अपना शहर चुनें

States

नोएडा: नौकरी के नाम पर ठगी करने वाले तीन शातिर गिरफ्तार, मुख्य आरोपी लड़ चुका है लोकसभा चुनाव

पुलिस के हत्थे चढ़े तीन शातिर ठग
पुलिस के हत्थे चढ़े तीन शातिर ठग

Noida News: पुलिस ने बताया कि मुख्य आरोपी डॉ बृजेश कुमार वर्मा जो 2019 में आरपीआई (RPI) के टिकट पर मछलीशहर जौनपुर उत्तर प्रदेश से लोकसभा का चुनाव भी लड़ चुका है.

  • Share this:
नोएडा. नोएडा (Noida) थाना सेक्टर 24 पुलिस (Police) को बड़ी सफलता हाथ लगी है. पुलिस ने 3 शातिर ठगों (Thugs) को गिरफ्तार (Arrest) किया है जो नौकरी के दिलाने के नाम पर भोले भालेलोगों से लाखों की ठगी करते थे. पुलिस को इनके पास से 41,500 रुपये कैश, दस्तावेज, मोबाइल फ़ोन, डेस्कटॉप कंप्यूटर बरामद किया है. तीनों अभियुक्त बड़े ही शातिर किस्म के ठग हैं, जो भोले भाले लोगों से नौकरी दिलाने के नाम ठगी करते थे. नोएडा थाना सेक्टर 24 पुलिस ने मोरना बस स्टैंड से गिरफ्तार किया है.

पुलिस ने बताया कि मुख्य आरोपी डॉ बृजेश कुमार वर्मा जो 2019 में आरपीआई (रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया) के टिकट पर मछलीशहर जौनपुर उत्तरप्रदेश से लोकसभा का चुनाव भी लड़ चुका है. आरोपी बृजेश ने 2007 में एक एनजीओ शिल्पी स्वयं सेवा संस्थान रजिस्टर करवाया था. जिसमे वो बेरोजगार लोगों को एक सप्ताह का बिना कोर्स कराए सर्टिफिकेट देता था. फिर उन लोगों से पैसे लेके उनको जाली नियुक्ति पत्र देकर जनपद के अलग-अलग माध्यमिक विद्यालयों में प्रशिक्षण करने के लिए भेज देता था और एक महीना पूरा होने पर उन्हीं के पैसे से कुछ तनख्वाह दे देता था.

देते थे फर्जी नियुक्ति पत्र
इन लोगों ने अब तक 100 से अधिक लोगों से कई लाख रुपये सिक्योरिटी मनी ले चुके है. आरोपी लोगों को जिला तहसील समन्वयक, जांच अधिकारी, रिपोर्ट अधिकारी, ब्यूटीशियन प्रशिक्षिका, सिलाई, कढ़ाई प्रशिक्षिका आदि तरह-तरह के पदों पर फर्जी नियुक्ति पत्र देकर नियुक्त करता था, और अभियर्थियों से दस से पचास हज़ार रुपये तक कि सिक्योरिटी मनी जमा करा लेता था. बाद में ऑफिस के द्वारा आरोपी ने नाबार्ड में 25 लाख रुपए के अनुदान के लिए आवेदन भी किया और उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शिक्षा व्यवस्था के लिए अनुदान के रूप में 01 करोड  रुपए की धनराशि के लिए आवेदन भी किया था. यह धनराशि आरोपी के खाते में जनवरी के माह में आना तय था, लेकिन उससे पहले ही आरोपी पुलिस की गिरफ्त में आ गया गया. पुलिस को जांच में इनके अन्य 4-5 साथियों के बारे में पता चला है जिनकी पुलिस तलाश कर रही है. इनमें कई माध्यमिक विद्यायल में कार्यरत है. (रिपोर्ट: अमित सिंह)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज