हाथरस जाने पर अड़े राहुल गांधी और प्रियंका को हिरासत में लेने के कुछ देर बाद छोड़ा, देखें Video

राहुल और प्रियंका गांधी को हिरासत में लेने के बाद पुलिस जेवर थाने में ले गई है.
राहुल और प्रियंका गांधी को हिरासत में लेने के बाद पुलिस जेवर थाने में ले गई है.

हाथरस की कथित गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से मिलने जा रहे कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को जब नोएडा में रोका गया तो उन्होंने सवाल किया कि किस कानून के तहत उन्हें रोका जा रहा है. पुलिस ने उन्हें धारा 144 और महामारी एक्ट के उल्लंघन के तहत हिरासत में लिया. हालांकि कुछ ही देर में पुलिस ने दोनों को छोड़ ‌भी दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 1, 2020, 5:28 PM IST
  • Share this:
नोएडा. हाथरस (Hathras) की कथित गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से मिलने जा रहे राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) को नोएडा में यूपी पुलिस (UP Police) ने यमुना एक्सप्रेसवे (Yamuna Expressway) पर रोक दिया. इसके बाद पुलिस और राहुल गांधी के बीच तीखी बहस हुई. पुलिस ने धारा 144 और महामारी एक्ट का हवाला देकर उन्हें हाथरस जाने से मन किया. इसके बाद पुलिस ने राहुल और प्रियंका गांधी समेत अन्य कार्यकर्ता हिरासत में ले लिए गए. फिलहाल मौके पर भारी पुलिसबल तैनात है. जानकारी के अनुसार राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को हिरासत में लेने के बाद जेवर पुलिस थाने ले जाया गया है. इस दौरान राहुल और प्रियंका को जिस गाड़ी में थाने ले जाया गया उसे एक्सप्रेस वे पर रॉन्ग साइड चलाया गया, साथ ही जो भी कांग्रेस कार्यकर्ता इस दौरान गाड़ी के सामने आने का प्रयास करते दिखे उन्हें रोका गया. हालांकि जेवर थाने ले जाने के कुछ ही देर बाद पुलिस ने राहुल और प्रियंका दोनों को छोड़ दिया.

पुलिस से हुई बहस
पैदल हाथरस जा रहे राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को जब रोका गया तो उन्होंने सवाल किया कि किस कानून के तहत उन्हें रोका जा रहा है. इसी पर पुलिस ने कहा कि धारा 144 और महामारी एक्ट के तहत. इस पर राहुल ने पूछा बताइए मुझे धारा 144 क्या होती? इस बहस के बीच राहुल को पुलिस ने हिरासत में ले लिया. नोएडा के एडीसीपी रणविजय सिंह ने कहा कि हमने उन्हें यहां रोक दिया है. इन लोगों ने महामारी एक्ट का उल्लंघन किया है. माननीय हाईकोर्ट की अवमानना हो रही है. हम इन्हें आगे नहीं जाने देंगे.


राहुल गांधी से धक्का-मुक्की


इस पहले एक तस्वीर यह भी देखने को मिली कि राहुल गांधी धक्का-मुक्की के बाद जमीन पर गिर पड़े. जिसके बाद उनकी सुरक्षा में लगे जवानों ने उठाया. तस्वीरों में दिख रहा है कि राहुल गांधी कार्यकर्ताओं के धक्के से गिरे, लेकिन उनका आरोप है कि पुलिस ने उन्हें धक्का दिया और लाठियों से मारा.

राहुल गांधी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि अभी-अभी पुलिस ने मुझे धक्का दिया, लाठी मारी और मुझे जमीन पर फेंक दिया. उन्होंने कहा कि मैं पूछना चाहता हूं कि क्या इस देश में सिर्फ मोदी जी को पैदल चलने का अधिकार है, हमारे जैसे आम लोग पैदल नहीं चल सकते. हमारी गाड़ियां रोकी गई इसलिए हम पैदल चल रहे हैं.

इधर, राहुल और प्रियंका गांधी से जुड़े पूरे मामले को बीजेपी ने सियासी ड्रामा करार दिया है. बीजेपी नेता और प्रवक्ता चंद्रमोहन ने कहा कि दोनों भाई-बहन सियासी रोटी सेंकने के लिए ड्रामा कर रहे हैं. जब उन्हें इस बात की जानकारी दे दी गई है कि धारा 144 लागू है तो फिर क्यों कानून का पालन नहीं कर रहे. जब उनकी गाड़ियां रोकी नहीं गईं, तो पैदल चलकर क्या दिखाना चाह रहे हैं. उन्होंने कहा कि मामले में SIT जांच कर रही है. आरोपी सलाखों के पीछे हैं. परिवार की पूरी मदद की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज