Noida News: परिजनों ने दर-दर भटक किया ऑक्‍सीजन का इंतजाम, फिर भी कुछ घंटे में 2 सगे भाइयों ने तोड़ दिया दम

नोएडा और गाजियाबाद के तमाम अस्‍पताल ऑक्‍सीजन की कमी से जूझ रहे हैं.  (Photo- moneycontrol)

नोएडा और गाजियाबाद के तमाम अस्‍पताल ऑक्‍सीजन की कमी से जूझ रहे हैं. (Photo- moneycontrol)

Oxygen Crisis In Noida:ग्रेटर नोएडा के नवीन अस्‍पताल में सांस लेने की दिक्‍कत के बाद भर्ती किए गए दो सगे भाइयों की की मौत का मामला सामने आया है. परिजनों का आरोप है कि अगर समय रहते इलाज मिल जाता तो ऐसा नहीं होता.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2021, 11:14 AM IST
  • Share this:
ग्रेटर नोएडा. देश की राजधानी दिल्‍ली से सटे यूपी के नोएडा और गाजियाबाद शहर न सिर्फ कोरोना वायरस (Coronavirus) की बढ़ती रफ्तार से जूझ रहे हैं बल्कि अस्‍पतालों में ऑक्‍सीजन (Oxygen Crisis In Hospitals) की कमी से हर किसी की टेंशन बढ़ रही हैं. हालांकि स्थानीय प्रशासन हालात पर नियंत्रण में होने का दावा कर रहा है, लेकिन नोएडा के बरौला में कोविड वॉर्ड में भर्ती दो सगे भाइयों के दम तोड़ने के बाद एक बार फिर प्रशासन के दावों की पोल खुल गयी है.

बता दें कि प्रिंटिंग प्रेस चलाने वाले सुनील गहलोत (43) और पेशे से वकील नटवर गहलोत (41) ने 17 अप्रैल को सांस लेने में दिक्कत की शिकायत की थी और उनका ऑक्सिजन लेवल भी 90 से नीचे चला गया. इसके बाद वह कई अस्‍पताल गए, लेकिन बिना कोविड टेस्ट रिपोर्ट के सभी ने भर्ती करने से मना कर दिया. हालांकि किसी तरह से ग्रेटर नोएडा के नवीन अस्‍पताल में दोनों भाइयों को भर्ती कराया गया.

10 किलो के ऑक्‍सीजन सिलेंडर के बाद भी...

सुनील और नटवर के परिजनों ने बताया कि दोनों भाइयों की तबीयत बिगड़ गयी थी और अस्‍पताल मैनेजमेंट ने उनके लिए ऑक्‍सीजन का इंतजाम करने को कहा. हमने इधर उधर दौड़ कर 10 किलो के ऑक्‍सीजन के सिलेंडर का इंतजाम किया और रविवार की शाम अस्पताल को सौंप दिया. हालांकि इसके बाद सोमवार की रात दोनों की तबीयत बिगड़ने के बाद मौत हो गयी. बड़े भाई ने रात, तो छोटे भाई ने सुबह दम तोड़ दिया. परिजनों का आरोप है कि अगर समय रहते इलाज मिल जाता तो ऐसा नहीं होता.
ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे अस्‍पताल

यूपी के गाजियाबाद और नोएडा में कम से कम 12 अस्पतालों ने बुधवार को ऑक्‍सीजन की कमी रिपोर्ट की. जबकि नोएडा सेक्टर 39 के सरकारी अस्पताल की हालत खराब है. जबकि इस बीच गाजियाबाद के इंदिरापुरम के एक नामी अस्‍पताल के पास ऑक्‍सीजन का स्‍टॉक कुछ घंटे के लिए बचा होने की खबर ने वहां भर्ती कोरोना मरीजों के परिजनों की टेंशन बढ़ा दी थी. हालांकि किसी तरह वहां ऑक्‍सीजन का इंतजाम किया गया. यही नहीं, इस बीच अधिकांश अस्‍पताल मरीजों के परिजनों पर ऑक्‍सीजन का प्रबंध करने के दवाब भी बना रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज