नोएडाः नहीं थम रहा रिटायर्ड कर्नल और एडीएम विवाद, पूर्व सैनिकों की बुलाई मीटिंग

मामले में पुलिस की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है. जेल से रिहाई के बाद कर्नल वीएस चौहान के कुक हरीश लाल ने बताया कि दलित होने के बावजूद उस पर एससी-एसटी एक्ट का मुकदमा दर्ज किया

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 27, 2018, 11:45 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 27, 2018, 11:45 PM IST
नोएडा में काफी समय से चला आ रहा रिटायर्ड कर्नल और एडीएम के बीच विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा हैं जबकि अब मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी जा चुकी है. सोमवार को कर्नल के परिजन कुक हरीशलाल को लेकर सेक्टर 20 कोतवाली पहुंचे हैं, जिसे कर्नल के साथ पुलिस ने जेल भेज दिया था.

यह भी पढ़ें-रिटायर्ड कर्नल से मारपीट: योगी सरकार ने मुजफ्फरनगर के ADM को किया सस्पेंड

रिपोर्ट के मुताबिक मामले में पुलिस की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है. जेल से रिहाई के बाद कर्नल वीएस चौहान के कुक हरीश लाल ने बताया कि दलित होने के बावजूद उस पर एससी-एसटी एक्ट का मुकदमा दर्ज किया.

बताया जाता है पीड़ित कर्नल आज पूर्व सैनिकों के साथ एक बैठक करने जा रहे हैं, जिसमें आगे की रणनीति पर चर्चा की जाएगी. फिलहाल उनका कहना है कि जब तक एडीएम और उसकी पत्नी को जेल नहीं भेजा जाएगा, वो चैन से नही बैठेंगे.

यह भी पढ़ें-रिटायर्ड कर्नल से मारपीट: आरोपी एडीएम अभी भी फरार, गनर और नौकर गिरफ्तार

गौरतलब है सेक्टर-29 में रहने वाले एडीएम की पत्नी ने 14 अगस्त को रिटायर्ड कर्नल पर छेड़छाड़ और जाति सूचक शब्दों के इस्तेमाल का आरोप लगाते हुए थाना सेक्टर-20 में रिपोर्ट दर्ज कराई थी, जिसके बाद कर्नल वीएस चौहान को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया.

मामले ने तूल तब पकड़ा तो पुलिस ने उनकी ओर से एडीएम के खिलाफ केस दर्ज कर लिया. हालांकि अब कर्नल और उनके तीन सहयोगियों की जमानत हो चुकी है जबकि सीएम योगी ने एडीएम को निलंबित कर दिया है.

(रिपोर्ट-कुणाल जायसवाल, नोएडा)

पैसों की ज़रूरत है तो प्रॉपर्टी से ऐसे उठाएं फायदा!

अपने खाली फ्लैट से करें ये बिजनेस, कमाएं 70 हजार रुपए महीना
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर