जिन यात्रियों की हज यात्रा हुई है कैंसिल, उन्‍हें कमेटी से मिलेंगे 2.82 लाख रुपये, यह है वजह

CORONA महामारी के चलते हज यात्रा 2020 को रद्द कर दिया गया है. (फाइल फोटो)
CORONA महामारी के चलते हज यात्रा 2020 को रद्द कर दिया गया है. (फाइल फोटो)

सऊदी सरकार के इस फैसले के बाद हज कमेटी ऑफ इंडिया (Haj Committee of India) ने भी हज यात्रा को कैंसिल कर दिया है और यात्रियों के पूरे पैसे वापस करने का एलान कर दिया है.

  • Share this:

लखनऊ. कोरोना महामारी (Corona Epidemic) के चलते हज यात्रा 2020 (Haj Yatra 2020) को आखिरकार रद्द करने का फैसला ले लिया गया है. दरअसल, सऊदी सरकार (Saudi Government) ने इस बाबत एक सर्कुलर जारी किया है. जिसमें कहा गया है कि जो लोग अभी सऊदी में रह रहे हैं, वे चाहे किसी भी देश के हों, उन्हें सोशल डिस्टनसिंग (Social Distancing) का पालन कराते हुए हज कराई जाएगी. साऊदी सरकार ने साफ किया है कि बाहर से आने वाले हज यात्रियों (Haj Pilgrims) की हज यात्रा इस साल रद्द रहेगी. सऊदी सरकार के इस फैसले के बाद हज कमेटी ऑफ इंडिया (Haj Committee of India) ने भी हज यात्रा को कैंसिल कर दिया है और यात्रियों के पूरे पैसे वापस करने का एलान कर दिया है.


हर साल लगभग 2 लाख भारतीय करते हैं हज यात्रा
पूरे देश से लगभग 2 लाख लोग हज यात्रा पर जाते थे, जिनमे अकेले उत्तरप्रदेश से 28 हज़ार लोग शामिल थे. जुलाई के अंतिम सप्ताह शुरू होने वाली हज यात्रा अगस्त महीने तक सऊदी अरब में होनी थी. इस हज यात्रा की तैयारियां कई महीने पहले से ही शुरू हो जाती हैं. हज कमेटी उत्तर प्रदेश के सचिव राहुल गुप्ता ने न्यूज़ 18 से बातचीत में बताया कि जुलाई में हज यात्रा संभावित थी. लिहाजा, मई के अंतिम सप्ताह से हमारी तैयारियां शुरू हो जाती थी, जिसमें हज पर जाने वाले लोगों को ट्रेनिंग दी जाती थी. सरकारी कर्मचारी खादिमूल हुज्जाज के तौर पर हज यात्रियों के मदद के लिए जाते थे उनकी ट्रेनिंग होती थी. सभी हज यात्रियों का टीकाकरण होता था. चूंकि अब हज यात्रा को कैंसिल करने का आदेश आ गया है, इसलिए हमारी तरफ से सभी तैयारियों को रुक दिया गया है.


यह भी पढ़ें: अब UP में घूसखोरों की खैर नहीं, शिकायत के लिए जारी हुआ ये हेल्पलाइन नंबर


हज कमेटी सभी यात्रियों का रुपया करेगी वापस
उत्तर प्रदेश के हज राज्य मंत्री मोहसिन रजा भी कहते हैं कि सऊदी सरकार ने हज यात्रा को रद्द करने का अदेश दे दिया है. लिहाजा, हम सभी यात्रियों का पूरा पैसा वापस करेंगे. आपको बता दें इस बार उत्तर प्रदेश से लगभग 27 से 28 हज़ार लोग हज पर जाने वाले थे. हालांकि, यह संख्या पिछले साल की तुलना में काफी कम थी, पिछले साल लगभग 31 हज़ार के आसपास लोग हज पर गए थे. हज यात्रियों की घटती हुई संख्या के सवाल पर भी मंत्री मोहसिन रजा कहते हैं क्योंकि यह नियम है कि जो भी यात्री एक बार हज कमेटी के मार्फत हज पर जाता है, वह दोबारा हज कमेटी से हज पर नहीं जा सकता है. इसी वजह से हज यात्रियों की संख्या साल दर साल कम होती जाती है.


यह भी पढ़ें: योगी सरकार के लिए गले की फांस बनी 69000 शिक्षक भर्ती परीक्षा, अब CBI जांच के लिए हाईकोर्ट में याचिका




मंहगी हुई हज यात्रा 20 से 30 हजार रुपए मंहगी
उत्तर प्रदेश के हज राज्य मंत्री मोहसिन रजा भी कहते हैं कि इस बार सऊदी हुकूमत ने हज यात्रा पर पैसा भी बढ़ा दिया था. लिहाजा, पिछली बार की तुलना में इस बार हज यात्रा भी लगभग 25 से 30 हज़ार प्रति व्यक्ति महंगी हो गई थी. इस बार हज यात्रियों को दो लाख 82 हजार के आसपास का खर्च अपनी हज यात्रा पर करना था. लेकिन, इसबार कोरोना काल के दौरान अभी हज यात्रा पूरी तरह से रद्द करने के बाद सभी ततैयारियों को बंद कर दिया गया है. अब सभी हज यात्री अगले साल ही हज पर जा पाएंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज