सांसद डॉ. महेश शर्मा की अपील, अस्पतालों की ओर न भागें, होम आइसोलेशन में ठीक होने की कोशिश करें

सांसद डॉ महेश शर्मा की अपील अनावश्यक रूप से अस्पतालों की तरफ न भागें मरीज

Noida News: डॉक्टर महेश शर्मा ने बताया कि वो और उनकी टीम हज़ारों पेशेंट को टेली कंसलटेंसी के ज़रिए उपचार बता रहे हैं और लोग ठीक भी हो रहे हैं. इसलिए अनावश्यक रूप से अस्पतालों की तरफ भाग कर पैनिक पैदा की ज़रूरत नहीं है.

  • Share this:
नोएडा. गौतमबुद्ध नगर में लगातार कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ता जा रहा है. वहीं दूसरी ओर अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन की कमी की खबरें भी लगातार आ रही हैं. इसी बीच गौतमबुद्ध नगर से सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री जो खुद भी पेशे से डॉक्टर हैं उन्होंने जनता से अपील की है और कहा है लोगों को धैर्य रखने की ज़रूरत है. बहुत संख्या में कोरोना पीड़ित डॉक्टरों की सलाह पर होम आइसोलेशन में ठीक हो रहे हैं, इसलिए बिना ज़रूरत अस्पतालों की तरफ लोग न भागें.

गौतमबुद्ध नगर के सांसद महेश शर्मा ने वीडियो संदेश में कहा है कि कोरोना संकट की इस घड़ी में हम सब साथ है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार हर संभव प्रयास कर रही है व स्वास्थ्य संबंधी जरूरतों को पूरा करने के लिए अथक प्रयास कर रही है. लेकिन कोरोना के खिलाफ लड़ाई में हमें भी संयम के साथ काम करना होगा, तभी हम इस लड़ाई को जीत पाएंगे.

अनावश्यक रूप से अस्पताल जाने की जरूरत नहीं
इसके साथ-साथ डॉक्टर महेश शर्मा ने ये भी बताया कि वो और उनकी टीम हज़ारों पेशेंट को टेली कंसलटेंस के ज़रिए उपचार बता रहे हैं और लोग ठीक भी हो रहे हैं. इसलिए अनावश्यक रूप से अस्पतालों की तरफ भाग कर पैनिक मचाने की ज़रूरत नहीं है. जिनका ऑक्सीजन सैचुरेशन 90 प्रतिशत से अधिक है, वो घर पर सभी एहतिहात बरतकर ठीक हो सकते हैं. उनको अस्पताल भागने की ज़रूरत नहीं है. ऑक्सीजन लगाने या अस्पताल में भर्ती करने का फैसला डॉक्टर की सलाह पर ही लें.

एक-दूसरे की मदद करें
महेश शर्मा ने कहा कि एक डॉक्टर एवं आपके जनप्रतिनिधि के रूप में मैं भी यथासंभव सबकी मदद करने की कोशिश कर रहा हूं. आप सब भी एक दूसरे की मदद करें. एक-दूसरे का सम्बल बनें. संकट मानवता पर है और हम सब मिलकर जीतेंगे. देश जीतेगा, कोरोना हारेगा. अपना ख्याल रखें, सुरक्षित रहें.

नोएडा में 6 हजार से ज्यादा एक्टिव केस
आपको बता दें गौतमबुद्ध नगर में 6 हज़ार से ज़्यादा एक्टिव मरीज हैं. वहीं बीते एक हफ्ते पर मौत के आकंड़ों पर नज़र डालें तो करीब-करीब 50 मौतें हुई हैं. जिले में बेड, ऑक्सीजन, रेमेडिसिविर इंजेक्शन की उपलब्धता के लिए इंटीग्रेटेड कमांड कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है. 18004192211 पर कॉल कर सम्बंधित समस्या और निदान की जानकारी ली जा सकती है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.