Assembly Banner 2021

Noida: मोर्चरी का हाल बेहाल, लाशों में पड़ रहे कीड़े, डीप फ्रीजर है लेकिन लगाया नहीं

नोएडा शवगृह की हालत बेहद खराब है.

नोएडा शवगृह की हालत बेहद खराब है.

नोएडा मोर्चरी (Noida Mortuary) की हालत बेहद खराब है. डीप फ्रीजर के अभाव में लाशें (Dead bodies) सड़ जाती हैं. जबकि नये डीप फ्रीजर को दो महीने से लगाया नहीं गया है. पुराना सालों से खराब पड़ा है.

  • News18India
  • Last Updated: September 4, 2020, 6:30 PM IST
  • Share this:
नोएडा. उत्तर प्रदेश के नोएडा (Noida) में मोर्चरी (Mortuary) की हालत 'नर्क' से भी बदतर है. यहां की तस्वीरें आपको विचलित कर सकती हैं. लाशें (Dead bodies) खस्ताहाल में बाहर पड़ी रहती हैं. चिलचिलाती गर्मी में बिना डीप फ्रीजर के लाशों की क्या हालात होती होगी, इसे समझा जा सकता है. कर्मचारियों की मानें तो लाशों में कीड़े तक पड़ जाते हैं. जबकि स्वास्थ्य विभाग इस कदर लापरवाह है कि नया डीप फ्रीजर दो महीने से बाहर रखा हुआ है लेकिन उसको लगवाने की पहल नहीं की जा रही है.

सीएमओ की ये है दलील 

गौतमबुद्ध नगर की मोर्चरी की ऐसी हालत पर जब सीएमओ डॉ दीपक ओहरी से डीप फ्रीजर लगाने के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि सिर्फ 12 दिन पहले ये आया है, जबकि मोर्चरी में एम्बुलेंसकर्मी ने बताया कि 2 महीने से ज़्यादा से यहां पड़ा हुआ है. लेकिन अधिकारी सुनने को तैयार नहीं हैं.



सीएमओ से पूछा गया कि शवगृह में एसी सिर्फ नाम के लिए लगे हैं. सभी खराब हैं. इस पर उन्होंने कहा कि तीन काम कर रहे हैं. जबकि तस्वीरों में साफ देख जा सकते हैं कि एसी की जगह सिर्फ डब्बे लगे हुए हैं. डॉक्टर ओहरी से पूछा कि बिना डीप फ्रीजर के यहां लाशें कहां रखी जाती हैं तो उनका कहना है कि कहीं किराए पर रखी जाती है उनको नहीं पता है. सीएमओ अपनी गलती मानने और मोर्चरी की हालत सुधारने की वजाय अपनी गलती ढकते नज़र आये.
सालों से खराब है डीप फ्रीजर

आपको बता दें पोस्टमार्टम हाउस में पहले डीप फ्रीजर लगाया गया था, जो एक जमाना पहले खराब हो गया था. आज तक उसे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने सही नहीं कराया. जिसके चलते बॉडी को नार्मल कमरों में ही रखा जाता है. पुराने डीप फ्रीजर की क्षमता 6 बॉडी रखने की है. पर उसे आज तक नहीं ठीक कराया गया. अधिकारियों की लापरवाही के चलते वह कबाड़ की स्थिति में चला गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज