Noida News: हापुड़ से लापता छात्रा की लाश एंबुलेंस में छोड़कर भागे युवक, आरोपियों की हुई पहचान

हापुड़ से लापता छात्रा की लाश एंबुलेंस में छोड़कर भागे युवक

हापुड़ से लापता छात्रा की लाश एंबुलेंस में छोड़कर भागे युवक

पुलिस (Police) को आरोपियो के मिले सीसीटीवी (CCTV) फुटेज में से एक शख्स की पहचान फिरोज के रूप में परिवार वालों ने की है.

  • Share this:
नोएडा. यूपी के नोएडा (Noida) के एक प्राइवेट अस्पताल में एक लड़की (14) वर्ष की लाश मिलने से सनसनी मच गई. हापुड़ के थाना सिंभावली क्षेत्र के एक गांव से 22 मार्च को कॉलेज जाते समय लापता हुई किशोरी का शव नोएडा के सेक्टर-33 स्थित एक निजी अस्पताल के बाहर एंबुलेंस में मिला. जिसके बाद नोएडा की सेक्टर- 24 थाने की पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसका पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. लड़की को अस्पताल लेकर आने वाले लोगों की सीसीटीवी फुटेज नोएडा पुलिस ने हापुड़ पुलिस को सौंप दिया है. पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुटी है.

दरअसल, सिंभावली की रहने वाली छात्रा 22 मार्च को घर से स्कूल के लिए निकली थी, लेकिन घर नहीं लौटी. इसके बाद परिजन उसकी तलाश करते रहे. 9 दिन बाद 31 मार्च को परिजनों के घर अनजान फोन आया, जिसमें उनकी बेटी के नोएडा के सुरभि अस्पताल में होने की बात कही गई. लड़की की तलाश में परिजन जब अस्पताल पहुंचे तो तो वहां उनको छात्रा की लाश मिली. बताया जा रहा है कि नोएडा के सेक्टर 35 स्थित सुरभि अस्पताल के बाहर मोटरसाइकल सवार फोटो में दिखाई दे रहे ये दो लोग 14 साल की नबालिक लड़की को इलाज के लिए आए थे. लेकिन डॉक्टर ने लड़की को मृत्य घोषित कर दिया. तब उन्होने शव को ले जाने के लिए एंबुलेंस की मांग की. एंबुलेंस चालक ने बताया कि आरोपी एंबुलेंस में शव रखकर एटीएम से पैसे निकालने का बहाना बनाकर वहां से जाने लगे.

Gorakhpur News: पूर्व प्रधान व भाजपा नेता की गोली मारकर हत्या, पंचायत चुनाव के लिए आज दाखिल करना था पर्चा

एंबुलेंस चालक ने उनसे उनका मोबाइल नंबर मांगा तो आरोपियों ने मृतका के परिजनों का नंबर दे दिया और पैसे लेकर आने तक उससे वहीं रुकने को कहा. जब आरोपी काफी देर तक नहीं लौटे तो एंबुलेंस चालक को शक हुआ और उसने उक्त नंबर पर फोन किया. फोन मृतका के परिजनों के पास पहुंचा तब उन्हें घटना का पता चला. मामले की जानकारी होने पर एंबुलेंस चालक ने पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसका पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.
आरोपियों की हुई पहचान

पुलिस को आरोपियो के मिले सीसीटीवी फुटेज में से एक शख्स की पहचान फिरोज के रूप में परिवार वालों ने की है. लड़की के परिजनों के अनुसार फिरोज 22 मार्च को उनके घर पहुंचा और बेटी के लापता होने पर दुख व्यक्त किया. वहीं, लोकलाज का भय दिखाकर पुलिस में सूचना नहीं देने की बात भी कही. परिजनों के मुताबिक आरोपी उनके साथ लगातार बेटी को तलाश करने का नाटक करता रहा. (रिपोर्ट- अमित सिंह)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज