Home /News /uttar-pradesh /

जगमग होंगी ग्रेटर नोएडा की सड़कें, खर्च होंगे 14 करोड़ रुपये, अथॉरिटी ने जारी किया टेंडर

जगमग होंगी ग्रेटर नोएडा की सड़कें, खर्च होंगे 14 करोड़ रुपये, अथॉरिटी ने जारी किया टेंडर

ग्रेटर नोएडा में रहनेवाले लोगों की हर सुविधा का ध्यान रखेगा अथॉरिटी.

ग्रेटर नोएडा में रहनेवाले लोगों की हर सुविधा का ध्यान रखेगा अथॉरिटी.

Development in Greno : ग्रेनो वेस्ट (Greno West) में नए एसटीपी और प्राधिकरण का दफ्तर बनाने की प्रक्रिया पहले ही शुरू कर दी गई है. अब एलईडी स्ट्रीट लाइट पर भी जल्द काम शुरू होने जा रहा है. प्राधिकरण ग्रेटर नोएडा वेस्ट में अलग-अलग रास्तों पर 2306 एलई़डी स्ट्रीट लाइट लगवाने जा रहा है. करीब 2200 नए पोल भी लगेंगे. इन रास्तों पर स्ट्रीट लाइट लगवाने की मांग ग्रेटर नोएडा वेस्ट के लोग कर रहे थे. स्ट्रीट लाइट लगाने के लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के महाप्रबंधक (परियोजना) की तरफ से टेंडर जारी कर दिया गया है.

अधिक पढ़ें ...

नोएडा. ग्रेटर नोएडा वेस्ट के निवासियों को दफ्तर के बाद एक और तोहफा देने की तैयारी प्राधिकरण ने शुरू कर दी है. प्राधिकरण ग्रेनो वेस्ट में 2300 और एलईडी स्ट्रीट लाइट लगवाने जा रहा है, जिस पर तकरीबन 14 करोड़ रुपये खर्च होंगे. इसके लिए टेंडर जारी हो गए हैं. ग्रेटर नोएडा वेस्ट में करीब 200 बिल्डर सोसाइटियां, सेक्टर व गांव बसे हुए हैं. यहां की आबादी बहुत तेजी से बढ़ रही है. तमाम नए रास्ते भी बन रहे हैं. प्राधिकरण यहां रहनेवालों की जरूरत की सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने की दिशा में तेजी से बढ़ रहा है.

प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण के निर्देश पर ग्रेनो वेस्ट में नए एसटीपी और प्राधिकरण का दफ्तर बनाने की प्रक्रिया पहले ही शुरू कर दी गई है. अब एलईडी स्ट्रीट लाइट पर भी जल्द काम शुरू होने जा रहा है. प्राधिकरण ग्रेटर नोएडा वेस्ट में अलग-अलग रास्तों पर 2306 एलई़डी स्ट्रीट लाइट लगवाने जा रहा है. करीब 2200 नए पोल भी लगेंगे. इन रास्तों पर स्ट्रीट लाइट लगवाने की मांग ग्रेटर नोएडा वेस्ट के लोग कर रहे थे. स्ट्रीट लाइट लगाने के लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के महाप्रबंधक (परियोजना) की तरफ से टेंडर जारी कर दिया गया है.

रिमोट मॉनिटरिंग सिस्टम से संचालित होंगी स्ट्रीट लाइटें

शुक्रवार से आवेदन शुरू हो गया है. 9 दिसंबर तक आवेदन की अंतिम तिथि है. 13 दिसंबर को प्री क्वॉलिफिकेशन बिड खुलेगी. उसके बाद फाइनेंशियल बिड होगी. इसमें चयनित कंपनी एलईडी स्ट्रीट लाइट लगाएगी. वही कंपनी 7 साल तक इसका संचालन व रखरखाव भी करेगी. अगर कोई लाइट खराब होती है, तो कंपनी ही उसे बदलेगी. ये सभी एलईडी स्ट्रीट लाइटें होंगी. ये स्ट्रीट लाइटें रिमोट मॉनिटरिंग सिस्टम से संचालित होंगी. बता दें कि ग्रेटर नोएडा वेस्ट में करीब 15 हजार स्ट्रीट लाइटें लगी हैं, जिनमें से अधिकतर एलईडी स्ट्रीट लाइटें हैं. महाप्रबंधक (परियोजना) एके अरोड़ा ने बताया कि टेंडर के जरिए चयनित कंपनी से एलईडी लाइट लगाने का काम शीघ्र शुरू करा दिया जाएगा. सभी स्ट्रीट लाइट बदलने व नए पोल लगने में करीब 6 महीने लग जाएंगे.

54 हजार स्ट्रीट लाइटें कन्वर्ट होंगी स्मार्ट एलईडी में

ग्रेटर नोएडा में अभी तकरीबन 54 हजार स्ट्रीट लाइटें लगी हुई हैं. इन सभी को एलईडी लाइट में कनवर्ट किया जाएगा. इसके लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने सूर्या रोशनी लिमिटेड को करीब 48 करोड़ रुपये में बीते 8 सितंबर को जिम्मा दे दिया है. एक साल में सभी स्ट्रीट लाइटें बदलने का लक्ष्य है. एलईडी लाइटों के लग जाने से सड़कों पर रोशनी तो बेहतर होगी. एलईडी स्ट्रीट लाइटें ऑटोमेशन सिस्टम पर काम करेंगी. स्ट्रीट लाइटों को सुबह-शाम समय से जलाने-बुझाने के लिए एक नियंत्रण कक्ष होगा. ये ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के जीआईएस से भी जुड़ी होंगी, जिससे प्राधिकरण के सीनियर अफसर भी इस पर नजर रखेंगे.

Tags: Development Plan, Greater Noida Industrial Development Authority, Greater noida news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर