दिल्ली के पास बन रहा देश का सबसे बड़ा हवाई अड्डा, विश्व के टॉप 5 में होगा शुमार

माना जा रहा है कि आने वाले पांच वर्षों में इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा (आईजीआई) की यात्री क्षमता पूरी हो जाएगी और तब तक जेवर हवाई अड्डा बनकर तैयार हो जाएगा.

News18Hindi
Updated: July 1, 2019, 10:29 PM IST
दिल्ली के पास बन रहा देश का सबसे बड़ा हवाई अड्डा, विश्व के टॉप 5 में होगा शुमार
माना जा रहा है कि आने वाले पांच वर्षों में इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा (आईजीआई) की यात्री क्षमता पूरी हो जाएगी और तब तक जेवर हवाई अड्डा बनकर तैयार हो जाएगा.
News18Hindi
Updated: July 1, 2019, 10:29 PM IST
उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा के जेवर में प्रस्तावित इंटरनेशनल एयरपोर्ट का रास्ता साफ हो चुका है. एक प्रस्ताव के अनुसार, वर्ष 2022-23 में तैयार होने के बाद जेवर का यह एयरपोर्ट दुनिया का 5वां सबसे बड़ा एयरपोर्ट बन जाएगा. अनुमान के मुताबिक, इस इंटरनेशनल एयरपोर्ट की सालाना क्षमता 3-5 करोड़ यात्रियों की होगी.

बता दें, इस एयरपोर्ट को तीन हजार हेक्टेयर में बनाया जा रहा है. जेवर हवाई अड्डे को अगले 50 साल की जरूरतों को ध्यान में रखकर बनाया जा रहा है. माना जा रहा है कि आने वाले पांच वर्षों में इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा (आईजीआई) की यात्री क्षमता पूरी हो जाएगी और तब तक जेवर हवाई अड्डा बनकर तैयार हो जाएगा.

अधिग्रहण के खिलाफ दाखिल की गई याचिका हो चुकी है खारिज
अप्रैल 2019 में हाईकोर्ट की डिवीजन बेंच ने अधिग्रहण के खिलाफ दाखिल की गई किसानों की अर्जी को खारिज करते हुए एयरपोर्ट के निर्माण का रास्ता साफ कर दिया था. कोर्ट ने माना था कि एयरपोर्ट का निर्माण जनता की जरूरत है और इसके लिए अर्जेंसी की धारा के तहत जमीन का अधिग्रहण कतई गलत नहीं है. जस्टिस पंकज जायसवाल और जस्टिस वाईके श्रीवास्तव की डिवीजन बेंच ने अपने फैसले में अधिग्रहण को सही माना और कहा कि एयरपोर्ट जनता की जरुरत के लिया बनाया जा रहा है.

बता दें, 2017 में जेवर एयरपोर्ट पर काम होना शुरू हो गया था.

आईजीआई सबसे बड़ा टर्मिनल
इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा (आईजीआई) में तीन रन-वे और तीन टर्मिनल हैं. जेवर एयरपोर्ट पर पांच से ज्यादा रन-वे की जरूरत होगी. हालांकि पहले चरण में दो टर्मिनल ही बनाए जाएंगे. जेवर में बनने जा रहा इंटरनेशनल एयरपोर्ट 3000 हेक्टेयर जमीन पर बनेगा. पहले चरण में 1327 हेक्टेयर जमीन पर निर्माण होगा. दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा 5,106 एकड़ जमीन पर बना हुआ है. वर्ष 2022-23 में तैयार हो जाने के बाद जेवर विश्व का पांचवां सबसे बड़ा हवाई अड्डा बन जाएगा.
Loading...

भारत का सबसे बड़ा हवाई अड्डा
इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा देश का सबसे बड़ा हवाई अड्डा है. दूसरे स्थान पर मुंबई का छत्रपति शिवाजी अंतराष्ट्रीय हवाई अड्डा और तीसरे स्थान पर बेंगलुरु का अंतराराष्ट्रीय हवाई अड्डा है. व्यस्तता के मामले में भी आईजीआई एशिया में 10वें जबकि विश्व में 21वें स्थान पर है. एशिया में पहले स्थान पर चीन का बीजिंग कैपिटल हवाई अड्डा जबकि, विश्व में पहले स्थान पर जार्जिया का अटलांटा हवाई अड्डा है.

ये भी पढ़ें--

नोएडा: दो फैक्ट्रियों में लगी भीषण आग, करोड़ों का नुकसान!

रवि किशन ने लोकसभा में गाया भोजपुरी गीत तो ओम बिरला ने बीच में टोका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ग्रेटर नोएडा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 1, 2019, 10:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...