Noida News: अब घर बैठे मंगवाएं मथुरा की झींगा मछली, जानिए कैसे

यूपी सरकार की मदद से मथुरा के मछली कारोबारी नोएडा-ग्रेटर नोएडा में होम डिलेवरी कर रहे हैं.

यूपी सरकार की मदद से मथुरा के मछली कारोबारी नोएडा-ग्रेटर नोएडा में होम डिलेवरी कर रहे हैं.

सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने एक योजना के तहत मछली कारोबारियों को 520 बाइक दी हैं. पट्टे पर जमीन देकर तालाब (Pond) भी तैयार किए जा रहे हैं.

  • Share this:

नोएडा. अगर आप मछली (Fish) खाने के शौकीन हैं. उसमें भी यदि आपको झींगा मछली बेहद पसंद है और अगर आप नोएडा-ग्रेटर नोएडा में रहते हैं तो आपके लिए अच्‍छी खबर है. अब आपको घर बैठे झींगा मछली खाने को मिल सकती है. दरअसल, मथुरा के मछली कारोबारी बाइक पर मछली लेकर आपकी कॉलोनी और अपार्टमेंट के बाहर ही घूम रहे हैं. उनका मोबाइल (Mobile Phone) नंबर लेकर आप कभी भी उनसे झींगा मछली मंगा सकते हैं. मथुरा ही नहीं यूपी के दूसरे शहरों में भी कारोबारी बाइक पर मछली बेच रहे हैं. सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने एक योजना के तहत मछली कारोबारियों को 520 बाइक दी हैं. पट्टे पर जमीन देकर तालाब भी तैयार किए जा रहे हैं. अब इसी योजना के तहत सरकार की ओर से साइकिल देने का प्लान है.

गौरतलब रहे कि बड़ी संख्या में मछली कारोबारी मथुरा से झींगा मछली लेकर नोएडा और ग्रेटर नोएडा आते हैं. मछली बेचने के साथ ही अपार्टमेंट और सोसाइटियों के गेट पर अपने मोबाइल नंबर छोड़कर जाते हैं. अगर कोई बाद में उनके मोबाइल फोन पर मछली की डिमांड करता है तो ये लोग होम डिलेवरी करते हैं. यह सभी व्‍यापारी उत्‍तर प्रदेश सरकार की योजना के तहत मथुरा में झींगा मछली का पालन कर रहे हैं.

मथुरा में 22 हेक्टेयर में बना है मछलियों का तालाब

मछली पालन को बढ़ाने देने और ख़ासकर अंतरदेशीय मछली पालन (इनलैंड फिशरीज) के उत्पादन को बढ़ाने के लिए यूपी सरकार ग्राम पंचायतों के अधिकार वाले तलाबों को 10 साल के लिए पट्टे पर दे रही है. पट्टे पर दिए जाने वाले इन सभी तालाबों का रकबा करीब 3000 हेक्टेयर का होगा. राज्य में ग्राम सभा के लगभग 2 लाख ढाई हजार तालाब हैं.
Corona से लड़ाई में AMU के पूर्व छात्रों ने दिया करोड़ों रुपये का चंदा, पीएम केयर्स फंड से भी मिलेगा पैसा

इनमें से अभी तक 79,433 तालाब मछली पालन के लिए पट्टे पर दिए जा चुके हैं. इनके अलावा निजी क्षेत्र तथा अन्य विभागों के भी तालाब हैं. मौजूदा वक्त में सभी तरह के पट्टे के तालाब मिलाकर कुल 91,242 तालाबों में मछली पालन किया जा रहा है.




इसके साथ ही मथुरा में सैलाइन क्षेत्र में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर 22 हेक्टेयर का तालाब बनाकर झींगा मछली का पालन किया जा रहा है. यह प्रयोग कामयाब रहा है. इसी के चलते अब 55 हेक्टेयर में झींगा मछली पालन किया जाएगा. इसके बाद राज्य के अन्य सैलाइन क्षेत्रों में भी झींगा मछली का पालन किया जाएगा. देश और विदेश में झींगा मछली की बहुत मांग है और निजी क्षेत्र की कंपनियां भी इसके उत्पादन के लिए यहां आ सकती हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज