कृषि संशोधन विधेयकों के खिलाफ किसानों ने किया नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे जाम

किसान संगठनों की अगुवाई में सड़क पर निकले किसान.
किसान संगठनों की अगुवाई में सड़क पर निकले किसान.

किसानों ने दिल्ली (Delhi) का रुख किया लेकिन नोएडा एंट्री पॉइंट पर भारी संख्या में तैनात पुलिस फोर्स ने उन्हें नोएडा-दिल्ली बॉर्डर पर रोक लिया. इसके बाद किसान वहीं पर नारेबाजी करते हुए धरने पर बैठ गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 25, 2020, 5:35 PM IST
  • Share this:
ग्रेटर नोएडा. शुक्रवार को सैकड़ों की संख्या में किसानों (Farmers) ने ट्रैक्टर और बाइक पर सवार होकर नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे (Noida-Greater Noida Expressway) और यमुना एक्सप्रेस-वे को जाम कर दिया. इसके बाद इन किसानों ने दिल्ली (Delhi) का रुख किया लेकिन नोएडा एंट्री पॉइंट पर भारी संख्या में तैनात पुलिस फोर्स ने उन्हें नोएडा-दिल्ली बॉर्डर पर रोक लिया. किसानों को रोकने के लिए दिल्ली पुलिस (delhi Police) ने सेक्टर-14 नोएडा बॉर्डर पर बैरिकेड (Barricade) लगा दिया था. इसके बाद किसान वहीं पर नारेबाजी करते हुए धरने पर बैठ गए. कृषि संशोधन विधेयकों (agricultural amendment bills) के खिलाफ चक्का जाम करने का यह आह्वान भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) समेत अन्य किसान संगठनों ने किया था.

'किसी वाहन को गुजरने नहीं दिया जाएगा'
केंद्र सरकार द्वारा पास किए गए कृषि संशोधन विधेयक के खिलाफ ट्रैक्टर पर सवार होकर किसान प्रदर्शन और चक्का जाम करने के लिए निकले हैं. इस विरोध प्रदर्शन में भाकियू समेत अन्य किसान संगठन शामिल हैं. इसके साथ ही कई राजनीतिक दलों ने भी भाकियू की अगुआई में हो रहे चक्का जाम को समर्थन दिया है. भाकियू की तरफ से स्पष्ट कर दिया गया है कि किसानों के समर्थन में मजबूत तरीके से आंदोलन करेंगे. जिले से गुजरने वाले किसी भी नेशनल व राज्य हाइवे से वाहनों को नहीं गुजरने दिया जाएगा.

किसानों के हक की लड़ाई
भाकियू के एनसीआर अध्यक्ष सुभाष चौधरी ने कहा कि आंदोलन किसी आम आदमी को परेशान करने के लिए नहीं है. बल्कि लाचार किसानों के हक की लड़ाई है, जो शहरों में रहने वाले लोगों को भर पेट अनाज उपलब्ध कराने के लिए हर मौसम में दिन-रात मेहनत करता है. इसलिए किसानों के साथ श्रमिक व अन्य लोगों से अपील है कि आंदोलन को समर्थन दें. किसान यूनियन ने नोएडा-ग्रेटर नोएडा हाइवे को जाम कर दिया है जिसके कारण मौके पर भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात हो गई है. पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं लेकिन किसान किसी की सुनने को तैयार नहीं है. किसान संगठन के बैनर तले नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस वे पर किसान सड़क पर अपने ट्रैक्टर वाहन को लेकर बैठ गए.



चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात
किसानों के इस प्रदर्शन को लेकर प्रशासन पहले से ही अलर्ट है. उसका मानना है कि किसानों के सड़क पर उतरने की वजह से यातायात बाधित होने के साथ ही टकराव की स्थिति पैदा होगी. इसे देखते हुए प्रशासन ने अलर्ट जारी कर सेक्टर मजिस्ट्रेट की ड्यूटी लगाई है और पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को सड़कों पर रहने का निर्देश दिया है. इसी के मद्देनजर नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद और पूरे एनसीआर में चप्पे-चप्पे पर पुलिस फोर्स तैनात है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज