की ओर जाने वाले छोटे-बड़े किसी न किसी वाहन का इस्तेमाल करते हैं. इसके चलते भी ट्रैफिक बढ़ गया है.
अंडरपास का निर्माण सिटी सेंटर और ग्रेनो वेस्ट को जोड़ने वाली सड़क पर किया गया है. इसके बनने से सिटी सेंटर से ग्रेनो वेस्ट के बीच अंडरपास से और एनएच-24 से भंगेल के बीच अंडरपास के ऊपर से बेरोकटोक सफर किया जा सकेगा. अंडरपास की लंबाई करीब 680 मीटर है, जिसकी तीन लेन आने के लिए और तीन लेन जाने के लिए हैं.



आम्रपाली में खरीदा है घर तो जल्द मिलेगा आपका फ्लैट, इस साल पूरे होंगे 3 अटके हुए प्रोजेक्ट

नोएडा के अलावा ग्रेटर नोएडा, दिल्ली, गाजियाबाद, हरियाणा और राजस्थान के बीच आवाजाही करने वाले हजारों वाहन रोजाना इसी चौराहे का इस्तेमाल करते हैं. साथ ही ग्रेनो वेस्ट और ग्रेटर नोएडा को भी यह चौराहा नोएडा से जोड़ता है. अंडरपास निर्माण के दौरान भंगेल और सेक्टर-76 की ओर से सेक्टर-60-61 की ओर जाने वाले वाहन चौराहे से बाईं ओर मुड़कर (होशियारपुर की ओर) यू-टर्न ले रहे थे.



यहां भी चल रहा है अंडरपास बनाने का काम
सेक्टर-142 में एडवंट इमारत के पास का अंडरपास का काम चल रहा है. सबसे पहले अंडरपास का काम यहीं से शुरू हुआ है. यहां अंडरपास की लागत करीब 47 करोड़ रुपये आ रही है. यह चार लेन का है. इसकी लंबाई करीब 60 मीटर है. इसके दोनों ओर अप्रोच रोड भी है, जो करीब 300 मीटर की है. यह सेक्टर-142 को सेक्टर-168 से जोड़ने का काम करेगा. इसका फायदा पास में ही बने मेट्रो लाइन मेट्रो स्टेशन पर आने वाले यात्रियों को भी मिलेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज