• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • GREATER NOIDA NOIDA NEWS ACTION UNDER RASUKA AGAINST THE ACCUSED WHO SOLD FAKE REMDESIVIR NODBK

Noida News: नोएडा में नकली रेमडेसिविर बेचने वाले आरोपी के खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई

उन्होंने बताया कि रचित घई द्वारा किए गए गंभीर अपराध को ध्यान में रखते हुए पुलिस ने उसके खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई की है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

इसके पास से 105 रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) बरामद हुए थे. इंजेक्शन को आरोपी तय कीमत से ज्यादा दाम लेकर कोविड-19 मरीजों को बेच रहा था.

  • Share this:
    नोएडा. गौतम बुद्ध नगर जनपद (Gautam Buddha Nagar District) में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचने के आरोपी के खिलाफ थाना सेक्टर-20 की पुलिस (Thana Sector-20 Police) ने राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत कार्रवाई की है. पुलिस आयुक्त आलोक सिंह के मीडिया प्रभारी ने बताया कि थाना सेक्टर-20 पुलिस ने 21 अप्रैल को रचित घई को गिरफ्तार किया था. इसके पास से 105 रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) बरामद हुए थे. इंजेक्शन को आरोपी तय कीमत से ज्यादा दाम लेकर कोविड-19 मरीजों को बेच रहा था. उन्होंने बताया कि बरामद इंजेक्शन की जब जांच कराई गई तो पता चला कि वे नकली हैं. उन्होंने बताया कि रचित घई द्वारा किए गए गंभीर अपराध को ध्यान में रखते हुए पुलिस ने उसके खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई की है.

    वहीं, बीते 9 मई को नोएडा की थाना सेक्टर 58 पुलिस ने आपदा में अवसर तलाशने वाले आरोपियों पर शिकंजा कसा था. पुलिस ने बड़े संख्या में नकली रेमडेसिविर का कालाबाज़ारी करने वाले 7 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया था. इनके कब्जे से 09 रेमडेसिविर और 140 नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन और अन्य कई इंजेक्शन बरामद हुये थे.

    सेक्टर 58 पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था
    नोएडा पुलिस की गिरफ्त में खड़े ये सातों अभियुक्त आपदा को कमाई का अवसर बनाने वाले थे, जिन्हें नोएडा क्राइम ब्रांच और सेक्टर 58 पुलिस ने गिरफ्तार किया था. पुलिस के अधिकारियों ने बताया कि ये लोग MEROPENEM INJECTION का जैनरिक इंजेक्शन जो निमोनिया की बीमारी में काम आता है और अन्य सस्ते इंजेक्शन खरीदकर लाते थे. उसके बाद उसका लेबल छुटाकर रेमडेसिविर इंजेक्शन का नकली लेबल चिपका देते थे. उसके बाद अस्पतालों के पास घूमने लगते थे. अस्पतालों के पास सीरियस मरीजों और उनके परिजनों से संपर्क कर के इंजेक्शन को 40 से 45 हजार में बेच देते थे. ये लोग नोएडा के सेक्टर 62 स्थति फोर्टिस अस्पताल में नकली रेमडेसिविर बेचने आये थे जिन्हें सेक्टर 58 पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था.