अपना शहर चुनें

States

नोएडा पुलिस ने कथित रंगदारी मामले में MP के 3 पुलिसकर्मी समेत 5 लोगों को किया गिरफ्तार

इस मामले की जांच में जबलपुर की साइबर सेल की टीम 15 दिसंबर को दिल्ली आई थी. (सांकेतिक तस्वीर)
इस मामले की जांच में जबलपुर की साइबर सेल की टीम 15 दिसंबर को दिल्ली आई थी. (सांकेतिक तस्वीर)

कुमार ने संवाददाताओं को बताया, “पुलिस (Police) अधिकारियों ने यादव को उसके सेक्टर-62 स्थित कार्यालय से अगले दिन (16 दिसंबर) को पकड़ा और उससे 4.70 लाख रुपये लिये.

  • Share this:
नोएडा. मध्य प्रदेश पुलिस (Madhya Pradesh Police) के दो उपनिरीक्षकों और एक कांस्टेबल समेत पांच लोगों को कथित आपराधिक साजिश और जबरन वसूली के मामले में उत्तर प्रदेश के नोएडा (Noida) से गिरफ्तार (Arrest) किया गया है. अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी. अधिकारियों ने बताया कि गिरफ्तार किये गए पुलिसकर्मी मध्य प्रदेश के जबलपुर जोन की साइबर सेल से संबद्ध हैं और उन पर जबरन वसूली और आपराधिक साजिश का आरोप है. दो अन्य गिरफ्तार व्यक्ति पोंजी स्कीम मामले में आरोपी भाई हैं.

गौतम बुद्धनगर के अपर आयुक्त (कानून व्यवस्था) लव कुमार ने रविवार शाम को एक प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि 18 दिसंबर को मध्य प्रदेश साइबर सेल के उपनिरीक्षक पंकज साहू, राशिद परवेज खान, कांस्टेबल आसिफ खान आदि ने थाना सेक्टर- 20 में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि अज्ञात लोगों ने लड़की छेड़ने का आरोप लगाकर उनके साथ मारपीट करके, उनकी पिस्टल लूट ली. उन्होंने बताया कि वहां मौजूद एक व्यक्ति ने इस घटना की वीडियो बना लिया था जिससे लूटपाट करने वाले लोगों की कार का नंबर पुलिस को मिल गया. उन्होंने बताया कि पुलिस ने कार के नंबर के आधार पर मामले की जांच की. जांच के दौरान पता चला कि कार मनोज तिवारी नामक व्यक्ति की है, जो सूर्यभान यादव नामक व्यक्ति के संपर्क में है.

उन्होंने बताया कि जब जबलपुर साइबर सेल के लोगों से पूछताछ की गई तो उपनिरीक्षक पंकज साहू ने बताया कि साइबर सेल की टीम को मध्य प्रदेश के रहने वाले चंद्रकात दुबे ने एक शिकायत दी थी, कि नोएडा के रहने वाले सूर्यभान यादव तथा शशिकांत यादव ने पोंजी स्कीम के माध्यम से उनसे लाखों रुपया ठग लिये. उन्होंने बताया कि इस मामले की जांच में जबलपुर की साइबर सेल की टीम 15 दिसंबर को दिल्ली आई थी.



आठ मोबाइल फोन जब्त किए गए
कुमार ने संवाददाताओं को बताया, “पुलिस अधिकारियों ने यादव को उसके सेक्टर-62 स्थित कार्यालय से अगले दिन (16 दिसंबर) को पकड़ा और उससे 4.70 लाख रुपये लिये. उन्होंने सेक्टर-18 स्थित एक बैंक में उसके खाते पर लेन-देन की रोक को भी कुछ रकम के बदले हटवाने की पेशकश की. इस खाते में 58 लाख रुपये थे और मप्र पुलिस ने इस खाते से लेन-देन पर रोक लगा रखी थी.” उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किये गए लोगों की पहचान राशिद परवेज खान, पंकज साहू, आसिफ खान, सूर्यभान यादव और शशिकांत यादव के तौर पर की गई है. सूर्यभान और शशिकांत उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ के रहने वाले हैं और पोंजी स्कीम में आरोपी हैं. इनके पास से एक एप्पल मैक्बुक और आठ मोबाइल फोन जब्त किये गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज