Hamirpur news

हमीरपुर

अपना जिला चुनें

हमीरपुर: फन फैलाए अस्पताल में घूमता रहा कोबरा सांप, मरीजों में मचा हड़कंप

 (सांकेतिक तस्वीर)

(सांकेतिक तस्वीर)

ग्रामीणों ने बताया कि इस कोबरा (Cobra) ने घंटों अस्पताल में दहशत फैलाए रखी. इसे देखते ही सब अस्पताल (Hospital) से बाहर भागने लगे.

SHARE THIS:
हमीरपुर. उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं. इसी बीच हमीरपुर (Hamirpur) जिले में स्थित सरकारी अस्पताल में उस समय हडकंप मच गया, जब वहां अचानक एक कोबरा (Cobra Snake) सांप घुस गया. कोबरा को काबू करने में लोगों के पसीने छूट गए. गांव वालों ने एक सपेरे को मौके पर बुलाया. अस्पताल में कोबरा देख कर भगदड़ मच गई. इस दौरान मरीज, तीमारदार और अस्पताल स्टाफ डर कर अस्पताल के बाहर भाग गए.

मामला हमीरपुर जिले के मौदहा नगर में स्थित सरकारी अस्पताल का है. जानकारी के मुताबिक यहां अचानक एक काला कोबरा घुस गया. कुछ लोगों ने कोबरा को बाहर निकालने का प्रयास किया लेकिन वे इसमें सफल नहीं हो पाए. सरकारी अस्पताल के पूरे कैंपस में कोबरा फन फैलाए हुए इधर से उधर घूमता रहा. अंत में एक सपेरे को बुलाया गया.

कड़ी मेहनत के बाद काबू में आया कोबरा
कड़ी मेहनत के बाद काबू में आया कोबरा


कड़ी मेहनत के बाद सपेरे ने कोबरा को काबू में किया. जब कोबरा सपेरे की पकड़ में आया तब जाकर मरीजों और स्टाफ ने राहत की सांस ली. ग्रामीणों ने बताया कि इस कोबरा ने घंटों अस्पताल में दहशत फैलाए रखी. इसे देखते ही सब अस्पताल से बाहर भागने लगे. आखिरकार सपेरे ने इसे पकड़ा तब जाकर सब लोग अस्पताल में गए.

बहरहाल, उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे के दौरान कोविड-19 संक्रमित 56 और मरीजों की मौत हो गई है.  इसके  अलावा 5649 नए मामले सामने आये हैं. यूपी के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि राज्य में पिछले 24 घंटे के दौरान 56 और मरीजों की मौत हो गई. इसके साथ ही प्रदेश में मृतक संख्या बढ़कर 3976 हो गई है. जबकि इस दौरान कोविड-19 के 5649 नए मामले सामने आये हैं. प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में अब तक 205731 मरीज कोविड-19 संक्रमण से पूरी तरह ठीक हो चुके हैं. वहीं, 62144 मरीजों का राज्य के विभिन्न कोविड-19 अस्पतालों में इलाज किया जा रहा है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

बुंदेलखंड: किसान महापंचायत में गरजे राकेश टिकैत, कहा- 33 महीने और चलेगा किसान आंदोलन

किसान नेता राकेश टिकैत बुंदेलखंड किसान महापंचायतों में शामिल होने पहुंचे हैं.

Uttar Pradesh News: तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ केंद्र सरकार के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन को देशव्यापी धार देने को लेकर किसान नेता राकेश टिकैत बुंदेलखंड पहुंचे हैं. यहां उन्होंने बांदा, हमीरपुर और महोबा में किसान महापंचायतों में शामिल होकर सरकार पर निशाना साधा. किसानों से कहा कि उनका आंदोलन अभी 33 महीने और चलेगा.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 12, 2021, 18:35 IST
SHARE THIS:

(उमाशंकर मिश्रा)

हमीरपुर. भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) किसान आंदोलन को देशव्यापी धार देने के लिए रविवार को बुंदेलखंड (Bundelkhand) पहुंचे. यहां उन्होंने बांदा, हमीरपुर और महोबा में किसान महापंचायतों (Kisan Mahapanchayat) में शामिल होकर सरकार के खिलाफ जमकर आग उगली. उन्होंने किसानों से नए कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ पूरी ताकत से एकजुट होने की अपील करते हुए कहा कि यह आंदोलन 33 महीने और चलेगा. पत्रकारों से बात करते हुए टिकैत ने पिछले दिनों दिए धर्मिक नारे पर कहा कि उनके नारों में कोई विवाद नहीं है. बीजेपी जय श्री राम बोलती है और हम राम-राम कहते हैं. देश के संविधान ने हमें नारा लगाने का अधिकार दिया है.

हमीरपुर में किसान महापंचायत में शामिल होकर टिकैत ने किसानों की समस्याओं पर चर्चा किया. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा लाए जाने वाले कृषि बिल के विरोध में किसानों का लगातार संघर्ष जारी रहेगा.

हमीरपुर जिले के मौदहा गल्ला मंडी में राकेश टिकैत के पहुंचने पर उन्हें तलवार भेंट कर स्वागत किया गया. टिकैत ने पत्रकारों से चर्चा के दौरान कहा कि बीजेपी की सरकार किसान विरोधी कानून बना रही है. उन्होंने कृषि कानूनों पर कहा कि किसान आंदोलन चल रहा, यह अभी 33 महीने तक और चलेगा. जब तक सरकार कृषि कानून को वापस नहीं लेगी यह चलता रहेगा. उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड की अन्ना प्रथा, सूखा, कर्ज माफी के साथ खनिज संपदा में लिए जाने वाले कर का लाभ बुंदेलखंड के निवासियों को मिलना चाहिए. टिकैत ने कहा कि तीनों किसान विरोधी कानूनों के खिलाफ उनकी लड़ाई लगतार जारी रहेगी, जिसमें किसानों को कंधे से कंधा मिलाकर साथ रहना होगा.

बीकेयू के नेता ने कहा कि बुंदेलखंड के किसानों और नवजवानों की स्थिति पूरे देश में सबसे खराब है. उन्होंने कहा कि यहां किसानों की फसलों की MSP में खरीद नहीं होती. बड़े व्यापारी किसानों से सस्ते में आनाज खरीदते हैं और उसे MSP पर ऊंची कीमतों पर बेचते हैं.

हमीरपुर: डेढ़ साल की बेटी और मां का फांसी से झूलता मिला शव, हत्या-आत्महत्या में उलझी गुत्थी

UP: हमीरपुर में मां-बेटी का शव मिलने से हड़कंप मचा हुआ है . (सांकेतिक तस्वीर)

Hamirpur Crime News: एसपी हमीरपुर कमलेश दीक्षित का कहना है कि मृतक महिला के मायके वालों को इस घटना की सूचना दे दी गई है. तहरीर मिलने के बाद वैधानिक कार्यवाही की जाएगी.

SHARE THIS:

हमीरपुर. उत्तर प्रदेश के हमीरपुर (Hamirpur) जिले में एक घर में मां और बेटी के शव फांसी के फंदे पर लटके होने की जानकारी फैलते ही पूरे इलाके में सनसनी फैल गई. सू पुलिस के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे और जांच करते हुए मां और इसकी डेढ़ साल की बेटी के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. मां-बेटी की मौत को लेकर गांव में तरह तरह की चर्चाएं हैं जबकि पुलिस इसे घरेलू कलह के चलते आत्महत्या बता रही है. परिजनों ने पति पर हत्या करने का आरोप लगाकर कार्यवाही की मांग की है.

मामला हमीरपुर जिले के कुरारा थानाक्षेत्र के जल्ला गांव का है. गांव में आज सुबह एक नवविवाहिता शानू और उसकी डेढ़ साल की मासूम बेटी के शव उसी के घर में फांसी के फंदे से लटके होने की जानकारी फैलते ही गांव में हड़कंप मच गया. पुलिस को जैसे ही इस घटना की जानकारी हुई वैसे ही कुरारा थाना पुलिस सहित पुलिस अधीक्षक कमलेश कुमार दीक्षित मौके पर पहुंच गए और घटना की जांच पडताल करते हुए दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया.

परिजनों का आरोप है कि पति अंकित तिवारी ने ही अपनी पत्नी और बेटी को मौत के घाट उतारा है जबकि पुलिस का कहना है कि महिला का पति शराब पीकर घर में कलह करता था, जिसके चलते महिला ने पहले अपनी बेटी को फांसी लगाई. और फिर खुद फांसी के फंदे से झूल गई.

फिलहाल हत्या और आत्महत्या के बीच मामला उलझा हुआ है. एसपी हमीरपुर कमलेश दीक्षित का कहना है कि मृतक महिला के मायके वालों को इस घटना की सूचना दे दी गई है. तहरीर मिलने के बाद वैधानिक कार्यवाही की जाएगी.

Hamirpur News: संदिग्ध हालात में मां-बेटी का बंद कमरे में मिला शव, हत्या की आशंका!

Hamirpur News: संदिग्ध हालात में मां-बेटी का बंद कमरे में मिला शव

पुलिस अधीक्षक (SP) कमलेश दीक्षित का कहना है कि महिला ने पहले बच्ची की गला दबाकर हत्या की है. इसके बाद खुद फांसी पर लटक गई है.

SHARE THIS:

हमीरपुर. यूपी के हमीरपुर (Hamirpur) जिले में सोमवार सुबह एक घर में मां और बेटी के शव फांसी के फंदे पर लटके होने की सूचना पर पूरे इलाके में सनसनी फैल गई. सूचना मिलते ही पुलिस के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे और जांच पड़ताल करते हुए शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. मां-बेटी की मौत को लेकर गांव में तरह तरह की चर्चाएं हैं. जबकि पुलिस इसे घरेलू कलह के चलते आत्महत्या बता रही है. वहीं मृतका के परिजन पति पर हत्या करने का आरोप लगाकर कार्यवाही की मांग की है.

पूरा मामला हमीरपुर जिले के कुरारा थानाक्षेत्र के जल्ला गांव का है।. इस गांव में आज सुबह एक नवविवाहिता शानू और उसकी डेढ़ साल की मासूम बेटी के शव उसी के घर में फांसी के फंदे से लटके होने की जानकारी फैलते ही गांव में हडकंप मच गया. पुलिस को जैसे ही इस घटना की जानकारी हुई वैसे ही कुरारा थाना पुलिस सहित पुलिस अधीक्षक कमलेश कुमार दीक्षित मौके पर पहुंच गए और घटना की जांच पड़ताल की.

UP: कल्याण सिंह के निधन के बाद CM योगी ने नहीं ली एक झपकी, लखनऊ से अलीगढ़ तक खुद संभाली कमान

घटना के बाद परिजनों का कहना है कि महिला के पति ने ही अपनी पत्नी और बेटी को मौत के घाट उतारा है. जबकि पुलिस का कहना है कि महिला का पति शराब पीकर घर में कलह करता था. जिसके चलते महिला ने पहले अपनी बेटी को फांसी लगाई और फिर खुद फांसी के फंदे से झूल गई. पुलिस अधीक्षक कमलेश दीक्षित का कहना है कि महिला ने पहले बच्ची की गला दबाकर हत्या की है. इसके बाद खुद फांसी पर लटक गई है. फिलहाल पुलिस जांच में जुटी है. उधर, मृतक के घर में कोहराम मचा हुआ है.

UP के बाढ़ग्रस्त 24 में से 11 जिलों में औसत से कम बारिश, फिर भी क्यों बनी ये हालत?

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश के कई जिलों के साथ ही संगम नगरी प्रयागराज (Prayagraj) में भी बाढ़ (Flood) का कहर जारी है.

UP News: उत्तर प्रदेश के 11 जिलों फतेहपुर, शाहजहांपुर, सीतापुर, गाज़ीपुर, चंदौली, आगरा, फर्रुखाबाद, कानपुर देहात, कौशाम्बी, इटावा और जालौन में औसत से कम बारिश हुई. लेकिन फिर भी ये जिले बाढ़ की चपेट में हैं.

SHARE THIS:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में इस समय 24 जिले बाढ़ (Flood) से प्रभावित हैं. और हैरानी की बात है कि जिन जिलों में सामान्य से कम बारिश हुई वे इलाके भी बाढ़ के पानी में समां गए हैं. यूपी के बाढ़ ग्रस्त 24 जिलों में से 11 जिले कम बारिश वाले हैं. इस सवाल के जवाब से पहले कुछ आंकड़ों पर नज़र ज़रूरी है.

यूपी के 24 जिलों फतेहपुर, गोण्डा, शाहजहांपुर, लखीमपुर खीरी, सीतापुर, गोरखपुर, बहराइच, गाज़ीपुर, चंदौली, आगरा, चित्रकूट, फर्रूखाबाद, कानपुर देहात, भदोही, कौशाम्बी, इटावा, वाराणसी, बलिया, हमीरपुर, बांदा, जालौन, प्रयागराज और मिर्जापुर में बाढ़ आई है. इन इलाकों की करीब 5 लाख से ज्यादा आबादी प्रभावित है. पहली नजर में लगता है कि इन जिलों में जमकर बरसात हुई होगी, लेकिन ऐसा नहीं है. इनमें से 11 जिलों फतेहपुर, शाहजहांपुर, सीतापुर, गाज़ीपुर, चंदौली, आगरा, फर्रुखाबाद, कानपुर देहात, कौशाम्बी, इटावा और जालौन में औसत से कम बारिश हुई है. चंदौली, फर्रुखाबाद और कानपुर देहात में तो औसत से 50 फीसद यानी आधी ही बारिश हुई है, फिर भी बाढ़ आ गई.

इसकी मुख्य वजह है नदियों का उफान. ये जरूरी नहीं कि यूपी से होकर बहने वाली नदियों में उफान तभी आएगा जब यूपी में भारी बारिश होगी. नेपाल, उत्तराखंड, हरियाणा, मध्य प्रदेश और राजस्थान से होकर आने वाली नदियां भी तब उफनाने लगती है, जब इन प्रदेशों में भारी बारिश हो जाती है. पिछले एक हफ्ते में मध्य प्रदेश और राजस्थान में जमकर पानी गिरा है. ये सारा का सारा पानी गंगा और यमुना में बहकर यूपी में आ रहा है.

खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज गाजीपुर में बाढ़ और राहत कार्यों का जायजा लेने के बाद कहा कि उत्तर प्रदेश के 24 जनपदों के 620 गांवों में बाढ़ का असर है. राजस्थान, हरियाणा, MP से अतिरिक्त जल छोड़े जाने से ये हालत हुई है.

सिंचाई विभाग में फ्लड कंट्रोल के इंजीनियर इन चीफ अशोक सिंह ने बताया कि सबसे ज्यादा पानी का स्तर राजस्थान और एमपी से आने वाली नदियों में दर्ज किया जा रहा है. इसी वजह से यमुना में पानी बढ़ गया है. यमुना प्रयागराज में गंगा से मिल जाती है. ऐसे में पहले से उफनती गंगा में पानी का स्तर और बढ़ गयाअब बनारस के आगे गंगा का जलस्तर बढ़ेगा. बाकी जगहों पर जलस्तर में कमी आने लगी है.

UP Flood: 5 लाख से ज्यादा की आबादी बाढ़ से प्रभावित, बुंदेलखंड के 3 जिलों में हालात विकट

यूपी के कई जिले बाढ़ की चपेट में हैं.

UP Flood News: उत्तराखंड, नेपाल और मध्य प्रदेश में होने वाली बारिश में कमी के बाद ही उत्तर प्रदेश की नदियों के जलस्तर में गिरावट की संभावना जताई जा रही है.

SHARE THIS:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में बाढ़ (Flood) के हालात दिनों-दिन गंभीर होते जा रहे हैं. हैरान करने वाली बात तो यह है कि प्रदेश के 5 सबसे ज्यादा बाढ़ प्रभावित जिलों में से तीन बुंदेलखंड (Bundelkhand) के हैं. पूर्वी यूपी और तराई के जिलों में तो हर साल बाढ़ से हाहाकार मचता है, लेकिन इस बार बुंदेलखंड के जिलों में बाढ़ से स्थितियां विकट हो गई हैं. जालौन (Jalaun), बांदा (Banda) और हमीरपुर (Hamirpur) के दर्जनों गांव बाढ़ की चपेट में हैं.

राहत विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक प्रदेश के कुल 23 जिलों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है. इन 23 जिलों के 1000 से ज्यादा गांव में रहने वाली 5 लाख से ज्यादा की आबादी बाढ़ से सीधे तौर पर प्रभावित हुई है. सबसे ज्यादा असर मिर्जापुर में देखने को मिला है, जहां के 404 गांवों में पानी भरा है. इसके अलावा प्रयागराज में 169, जालौन में 114, बांदा में 79 और हमीरपुर के 76 गांव बाढ़ से प्रभावित हैं.

उत्‍तर प्रदेश की ज्यादातर नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं, जिससे हालात विकट हो गए हैं. गंगा नदी बदायूं, प्रयागराज, मिर्जापुर, वाराणसी, गाजीपुर और बलिया में खतरे के निशान के ऊपर बह रही है. इसके अलावा यमुना बांदा और प्रयागराज में खतरे के निशान के ऊपर बह रही है. शारदा नदी लखीमपुर खीरी में खतरे के निशान के ऊपर बह रही है, जबकि घाघरा बलिया में खतरे के निशान के ऊपर बह रही है.

प्रदेश के 9 जिलों- इटावा, जालौन, बहराइच, श्रावस्ती, सिद्धार्थ नगर, गोरखपुर, लखनऊ, बलिया, और वाराणसी में NDRF की टीमों को तैनात किया गया है. बाकी जिलों में एसडीआरएफ और पीएसी के जवान लोगों को राहत पहुंचाने का काम कर रहे हैं. बाढ़ से प्रभावित जिलों में लोगों को राहत पहुंचाने के लिए राहत विभाग ने 950 बाढ़ शरणालय बनाए हैं. यहां लोगों को भोजन के किट और लंच पैकेट बांटे जा रहे हैं.

नेपाल और उत्तराखंड से बहकर आने वाली नदियों के कारण पूर्वांचल और तराई के जिलों में बाढ़ के हालात पैदा हुए हैं. वहीं दूसरी ओर मध्य प्रदेश से होकर आने वाली नदियों के बढ़े जलस्तर के कारण बुंदेलखंड और पूर्वांचल में स्थितियां विकट हुई हैं.

बुंदेलखंड से होकर आने वाली लगभग सभी नदियां यमुना में मिलती हैं. इससे यमुना में पानी का स्तर बहुत बढ़ गया है. प्रयागराज में यमुना गंगा से मिलती है. इसीलिए प्रयागराज से लेकर बिहार की सीमा तक के जिलों में गंगा का पानी गांव में घुस रहा है. पिछले 24 से 48 घंटों में प्रदेश में बहुत ज्यादा बारिश नहीं हुई है. ऐसी ही स्थितियां बरकरार रही तो इस बात की संभावना जताई जा रही है कि बाढ़ का पानी धीरे-धीरे उतरने लगेगा.

पिछले 24 घंटे में बाढ़ ग्रस्त जिलों में गोरखपुर में सबसे ज्यादा 36.1 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई. बलिया और बहराइच में 9 मिली मीटर बारिश दर्ज की गई. अयोध्या में 4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई.

UP: 5 मंजिला इमारत में आग, गैस सिलेंडर फटने से कई घायल

सांकेतिक फोटो. (AFP)

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के हमीरपुर जिले की मुख्य बाजार की 5 मंजिली इमारत में अचानक शार्ट सर्किट से आग (Fire) लगने से हडकंप मच गया, जिसके बाद सिलेंडर में विस्फोट हो गया.

SHARE THIS:
हमीरपुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के हमीरपुर जिले की मुख्य बाजार की 5 मंजिल इमारत में अचानक शार्ट सर्किट से आग (Fire) लगने से हड़कंप मच गया. इसके बाद अचानक सिलेंडर में विस्फोट हो गया. देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया. सिलेंडर के विस्फोट से अफरा-तफरी मच गई और वहीं मौजूद कई लोग घायल हो गए. फायर बिग्रेड की 5 गाड़ियों ने 4 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग में काबू पाया. फिलहाल घर के अंदर सिलेंडर फटने का वीडियो वायरल हो रहा है.

हमीरपुर जिले के सदर कोतवाली क्षेत्र के मुख्य बाजार के ईशु पुरवार चौराहे स्थित 5 मंजिला इमारत, जिसमें गिफ्ट सेंटर की दुकान भी है अचानक शार्ट सर्किट से आग लग गई. आग लगने से हड़कंप मच गया, जिसके बाद गैस सिलेंडर का विस्फोट हुआ जो इमारत को क्षतिग्रस्त करता हुआ दिखाई दिया और देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया. स विस्फ़ोट से कई मौजूद लोग घायल हो गए, जिन्हें जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है.

लाइव वीडियो वायरल
हमीरपुर के एएसपी अनूप सिंह ने बताया कि फायर बिग्रेड की 5 गाड़ियों ने 4 घंटे की कड़ी मसक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया. इस आग से लाखों का सामान जलकर खाक हो गया है. इस विस्फोट कांड का लाइव वीडियो वायरल हो रहा है. आग लगने का प्राथमिक कारण शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा है. घायलों काे इलाज के लिए भर्ती करा दिया गया है. फिलहाल किसी तरह की जनहानि की सूचना नहीं है.

UP: 4 जिलों के SP सहित 7 आईपीएस अफसरों का ट्रांसफर, देखें लिस्ट

यूपी में 7 आईपीएस अफसरों के तबादले हुए हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

UP News: यूपी सरकार ने 7 आईपीएस अफसरों के ट्रांसफर कर दिए हैं, इनमें सिद्धार्थनगर, जालौन, कासगंज और हमीरपुर के एसपी भी बदल दिए गए हैं.

SHARE THIS:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश सरकार ने 7 आईपीएस अफसरों (7 IPS Transfer) के ट्रांसफर कर दिए हैं. इनमें 4 जिलों के कप्तान भी बदले गए हैं. जिन जिलों में एसपी पद पर फेरबदल किया गया है, उनमें सिद्धार्थनगर, जालौन, कासगंज और हमीरपुर शामिल हैं. गृह विभाग द्वारा जारी ट्रांसफर लिस्ट के अनुसार यशवीर सिंह एसपी सिद्धार्थनगर बनाए गए, यहां अब तक तैनात रहे राम अभिलाष त्रिपाठी को एसपी, ग्रामीण अभिसूचना, गोरखपुर भेज दिया गया है. बता दें यशवीर सिंह अभी तक जालौन में एसपी पद की जिम्मेदारी संभाल रहे थे, वहां अब उनकी जगह  रवि कुमार को एसपी जालौन भेजा गया है.

इनके अलावा बोत्रे रोहन प्रमोद एसपी कासगंज होंगे, जबकि कमलेश कुमार दीक्षित एसपी हमीरपुर बने. इनके अलावा राम अभिलाष त्रिपाठी एसपी अभिसूचना गोरखपुर बनाए गए हैं, जबकि मनोज सोनकर सेनानायक 12वीं पीएसी फतेहपुर और नरेंद्र कुमार सिंह सेनानायक 15वीं पीएसी आगरा भेजे गए हैं.

ट्रांसफर लिस्ट

यशवीर सिंह- एसपी जालौन से एसपी सिद्धार्थनगर

रवि कुमार- पुलिस उपायुक्त, लखनऊ से एसपी जालौन

बोत्रे रोहन प्रमोद- अपर पुलिस अधीक्षक, नगर आगरा से एसपी कासगंज

कमलेश कुमार दीक्षित- एसपी ग्रामीण, अभिसूचना, गोरखपुर से एसपी हमीरपुर

7 आईपीएस अफसरों की ट्रांसफर लिस्ट

ips transfer1
आईपीएस ट्रांसफर लिस्ट


राम अभिलाष त्रिपाठी- एसपी सिद्धार्थनगर से एसपी ग्रामीण अभिसूचना, गोरखपुर

मनोज सोनकर- एसपी, कासगंज से सेनानायक, 12वीं वाहिनी पीएसी, फतेहपुर

नरेंद्र कुमार सिंह- एसपी हमीरपुर से सेनानायक, 15वीं वाहिनी पीएसी, आगरा

इनपुट: ऋषभ मणि त्रिपाठी

जाना था उत्तर प्रदेश के हमीरपुर, पहुंच गया हिमाचल के हमीरपुर, जानें पूरा किस्सा...

पुरुषोत्तम को नहीं पता था कि हमीरपुर हिमाचल प्रदेश में भी है. इसी चूक में यूपी के बजाए वह हिमाचल प्रदेश पहुंच गया.

पुरुषोत्तम श्रीवास्तव बुधवार रात 10:30 बजे कश्मीरी गेट बस अड्डे पर थे, उन्हें यूपी के हमीरपुर जाना था. इसी बीच एक कंडक्टर ने हमीरपुर जाने के लिए आवाज लगाई तो वे उस बस में किराया देकर बैठ गए. पर यह बस यूपी नहीं, हिमाचल के हमीरपुर जा रही थी.

SHARE THIS:
हमीरपुर. यूपी के हमीरपुर का एक युवक दिल्ली बस स्टैंड से अपने गांव के लिए बस में सवार हुआ था, लेकिन वह पहुंच गया हिमाचल के हमीरपुर. हिमाचल के हमीरपुर बस अड्डे पर पहुंची बस के कंडक्टर ने युवक को बस से नीचे उतरने के लिए कहा, तो बस से उतरने के बाद युवक हैरान रह गया. उसने देखा कि यह यूपी का हमीरपुर तो नहीं है. युवक का पर्स भी कहीं गिर गया था, जिसके बाद युवक परेशान हो गया. वह काफी देर तक बस अड्डे पर बैठ कर वापस जाने के लिए स्थानीय लोगों से मदद मांगता रहा. इसी बीच इस मामले की जानकारी एचआरटीसी हमीरपुर डिपो के उपमंडलीय प्रबंधक विवेक लखनपाल को हुई. उन्होंने बिना देर किए युवक को एचआरटीसी की दिल्ली जाने वाली बस में निशुल्क भेजने और उसके भोजन की व्यवस्था की. डीडीएम विवेक लखनपाल की इस इन्सानियत की जिले भर में प्रशंसा हो रही है.

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर के परमापुरवा के रहनेवाले पुरुषोत्तम श्रीवास्तव ने बताया कि उनकी बहन की शादी दो साल पहले हुई है. जीजा पानीपत की एक फैक्टरी में काम करते हैं. सोमवार को वह अपनी बहन को जीजा के पास छोड़ने के लिए पानीपत आए थे. इसके बाद दिल्ली के कश्मीरी गेट पहुंचे. बुधवार रात को 10:30 बजे कश्मीरी गेट पर रुकी बस के परिचालक ने हमीरपुर जाने के लिए आवाज दी. 680 रुपये किराया देने के बाद वे उस बस में सवार हो गए, लेकिन वह बस हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जाने वाली थी और वे गलती से गुरुवार की सुबह हिमाचल के हमीरपुर पहुंच गए.

पुरुषोत्तम ने बताया कि वे पहली बार दिल्ली आए थे. उनके पास जो पैसे थे वह खर्च हो गए. उधर, एचआरटीसी हमीरपुर डिपो के उपमंडलीय प्रबंधक विवेक लखनपाल ने कहा कि इन्सानियत के नाते युवक की मदद करना हमारा फर्ज है. मामले की जानकारी होते ही युवक को दिल्ली तक निशुल्क भेजने की व्यवस्था निगम की बस में कर दी है.

UP News: दूल्‍हा बना बेटा दुल्‍हन को डाल रहा था वरमाला, फिर मां की एंट्री के बाद मच गई अफरा-तफरी

लड़के के माता-पिता शादी से नाराज थे.

Hamirpur News: यूपी के हमीरपुर में शादी समारोह में दूल्‍हे (Groom) को उसकी मां द्वारा जयमाल स्‍टेज पर चप्‍पल से पीटने का मामला सामने आया है. दरअसल, बेटे ने अपने माता-पिता की मर्जी के खिलाफ दूसरी जाति की लड़की से कोर्ट मैरिज (Court Marriage) कर ली थी और इसके बाद लड़की के पिता ने उसे धूमधाम से विदा करने के लिए शादी का कार्यक्रम रखा था. इस दौरान वहां दूल्‍हे की मां पहुंच गई और फिर जो हुआ वह चर्चा का कारण बना हुआ है.

SHARE THIS:
हमीरपुर. यूपी के हमीरपुर (Hamirpur) से अजीबोगरीब मामला सामने आया है. दरअसल, अपने बेटे द्वारा दूसरी जाति की लड़की से शादी (Marriage) करने से नाराज मां ने जयमाल के दौरान न सिर्फ हंगामा काटा बल्कि दूल्हे की चप्पल से जमकर पिटाई कर डाली. इसके बाद शादी समारोह में अफरा-तफरी मच गई. वहीं, मां के द्वारा अपने दूल्‍हे बेटे की स्‍टेज पर पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. यही नहीं, किसी तरह वहां मौजूद लोगों ने दूल्‍हे की मां को समारोह से बाहर किया और फिर शादी की बाकी की रस्में आनन-फानन में निपटाने की बात सामने आई है.

जानकारी के मुताबिक, हमीरपुर के सुमेरपुर कस्‍बे के रहने वाले एक लड़के ने अपने माता-पिता को बिना बताए पड़ोस में रहने वाली लड़की से पिछले दिनों कोर्ट मैरिज कर ली थी. इसके बाद दोनों एक साथ रहने लगे. बेटे के कोर्ट मैरिज करने से माता-पिता नाखुश थे, लेकिन लड़की के कोर्ट मैरिज करने के बाद उसके पिता ने धूमधाम से शादी करने का फैसला किया. इस बीच शनिवार को शादी सुमेरपुर कस्बे के ही एक गेस्टहाउस में हो रही थी. यही नहीं, लड़की पिता ने अपने दोस्तों और परिचितों को शादी के कार्ड भी बांटे थे. वहीं, दूल्‍हे के नाराज माता-पिता को शादी में नहीं बुलाया था.

जब चप्पल से लेकर दूल्हे पर टूट पड़ी मां
बता दें कि लड़के के माता-पिता इस बेमेल शादी के खिलाफ थे और इसी वज‍ह से दूल्‍हन के पिता ने उन्‍हें आमंत्रित नहीं किया था. वहीं, जब जयमाला के कार्यक्रम के दौरान दूल्‍हा-दुल्‍हन एक दूसरे को वरमाला पहना रहे थे, उसी वक्त दूल्हे की मां मुंह पर कपड़ा बांधकर अचानक स्टेज पर आ धमकी और चप्पल उतार कर बेटे के ऊपर टूट पड़ी. इस दौरान दूल्हे ने दुल्हन के पीछे छिपकर किसी तरह अपना बचाव किया. हालांकि इसके बाद कुछ लोगों ने दूल्‍हे की मां को पकड़कर स्‍टेज से नीचे उतार दिया. इसके बाद वह गाली-गलौज करते हुए शादी से वापस चली गई.

फिर आनन-फानन में हुई शादी
दूल्‍हे की मां के हंगामे के बाद न सिर्फ कार्यक्रम में अफरा-तफरी मच गई बल्कि इसके बाद शादी की अन्य रस्में आनन-फानन में निपटाकर दुल्हन को विदा किया गया. यही नहीं, इस घटना वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. वहीं, मां द्वारा अपने दूल्‍हे बने बेटे पर चप्‍पलों की बारिश चर्चा का विषय बनी हुई है. बता दें कि अलग-अलग जाति से संबंध रखने वाले लड़का और लड़की हमीरपुर के सुमेरपुर कस्‍बे के ही रहने वाले हैं, लेकिन कोर्ट मैरिज के बाद लड़का किसी दूसरे शहर में रहता है.

UP News: हमीरपुर में खुदाई के दौरान मिले 1800 ईसवी के विक्टोरिया शासनकाल के चांदी के सिक्के

हमीरपुर में मकान की खुदाई के दौरान चांदी के सिक्के मिले हैं.

Hamirpur News: हमीरपुर में प्लाट में खुदाई के दौरान खजाना निकलने की खबर कस्बे में फैल गई. सूचना पाकर सीओ रवि प्रकाश सिंह गांव पहुंचे. सीओ ने प्लाट मालिक अय्यूब से बातचीत की.

SHARE THIS:
हमीरपुर. उत्तर प्रदेश के हमीरपुर (Hamirpur) जिले में एक निजी भवन निर्माण के लिए हो रही खुदाई के दौरान सन् 1800 ईसवी के महारानी विक्टोरिया के ब्रिटिश शासनकाल के 9 चांदी के सिक्के (Silver Coins) मिले हैं. इसकी चर्चा होने पर सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने सभी 9 सिक्कों कब्जे में लिया है. सीओ रवि प्रकाश सिंह के अनुसार सभी सिक्कों को सील कर दिया गया है. उन्होंने सिक्कों को जांच के लिए पुरातत्व विभाग को भेजने की बात कही है. बता दें हमीरपुर में इससे पहले भी हुई कई खुदाई में चीजें मिल चुकी हैं.

मामला हमीरपुर जिले के मौदहा कस्बे के मोहल्ला पश्चिमी तरौस का है. यहां अय्यूब खान का लंबे समय से एक प्लाट पड़ा है, जिसमें निर्माण कराने का ठेका उन्होंने फरीद ठेकेदार को दिया था. उनके प्लाट में खुदाई करते समय विक्टोरिया शासनकाल के नौ चांदी के सिक्के मिले. इसकी सूचना ठेकेदार फरीद ने प्लाट मालिक अय्यूब को दी, जिसके बाद अय्यूब ने प्लाट में खुदाई का काम बंद करा दिया.

प्लाट से निकला खजाना की खबर फैली

hamirpur coins2
खजाना मिलने की खबर पर पहुंची पुलिस




सिक्कों को पुरातत्व विभाग के हवाले किया जाएगा: सीओ

वहीं प्लाट में खुदाई के दौरान खजाना निकलने की खबर कस्बे में फैल गई. सूचना पाकर सीओ रवि प्रकाश सिंह गांव पहुंचे. सीओ ने प्लाट मालिक अय्यूब से बातचीत की, जिसमें उन्होंने नौ सिक्के मिलने की बात कही है. सीओ ने सभी सिक्के कब्जे में लेकर सील कर दिए हैं. उन्होंने बताया कि मामला पुरातत्व विभाग से संबंधित है इसलिए सिक्कों को भारतीय पुरातत्व विभाग भेजा जाएगा.

UP News: सज गया था दूल्‍हा, तैयार थे बाराती, फिर एक फोन कॉल के बाद हो गया 'हादसा'

दूल्‍हे के कोरोना पॉजिटिव होने के कारण शादी नहीं हो सकती. (सांकेतिक फोटो)

UP News: यूपी के हमीरपुर (Hamirpur) में दूल्‍हा के कोरोना पॉजिटिव होने की वजह से स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने न सिर्फ शादी का कार्यक्रम स्‍थगित करवा दिया बल्कि समारोह में मौजूद सभी लोगों की कोरोना जांच के साथ आइसोलेट होने के निर्देश दिए हैं.

SHARE THIS:
हमीरपुर. कोरोना वायरस (Coronavirus) की बढ़ती रफ्तार के कारण उत्‍तर प्रदेश में लॉकडाउन लगा हुआ है. जबकि इस महामारी का असर शादी समारोहों पर भी पड़ रहा है. इस बीच यूपी के हमीरपुर (Hamirpur) से एक चौंकाने वाली खबर सामने आयी है. दरअसल, दूल्‍हा (Groom) बारात ले जाने के लिए तैयार था, तभी स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीम आ धमकी और फिर सभी तैयारियों धरी रह गईं.

जानकारी के मुताबिक, यूपी के हमीरपुर जिले के सिसोलर थाना क्षेत्र के बक्छा गांव निवासी जंग बहादुर सिंह के बेटे धर्मेंद्र की 24 मई को शादी होनी थी. जबकि उसकी बारात महोबा के एक गांव में जानी थी. इस दौरान न सिर्फ दूल्‍हा तैयार था बल्कि सभी बाराती भी तैयार थे, तो परिजनों के साथ पड़ोसी और रिश्‍तेदार शादी की रस्‍मों में व्‍यस्‍त थे, लेकिन इसी दौरान गांव से किसी ने स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीम को सूचना दे दी कि दूल्‍हा कोरोना पॉजिटिव है.

दूल्‍हा क्‍वारंटाइन सेंटर, बाराती आइसोलेट
दूल्‍हे के कोरोना पॉजिटिव की खबर मिलने के बाद मौहदा एसडीएम के आदेश के बाद स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीम आनन फानन में बक्‍छा गांव पहुंची और शादी का कार्यक्रम स्‍थगित करवा दिया, तो दूल्‍हे को एंबुलेंस में डालकर क्‍वारंटाइन सेंटर पहुंचा दिया. इसके अलावा समारोह में शामिल होने आए सभी लोगों की कोरोना जांच करने के साथ आइसोलेट करने के निर्देश दिए गए हैं. वहीं, इस बात की जानकारी मिलने के बाद दुल्‍हन पक्ष परेशान हो गया और उसकी सभी तैयारियों बेकार हो गईं.

बहरहाल, हमीरपुर के मौदहा सामुदायिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र केअधीक्षक डॉ. अनिल सचान के मुताबिक, दूल्‍हे धर्मेंद्र ने 22 मई को कोरोना टेस्‍ट कराया था. वहीं, दूल्‍हे की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद शादी समारोह को रोकना हमारी मजबूरी थी, क्‍योंकि इससे अन्‍य लोग कोरोना की चपेट में आ सकते थे.

Hamirpur News: रिश्तों का खून, भाई ने अपने ही सगे भाई को खेत पर जिंदा जलाया

 भाई ने भाई को जिंदा जलाकर मारडाला, घटना के बाद हत्यारोपी की गिरफ्तारी में जुटी हमीरपुर पुलिस (सांकेतिक तस्वीर)

हमीरपुर जिले के चिकासी थाना क्षेत्र के चुरहा गांव के रहने वाले ब्रजभान राजपूत का उसके सगे भाई रामकिशन राजपूत से किसी बात को लेकर विवाद हो गया. खेत में ही झगड़ा होने लगा, जिसके बाद रामकिशन ने अपने भाई ब्रजभान को पीट पीट कर घायल कर दिया. वह यहीं नहीं रुका. उसने वहां मौजूद फसल से उसको जिंदा जला दिया.

SHARE THIS:
हमीरपुर. उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh) के हमीरपुर ( Hamirpur) जिले में एक सनसनीखेज वारदात ने सबको हिला के रख दिया है. यहां एक आर फिर रिश्तों का खून करते हुए एक भाई ने ही सगे भाई को मारापीटा और बाद में खेत में ही उसको जिंदा जला दिया. घटना के बाद वह फरार हो गया. सूचना पर पहुंची पुलिस ने कार्रवाई शुरू करते हुए भाई सहित अन्य के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है. हमीरपुर जिले के चिकासी थाना क्षेत्र के चुरहा गांव के रहने वाले ब्रजभान राजपूत का उसके सगे भाई रामकिशन राजपूत से किसी बात को लेकर विवाद हो गया. खेत में ही झगड़ा होने लगा, जिसके बाद रामकिशन ने अपने भाई ब्रजभान को पीट पीट कर घायल कर दिया. वह यहीं नहीं रुका. उसने वहां मौजूद फसल से उसको जिंदा जला दिया. जिसके बाद उसकी दर्दनाक मौत हो गई.

इस घटना के बाद गांव के लोग दहल गए. घटना के बाद इस मामले की सूचना पुलिस को दी गई, जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंच गई. गांव के घटना स्थल पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम भेज दिया है और मृतक के पुत्र की तहरीर के आधार पर रामकिशन सहित अन्य के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करते हुए तलाश शुरू कर दी है. एएसपी अनूप सिंह ने बताया कि इस मामले में मुकदता दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी गई है. आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी की जाएगी.

हमीरपुर: यमुना में बहकर आ रहे शव, कोरोना संक्रमण की आशंका में मचा हड़कंप

हमीरपुर में यमुना नदी में कई शव तैरते दिखने से हड़कंप मचा है. (Photo: 
नदी में शवों की तस्वीर खींचता पुलिसकर्मी)

Hamirpur News: हमीरपुर के नायब तहसीलदार प्रमेंद्र सचान ने बताया कि कानपुर-सागर मार्ग पर यमुना नदी में पुल के पास कुछ जले-अधजले शव तैर रहे हैं. जांच की जा रही है कि ये शव कहां से आ रहे हैं.

SHARE THIS:
हमीरपुर. कोरोना संक्रमण के बीच हमीरपुर (Hamirpur) से चौंकाने वाली खबर आ रही है. यहां यमुना नदी में शव (Deadbody) बहकर आने का सिलसिला शुरू हो गय है. ज़िला मुख्यालय की शहर कोतवाली क्षेत्र से निकली यमुना नदी में आधा दर्जन शव तैरते देखे जा सकते हैं. आशंका जताई जा रही है कि ये शव दूर-दराज के इलाकों से बहकर आ रहे हैं. इस बीच नदी के पानी मे भी संक्रमण फैलने की आशंका प्रबल हो गई है. कोरोना संक्रमण के बीच शवों के बहकर आने से नदी के तटवर्ती इलाको में दहशत का माहौल है. बता दें 2 साल पहले भी इसी तरह से बहकर आधा दर्जन शव आए थे.

हमीरपुर के नायब तहसील दार प्रमेंद्र सचान ने बताया कि हमीरपुर के कानपुर-सागर मार्ग पर यमुना नदी में पुल के पास कुछ जले-अधजले शव तैर रहे हैं. जांच की जा रही है कि ये शव कहां से आ रहे हैं. उन्होंने कहा कि सूचना मिलते ही कार्रवाई की जा रही है.



तुम्हारा इलाका, मेरा इलाका करने में व्यस्त  पुलिस

उधर शव मिलने के बाद पुलिस कार्रवाई करने की बजाए क्षेत्र के चिन्हाकन में जुट गई है. हमीरपुर पुलिस ने फिलहाल कानपुर आउटर पुलिस को इसकी सूचना दी है. हमीरपुर मामले में एएसपी अनूप सिंह ने कहा कि यमुना नदी में कुछ शव बहकर आने की सूचना मिली है. प्रभारी निरीक्षक को मौके पर भेजा गया. उन्होंने बताया कि ये यमुना नदी के एक तरफ हमीरपुर है और दूसरी तरफ कानपुर आउटर है. पता चला कि शव कानपुर आउटर की तरफ हैं. इनको यमुना में प्रवाहित करके अंतिम संस्कार किया गया है. इस संबंध में कानपुर आउटर पुलिस को सूचना दे दी गई है. ऐसा प्रतीत हो रहा है कि इनका जल प्रवाह कर अंतिम संस्कार किया गया है.

UP Panchayat Chunav Result: हमीरपुर में पूर्व ब्लॉक प्रमुख की बहू को 1 वोट से हराकर प्रधान बना मजदूर

हमीरपुर: मजदूर से हारी सपा नेता और पूर्व ब्लॉक प्रमुख की बहू, ऐसे मिली चुनाव में जीत

सुमेरपुर ब्लाक की बड़ागांव ग्राम पंचायत में मतगणना पूरी होते ही परिणामों ने सबको चौंका दिया. ग्राम पंचायत प्रधान के लिए हरदौल निषाद ने 475 वोट पाकर जीत दर्ज की. हरदौल निषाद पूर्व ब्लाक प्रमुख की बहू को 1 वोट से हराकर बना प्रधान बना है.

SHARE THIS:
हमीरपुर. बुंदेलखंड के हमीरपुर में एक मजदूर ने सियासी जमीन पर कदम रखा है. मजदूरी और खेती पर आश्रित इस मजदूर ( laborer) ने गांव के सपा नेता की बहू को बेहद कड़े मुकाबले में पराजित किया. यहां मजदूर की जीत चर्चाओं में है. नया प्रधान मिलने से गांव में खुशी है. जीत में महज एक वोट का ही फासला रहा.

हमीरपुर जिले के सुमेरपुर ब्लाक के बड़ागांव ग्राम पंचायत के लिए प्रधानी का मुकाबला काफी रोचक रहा है. शुरू से ही इस गांव में पूर्व ब्लॉक प्रमुख जय नारायण यादव परिवार का दबदबा माना जा रहा था. मतदान के बाद किसी को नहीं लगा कि यहां एक मजदूर ही इतिहास रचेगा. सोमवार को सुमेरपुर ब्लाक की बड़ागांव ( Baragaon ) ग्राम पंचायत में मतगणना पूरी होते ही परिणामों ने सबको चौंका दिया. ग्राम पंचायत प्रधान के लिए हरदौल निषाद ने 475 वोट पाकर जीत दर्ज की. हरदौल निषाद पूर्व ब्लाक प्रमुख की बहू को 1 वोट से हराकर बना प्रधान बना है. परिणाम सामने आते ही हरदौल निषाद के समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गई.



हरदौल निषाद गांव के छोटे से परिवार से है. उसका गुजारा मजदूरी और खेती से ही चलता है. मजदूर की बेटी की एक साल पहले ही बेरहमी से हत्या कर दी गई थी. इस बार कुछ लोगों के कहने पर ही उसने इस बार प्रधान चुनाव के लिए पर्चा दाखिल कर दिया. उसका मुकाबला सपा नेता व पूर्व ब्लाक प्रमुख जय नारायण यादव की बहू से था. हरदौल ने बहुत सामान्य तरीके से चुनाव लड़ा. गांव के लोगों ने उसका साथ दिया और आखरकार उसने एक वोट से जीत हासिल कर ली.

यूपी पंचायत चुनाव: जानिए अब तक किन जिलों में मतगणना स्थलों से मिले हैं कोरोना पॉजिटिव केस

यूपी में मतगणना स्थल पर भारी भीड़ के बीच कई कोरोना पॉजिटिव मरीज मिल रहे हैं.

UP Panchayat Chunav: उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव की जारी मतगणना के बीच कई जिलों में काउंटिंग सेंटर्स से कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) मिल रहे हैं. इससे हड़कंप की स्थिति बन गई है.

SHARE THIS:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव (UP Panchayat Chunav) में सभी जगह मतगणना चल रही है. इस दौरान कई जिलों से चुनाव परिणाम भी आने शुरू हो गए हैं, लेकिन मतगणना स्थलों पर कोविड गाइडलाइन (COVID-19 Guidlines) के खुले उल्लंघन और अव्यवस्था ने लोगों को चिंतित कर दिया है. हालात ये हैं कि कई जिलों से मतगणना स्थल पर लोग कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) मिल रहे हैं.

कानपुर में घाटमपुर में बने मतदान केन्द्र पर 14 एजेंट कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं. ये मतगणना स्थल के बाहर एंटीजन जांच में पॉजिटिव पाए गए. मतगणना एजेन्ट के पॉजिटिव पाए जाने से हड़कम्प मच गया है.



रामपुर में मतगणना में लगे 9 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इनमें 8 शाहबाद और 1 मिलक में पॉजिटिव पाया गया है. आनन-फानन में पॉजिटिव कर्मचारियों की जगह दूसरे कर्मचारी लगाए गए.

सहारनपुर में 4 कोरोना पॉजिटिव मिलने से हड़कंप
सहारनपुर में भी मतगणना स्थल पर टेस्टिंग के दौरान 4 कोरोना पोजेटिव मिलने के बाद हड़कंप मच गया. सहारनपुर के सरसावा ब्लॉक के लिए डी.सी. जैन इंटर कॉलेज में सुबह 8 बजे मतगणना शुरू हुई. जिलाधिकारी अखिलेश सिंह एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. एस चिन्नपा ने मतगणना स्थल पहुंचकर निरीक्षण किया. इस दौरान मुख्य गेट पर सामुदायिक डॉक्टर्स की देख रेख में कोरोना टेस्ट किया गया, जिसमें 4 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए. उन्हें मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है.

उन्नाव में आरओ और मेरठ में एआरओ मिले पॉजिटिव
उधर उन्नाव के मौरावां विकासखण्ड में भी काउंटिंग सेंटर पर 2 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. इनमें एक आरओ और एक अन्य व्यक्ति एंटीजन में पॉजिटिव पाए गए हैं. डीएम रविंद्र कुमार, एसपी आनन्द कुलकर्णी ले रहे काउंटिंग स्थल का जायजा ले रहे हैं.

मेरठ मतगणना स्थल पर ARO समेत चार कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. मतगणना कर्मियों के कोरोना पॉजिटिव निकलने से हड़कंप मच गया. पता चला कि रेंडम टेस्टिंग के दौरान ये चारों पॉजिटिव पाए गए. थाना सरधना क्षेत्र के मतगणना स्थल का मामला है.

इटाावा कांग्रेस समर्थित प्रत्याशी के पति कोरोना संक्रमित
वहीं इटावा जिले के बढ़पुरा तृतीय से कांग्रेस समर्थित जिला पंचायत सदस्य पद की उम्मीदवार मंजू कटारे के पति कोरोना ग्रसित पाए गए हैं. महेश कटारे जिला पंचायत सदस्य पद के एजेंट हैं. डॉ. भीमराव अंबेडकर कृषि इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश के समय वह जांच में कोरोना संक्रमित पाए गए. महेश कटारे को होम आइसोलेट किया गया. यही नहीं इटावा के नवीन मंडी परिसर में चल रही मतगणना स्थल में जा रहे दो पोलिंग एजेंट कोरोना पॉज़िटिव निकले हैं. इनकी गेट पर प्रवेश के समय एन्टीजिन रिपोर्ट पॉजिटिव आई. दोनो एजेंट को होम आइसोलेट किया गया.

औरैया में बीडीओ पर गंभीर आरोप
इसी तरह औरैया के बीडीओ अश्वनी कुमार पर गंभीर आरोप लगे हैं. लोगों का आरोप ळै कि बीडीओ, अजीतमल कोरोना पॉजिटिव होने के बावजूद मतगणना स्थल पर मौजूद हैं. बीडीओ की लापरवाही से कोरोना संक्रमण बढ़ने का खतरा है. अजीतमल ब्लॉक का मामला हैँ.

हमीरपुर में भी 2 एजेंट कोरोना पॉजिटिव निकले हैं. डॉक्टरों की टीम के एंटीजन टेस्ट के दौरान ये पॉजिटिव निकले. दोनों प्रधान प्रत्याशियों के एजेंट हैं. सरीला ब्लॉक के चंडौत और धौवल गांव के एजेंट हैं.

UP Panchayat Chunav: हमीरपुर में दो घंटे से बेहोश पड़ा है मतदान अधिकारी, नहीं ले रहा कोई सुध

हमीरपुर जिले के एक पोलिंग बूथ पर घंटों से बेहोश पड़ा है एक मतदान अधिकारी।

Hamirpur Panchayat Chunav Voting: मामला हमीरपुर जिले के विकास खंड सुमेरपुर के टिकरौली बूथ का है, जहां पेशे से शिक्षक मनोज कुमार की चुनाव ड्यूटी लगी है. वह पीठासीन अधिकारी हैं.

SHARE THIS:
हमीरपुर. उत्तर प्रदेश के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (UP Panchayat Chunav 2021) के तीसरे चरण (Third Phase Polling) के तहत हमीरपुर में भी मतदान हो रहा है. तमाम दावों के बीच अव्यवस्थाओं का आलम यह है कि एक केंद्र पर मतदान अधिकारी दो घंटे से ज्यादा समय से बेहोश होकर जमीन पर गिरा पड़ा है और उसकी सुध लेने वाला कोई नहीं है. सूचना के बावजूद अभी तक न पुलिस मौके पर पहुंची है और न ही एम्बुलेंस.

मामला हमीरपुर जिले के विकास खण्ड सुमेरपुर के टिकरौली बूथ का है, जहां पेशे से शिक्षक मनोज कुमार की चुनाव ड्यूटी लगी है. वे पीठासीन अधिकारी हैं. अचानक तबीयत बिगड़ने पर वे बेहोश होकर गिर पड़े. इसके बाद से अभी तक उन्हें कोई मेडिकल सुविधा मुहैया नहीं कराई जा सकी है. इतना ही नहीं इस बूथ पर जमकर कोविड प्रोटोकॉल धज्जियां उड़ाई जा रही हैं.

कई जगह दिख रही अव्यवस्था
ऐसा नहीं है कि यह हाल सिर्फ एक बूथ का है. जिले में कई जगह कोरोना गाइडलाइन का पालन होता नहीं दिखाई दे रहा है. महिलाओं और पुरुषों की भीड़ एक साथ मतदान करने में लगी है. साथ ही एक मतदान अधिकारी भी बिहोश होकर पड़ा हुआ है, मगर उसकी सुध लेने वाला कोई नहीं है. मौके पर मौजूद सुरक्षाकर्मी भी महज मूकदर्शक बनकर अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं.

इन 20 जिलों में जारी है मतदान
यूपी पंचायत चुनाव के तीसरे चरण में अमेठी, उन्नाव, औरैया, कानपुर देहात, कासगंज, चंदौली, जालौन, देवरिया, पीलीभीत, फतेहपुर, फिरोजाबाद, बलरामपुर, बलिया, बाराबंकी, मेरठ, मुरादाबाद, मिर्जापुर, शामली, सिद्धार्थनगर और हमीरपुर में मतदान हो रहा है.

UP Panchayat Chunav: तीसरे चरण में मेरठ, बलिया सहित इन 20 जिलों में 26 अप्रैल को मतदान, देखें पूरी लिस्ट

यूपी पंचायत चुनाव के तीसरे चरण में 20 जिलों में मतदान होगा.  (न्यूज़ 18 ग्राफिक्स)

UP Panchayat Election: यूपी के 20 जिलों में पंचायत चुनाव के तीसरे चरण में 26 अप्रैल को मतदान होंगे. इसके लिए 13 से 15 अप्रैल तक नामांकन दाखिल किए जाएंगे, 16 और 17 अप्रैल को नामांकन पत्रों की जांच व 18 अप्रैल तक प्रत्याशी अपना नामांकन वापस ले सकते हैं.

SHARE THIS:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव 2021 (UP Panchayat Election 2021) का ऐलान हो गया है. चुनाव के ऐलान के साथ ही यूपी में आचार संहित लागू हो गई है. राज्य निर्वाचन आयोग ने 4 चरणों में मतगणना को ऐलान किया है. इसमें पहले चरण के तहत 15 अप्रैल को वोटिंग होगी. 19 को दूसरे, 26 को तीसरे और 29 अप्रैल को चौथे चरण के लिए वोटिंग होगी. 2 मई को पंचायत चुनाव का परिणाम आएगा.

चुनाव आयोग के अनुसार, कुल 20 जिलों में 26 अप्रैल को मतदान होगा. इनमें शामली, मेरठ, मुरादाबाद, पीलीभीत, कासगंज, फिरोजाबाद, औरैया, कानपुर देहात, जालौन, हमीरपुर, फतेहपुर, उन्नाव, अमेठी, बाराबंकी, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, देवरिया, चंदौली, मिर्जापुर और बलिया शामिल हैं.

आयोग के अनुसार 13 से 15 अप्रैल तक नामांकन दाखिल किए जाएंगे. इसके बाद 16 और 17 अप्रैल को नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी. 18 अप्रैल तक प्रत्याशी अपना नामांकन वापस ले सकते हैं. इसी दिन प्रतीकों का आवंटन भी कर दिया जाएगा. इसके बाद 26 अप्रैल को मतदान होगा और 2 मई को परिणाम आ जाएंगे.

पंचायत चुनाव- तीसरा चरण

नामांकन तिथि- 13 से 15 अप्रैल

नामांकन समीक्षा- 16, 17 अप्रैल

नामांकन वापसी- 18 अप्रैल

प्रतीक आवंटन- 18 अप्रैल

मतदान- 26 अप्रैल

मतगणना- 2 मई

पंचायत चुनाव से जुड़ी महत्‍वपूर्ण तिथियां

4 चरणों में होगा पंचायत चुनाव
15 अप्रैल को पहले चरण का मतदान
19 अप्रैल को दूसरे चरण का मतदान
26 अप्रैल को तीसरे चरण का मतदान
29 अप्रैल को चौथे चरण का मतदान
2 मई को शुरू होगी मतगणना

3 अप्रैल से नामांकन प्रकिया

3 अप्रैल से शुरू होगी पहले चरण की नामांकन की प्रक्रिया

दूसरे चरण में 7 अप्रैल से 8 अप्रैल तक किया जा सकेगा नामांकन

तीसरे चरण में 13 अप्रैल से 15 अप्रैल तक होगा नामांकन

चौथे चरण में 17 अप्रैल से 18 अप्रैल तक होगा नामांकन

UP Weather Update: नोएडा, मथुरा सहित इन 10 जिलों में पलटेगा मौसम, आंधी-बारिश का अलर्ट

उत्तर प्रदेश के कई जिलों में तेज आंधी और बारिश का अलर्ट जारी किया गया है. (सांकेतिक चित्र)

UP Weather Update: मौसम विभाग ने उत्तर प्रदेश, एनसीआर, मध्य प्रदेश और राजस्थान से सटे इलाकों में मौसम के तेज बदलाव का अनुमान लगाया है. इसे लेकर कई जिलों में आंधी-बारिश का अलर्ट जारी किया गया है.

SHARE THIS:
लखनऊ. पिछले कई हफ्तों से चले आ रहे मौसम (Weather) के मिजाज में बड़ा बदलाव देखने को मिल रहा है. उत्तर प्रदेश (Uttar Padesh) के कई जिलों में मौसम गुरुवार से ही बदला-बदला नजर आ रहा है. शुक्रवार और शनिवार को भी प्रदेश के कई हिस्सों में बारिश और तेज आंधी की संभावना जताई गई है. रविवार से प्रदेश के सभी इलाकों में मौसम फिर से खुलने की संभावना है.

मौसम विभाग के ताजा अनुमान के मुताबिक, उत्‍तर प्रदेश में एनसीआर (NCR) और राजस्थान, मध्य प्रदेश की सीमा से लगे जिलों में शुक्रवार को मौसम का मिजाज बदला रहेगा. इन इलाकों के 10 से ज्यादा जिलों में तेज आंधी और बारिश का अनुमान लगाया गया है. कई जिलों में तो गुरुवार को भी बारिश दर्ज की गई है.

गाजियाबाद सहित इन 6 जिलों में मौसम बदलने की संभावना
ताजा अनुमान के मुताबिक गाजियाबाद, नोएडा, बुलंदशहर, अलीगढ़, मथुरा और हाथरस में दोपहर बाद तक मौसम तेजी से पलट जाएगा. मौसम विभाग ने इन जिलों में 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी के चलने का अंदेशा जाहिर किया है. साथ ही साथ तेज बिजली चमकने और बारिश का भी अनुमान लगाया गया है. मौसम विभाग ने इन सभी जिलों को अलर्ट भेज दिया है.

आगरा से लेकर कानपुर तक आंधी-बारिश का अनुमान
इसके अलावा आगरा, जालौन, झांसी, कानपुर नगर और देहात और हमीरपुर में भी तेज आंधी के साथ बारिश का अनुमान लगाया गया है. कच्चे मकानों के धराशायी होने का भी अंदेशा जाहिर किया गया है, लेकिन शुक्रवार के मुकाबले शनिवार को प्रदेश के ज्यादातर जिलों में मौसम के बदलने का अंदेशा है.

रुहेलखंड, तराई और पूर्वांचल को छोड़ बाकी जगह अलर्ट
मौसम विभाग के अनुसार रूहेलखंड, तराई और पूर्वांचल के कुछ जिलों को छोड़कर बाकी सभी जिलों में बारिश और तेज आंधी का अलर्ट जारी किया गया है. सबसे ज्यादा प्रभावित राजस्थान और मध्य प्रदेश की सीमा से लगे जिलों में देखने को मिल सकता है. इसके अलावा प्रयागराज, वाराणसी, चंदौली, मिर्जापुर, सोनभद्र और गाज़ीपुर में भी बारिश का अनुमान है. मौसम में यह बदलाव पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता के कारण देखने को मिल रहा है. शनिवार की दोपहर तक मौसम साफ हो जाने का अनुमान है.

हमीरपुर में पत्नी की हत्या कर शव को जलाया, टीले से मिले मृतका के बाल और हड्डियां, आरोपी गिरफ्तार

 Keala: IUML कार्यकर्ता की हत्या के आरोपी की मौत

मृतका के भाई की सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर बाल और पैर की हड्डी अपने कब्जे में ले ली है. पुलिस ने महिला के पति रामस्वरूप को गिरफ्तार कर उससे कड़ाई से पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया

SHARE THIS:

हमीरपुर. उत्तर प्रदेश के हमीरपुर (Hamirpur) जिले में एक शख्स द्वारा अपनी पत्नी की हत्या (Murder) कर उसका शव जलाने (Dead Body Burnt) का मामला सामने आया है. पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. घटना मंझगवां थाना क्षेत्र के गौहानी गांव की है. पुलिस अधीक्षक (एसपी) नरेंद्र कुमार सिंह ने बुधवार को बताया कि गौहानी गांव की निवासी 35 वर्षीय महिला शकुंतला पिछले 20 फरवरी से लापता थी. महिला के पति रामस्वरूप ने महिला के भाई को उसके कहीं भाग जाने की सूचना दी थी.

उन्होंने बताया कि चित्रकूट जिले के मानिकपुर थाना क्षेत्र के पतेरिया गांव का रहने वाला महिला का भाई नरेंद्र कुमार सोनकर मंगलवार को रामस्वरूप को साथ लेकर खेतों में शकुंतला की तलाश कर रहा था, तभी एक टीले में कुछ बाल और टीले के नीचे गहराई में पैर की हड्डी मिलने पर उसे बहन की हत्या कर शव जलाने का शक हुआ. सिंह ने बताया कि महिला के भाई की सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर बाल और पैर की हड्डी अपने कब्जे में ले ली है. पुलिस महिला के पति रामस्वरूप को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ कर रही है.

वहीं मंझगवां थाने के प्रभारी निरीक्षक (SHO) रामजीत सिंह गौड़ ने बताया कि पुलिस की पूछताछ में रामस्वरूप ने अपनी पत्नी शकुंतला की हत्या कर शव जलाने का जुर्म स्वीकार कर लिया है, उसके खिलाफ हत्या और साक्ष्य (सबूत) मिटाने के आरोप के तहत मामला दर्ज किया गया है. उन्होंने कहा कि बरामद शव के अवशेष पोस्टमॉर्टम के लिए भेजे गए हैं. अवशेषों की डीएनए जांच भी कराई जाएगी.

एसएचओ ने बताया कि आरोपी रामस्वरूप ने 21 फरवरी को थाने में अपनी पत्नी के लापता होने की गुमशुदगी दर्ज करवाई थी. जिसके बाद पुलिस और उसके परिजन महिला की तलाश में जुटे थे. (भाषा से इनपुट)

Kanpur News: शादी से पहले युवक ने मंगेतर पर चाकू से किया हमला, मरा हुआ समझकर खुद भी लगाई फांसी

भोपाल की एक स्पोर्ट्स प्लेयर और स्कूल की स्पोर्ट्स टीचर की हरियाणा के रोहतक में हत्या हो गई है.

UP के हमीपुर में जालौन निवासी युवक के साथ 3 साल पहले शादी तय हुई थी. मंगेतर के घर पहुंचे युवक की किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई और उसने चाकू से हमला कर दिया.

SHARE THIS:

हमीरपुर. हमीरपुर के मझगवां थाना क्षेत्र के इटौरा गांव निवासी धनाराम जोशी की पुत्री ज्योति की शादी जालौन के सैदनगर निवासी देवेंद्र कुमार के साथ तय हुई थी. तीन साल पहले मंगनी हुई थी. उसके बाद से ही देवेंद्र कुमार अपनी मंगेतर ज्योति से मिलने के लिए अक्सर उसके घर आता रहता था. बुधवार को भी वह उसके यहां पहुंचा, उसके और ज्योति के बीच कुछ बातों को लेकर कहा-सुनी हो गई. इसके बाद उसने चाकू से ज्योति पर हमला कर दिया. इस दौरान उसकी सहेली ने उसे रोकने की कोशिश की, लेकिन देवेंद्र ने उस पर भी चाकू से हमला कर दिया. बाद में ज्योति को मरा हुआ समझकर खुद उसके दुपट्टे का फंदा  बनाया और फांंसी लगा लीी.

जानकारी के मुताबिक, बुधवार दोपहर 1 बजे ज्योति पड़ोस की रहने वाली सरोज पुत्री दशाराम खंगार के साथ खेत गई थी. तभी देवेंद्र कुमार भी वहां पहुंच गया. सरोज के मुताबिक ज्योति और देवेंद्र के बीच तकरीबन 2 घंटे तक बातचीत होती रही. अचानक देवेंद्र ने ज्योति पर चाकू से हमला कर दिया. चाकू से कई वार करने के बाद सरोज ने उसे रोकने का प्रयास किया, लेकिन तब तक देवेंद्र ने उस पर भी चाकू से वार कर दिया.

सरोज ने बताया कि ज्योति को मृत समझकर देवेंद्र उसके दुपट्टे का फंदा बनाकर बबूल के पेड़ से लटक गया. जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई. सूचना पर स्वजन और मझगवां थानाध्यक्ष रामजीत गौड़ पुलिस फोर्स के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और घायल ज्योति व सरोज को सरकारी अस्पताल ले गए. यहां से प्राथमिक उपचार के बाद घायल ज्योति को झांसी मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया. बताया जाता है कि ज्योति के माता-पिता आगरा में रहकर ईंट भट्ठे पर मजदूरी करते हैं.

राठ क्षेत्र के CO  परमानंद द्विवेदी ने बताया कि तीन महीने बाद दोनों की शादी होनी थी. बुधवार को देवेंद्र मिलने आया था. तभी दोनों के बीच विवाद होने के बाद युवती के गले में वार कर दिया और खून बहता देख उसकी के दुपट्टे से फांसी लगा ली. युवक के स्वजन के आने का इंतजार है. इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

Load More News

More from Other District

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज