अपना शहर चुनें

States

नोएडा: थोक विक्रेताओं से करोड़ों रुपए ठगने के मामले में 2 शातिर गिरफ्तार

उन्होंने बताया कि कंपनी ने 40 फीसदी रकम दी और शेष 60 फीसदी रकम चेक के माध्यम से दी गयी.(प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)
उन्होंने बताया कि कंपनी ने 40 फीसदी रकम दी और शेष 60 फीसदी रकम चेक के माध्यम से दी गयी.(प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

गिरफ्तार आरोपियों में एक आरोपी रिंगिंग बेल कंपनी (Ringing Bell Company) चलाने के मामले में इससे पहले भी जेल जा चुका है.

  • Share this:



नोएडा. नोएडा पुलिस (oida police) ने थोक विक्रेताओं से मेवे एवं मसाले खरीदकर उनसे करोड़ों रुपए ठगने के मामले में दो लोगों को सोमवार को गिरफ्तार (arrested) किया. गिरफ्तार आरोपियों में एक आरोपी रिंगिंग बेल कंपनी (Ringing Bell Company) चलाने के मामले में इससे पहले भी जेल जा चुका है. अपर पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) लव कुमार ने बताया कि मेवे एवं मसाले की थोक बिक्री करने वाले रोहित मोहन ने 24 दिसंबर को थाना सेक्टर 58 में शिकायत दर्ज कराई थी कि सेक्टर 62 में कुछ लोगों ने ‘ड्राई फूड्स हब’ के नाम से एक कंपनी खोलकर 40 फ़ीसदी रकम देकर उससे लाखों रुपए कीमत के मेवे और मसाले खरीदे.

उन्होंने बताया कि कंपनी ने 40 फीसदी रकम दी और शेष 60 फीसदी रकम चेक के माध्यम से दी गयी. कुमार ने बताया कि पीड़ित का आरोप है कि कंपनी का चेक बाउंस हो गया और जब वह इस बारे में पूछताछ करने कंपनी के कार्यालय पहुंचा, तो वहां कोई नहीं मिला. उन्होंने बताया कि दर्जन भर और लोगों ने मेवे और मसाले खरीदने के नाम पर उक्त कंपनी द्वारा ठगी किए जाने की पुलिस से शिकायत की है.
जेल से छूटने के बाद उसने फिर से एक कंपनी खोल ली


कुमार ने बताया कि पुलिस ने मेवे खरीदने के नाम पर करोड़ों रुपए की ठगी करने के मामले में सोमवार को एक सूचना के आधार पर मोहित गोयल तथा ओमप्रकाश जांगिड़ नामक दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया. उन्होंने बताया कि पुलिस ने उनके पास से फर्जी दस्तावेज, दो लग्जरी कारें एवं कई अन्य चीजें बरामद की हैं. कुमार ने बताया कि पूछताछ के दौरान आरोपियों ने अब तक 40 लोगों से मेवे एवं मसाले खरीदने के नाम पर ठगी करने की बात स्वीकार की है. उन्होंने बताया कि गोयल इससे पूर्व सेक्टर 63 में रिंगिंग बेल नामक कंपनी चलाता था. उसने पूरे देश में 251 रुपये में स्मार्टफोन देने की योजना शुरू कर करोड़ों रुपये की ठगी की थी. बाद में उसके खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज हुआ था और वह जेल गया था. जेल से छूटने के बाद उसने फिर से एक कंपनी खोल ली.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज