• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • राष्ट्रीय स्तर का यह खिलाड़ी अब मजदूरी कर पाल रहा है परिवार का पेट

राष्ट्रीय स्तर का यह खिलाड़ी अब मजदूरी कर पाल रहा है परिवार का पेट

राष्ट्रीय स्तर का यह खिलाड़ी अब मजदूरी कर अपना और परिवार का पेट पाल रहा है

राष्ट्रीय स्तर का यह खिलाड़ी अब मजदूरी कर अपना और परिवार का पेट पाल रहा है

विवेक मिश्रा के अनुसार, "मैं मिर्जापुर में संविदा पर नेटबॉल कोच के रूप में काम करता था, लेकिन कोरोना काल में मेरी नौकरी चली गई. मेरे ऊपर ही मेरी बहन की पढ़ाई और घर की जिम्मेदारियों का दायित्व है, जिसे चलाने के लिए अब मुझे मजबूरन मजदूरी करना पड़ रहा है.

  • Share this:
    नोएडा:  जापान के टोकियो में शुरू हुए ओलंपिक 2021 खेल में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए पूरा देश प्रार्थना कर रहा है. ओलंपिक में देश को पहला मेडल मीराबाई चानू ने दिलवा भी दिया है, जिससे देश की आशाएं और मेडल लाने के लिए बढ़ी हैं. लेकिन देश में एक खिलाड़ी ऐसा भी है जो मजदूरी कर अपना और अपने परिवार का पेट पाल रहा है. नेटबॉल के राष्ट्रीय खिलाड़ी विवेक मिश्रा सोशल मीडिया पर लोगों से मदद की गुहार लगा रहे हैं लेकिन उनकी सुध लेने वाला कोई नहीं है.

    कई राज्यों में उत्तर प्रदेश की तरफ से दिखा चुके है अपनी प्रतिभा
    यूपी के मिर्जापुर जनपद के रहने वाले विवेक देश के कई राज्यों में खेल चुके हैं. विवेक बताते है कि मैं खेल के प्रति काफी समर्पित था, जब मैंने यह रास्ता चुना था तो घर परिवार के अलावा दूसरे लोगों ने कहा कि कुछ और पढ़ाई करलो लेकिन मेरा मन नही लगा. मैं वर्ष 2015-2016 में नोएडा में नेटबॉल फेडरेशन ऑफ इंडिया के द्वारा आयोजित राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा में खेला भी था, उसके बाद जब मेरी नौकरी मिर्जापुर  स्थित स्टेडियम में लग गई तो मैं मिर्जापुर में ही रहने लगा लेकिन कोरोना काल में मेरी नौकरी भी छूट गई.

    संविदा पर करते थे नौकरी, कोरोना काल ने सबकुछ निगल लिया
    विवेक मिश्रा के अनुसार, "मैं मिर्जापुर में संविदा पर नेटबॉल कोच के रूप में काम करता था, लेकिन कोरोना काल में मेरी नौकरी चली गई. मेरे ऊपर ही मेरी बहन की पढ़ाई और घर की जिम्मेदारियों का दायित्व है, जिसे चलाने के लिए अब मुझे मजबूरन मजदूरी करना पड़ रहा है. मजदूरी भी रोज नहीं मिल पाती है, जिस कारण घर चलाना मुश्किल हो रहा है. विवेक बताते है कि मैने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक को चिट्ठी लिखी है ताकि वहां से कुछ मदद मिल जाए लेकिन वहां से भी कोई मदद नहीं मिली है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज