मुरादनगर श्मशान घाट हादसा: पीड़ित परिजनों ने NH-58 पर शव रखकर लगाया जाम

पीड़ित परिजनों ने NH-58 पर शव रखकर लगाया जाम

पीड़ित परिजनों ने NH-58 पर शव रखकर लगाया जाम

Muradnagar Accident: गाजियाबाद पुलिस ने इस मामले में मुरादनगर थाने में मुकदमा दर्ज कर तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. श्मशान घाट में बारिश की वजह से लिंटर के क्षतिग्रस्त होने से 25 लोगों की हुई मौत.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 4, 2021, 3:49 PM IST
  • Share this:
गाजियाबाद. दिल्ली से सटे गाजियाबाद (Ghaziabad) में रविवार को श्मशान घाट (Cremation Ground Tragedy) में गलियारे की छत गिरने से 25 लोगों की हुई मौत के बाद मृतकों के घर में कोहराम मचा हुआ है. सोमवार को मृतकों के परिजनों ने शव को NH-58 पर रखकर जाम लगा दिया. पीड़ित परिवार दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे है. सूचना मिलने पर मौके पर प्रशासनिक अधिकारी लोगों से बातचीत कर समझाने कोशिश कर रहे है. उधर, मुरादनगर के विधायक अजीत पाल त्यागी भी परिजनों से बातचीत के लिए पहुंचे है.

वहीं 25 लोगों की हुई मौत मामले में आज पुलिस (Police) ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. मुरादनगर नगरपालिका की अधिशाषी अधिकारी निहारिका सिंह, जूनियर इंजीनियर चंद्रपाल और सुपरवाइजर आशीष को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. मामले में ठेकेदार अजय त्यागी अभी भी फरार चल रहा है. इससे पहले अधिशासी अधिकारी, ठेकेदार अजय त्यागी, जेई सीपी सिंह, सुपरवाईजर आशीष समेत अन्य अज्ञात व संबंधित अधिकारियों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या की एफआईआर (FIR) दर्ज की गई थी. मंडलायुक्त अनीता सी मेश्राम के निर्देश पर गैर इरादतन हत्या, भ्रष्टाचार लापरवाही सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज क़िया गया है. बता दें कि इस हादसे में अब तक 25 लोगों की मौत हो चुकी है.

Youtube Video


एसपी ग्रामीण इरज राजा ने बताया कि इस मामले में मुरादनगर थाने में मुकदमा पंजीकृत किया गया था. पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है, जिसमें ईओ, जूनियर इंजीनियर और सुपरवाइजर शामिल हैं. अन्य आरोपियों की गिरफ़्तारी कवायद जारी है.
नए साल में भी उपद्रवियों पर कहर बनकर टूटेगी CM योगी की सरकार, बड़ी कार्रवाई की तैयारी

गौरतलब है कि दो महीने पहले ही इस गलियारे का निर्माण किया गया था. 15 दिन पहले इसे आम लोगों के लिए खोला गया था. इतना ही नहीं अभी इसका लोकार्पण भी नहीं हुआ था. घटिया निर्माण की वजह से हुए इस हादसे ने अधिकारियों और ठेकेदारों की मिलीभगत की पोल खोल दी है.

ऐसे हुआ हादसा



रविवार सुबह एक फल विक्रेता के अंतिम संस्कार में कई लोग शामिल होने के लिए बंबा श्मशान घाट पहुंचे थे. इसी दौरान बारिश की वजह से कई लोग गलियारे में खड़े थे. इसी दौरान नवनिर्मित गलियारे का लिंटर भरभराकर गिर गया. इसकी चपेट में आकर 25 लोगों की मौत हो गई. इसके बाद मौके पर पुलिस, पीएसी और एनडीआरएफ पहुंची और राहत बचाव कार्य शुरू किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज