Home /News /uttar-pradesh /

हमीरपुर के जांबाज को अंतिम विदाई देने उनके गांव में उमड़ा जनसैलाब, बेटी ने दी मुखाग्नि

हमीरपुर के जांबाज को अंतिम विदाई देने उनके गांव में उमड़ा जनसैलाब, बेटी ने दी मुखाग्नि

हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर के जांबाज का आज उनके पैतृक गांव में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया.

हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर के जांबाज का आज उनके पैतृक गांव में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया.

Navy Dockyard Accident: मुंबई के नजदीक युद्धपोत INS रणवीर हादसे में शहीद हमीरपुर के जांबाज सुरेंद्र ढटवालिया की पार्थिव देह शुक्रवार को पैतृक गांव पहुंची. राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया. शहीद को उनकी बेटी ने अपने पिता को मुखाग्नि दी. भारतीय नौसेना में एमसीपीओ रैंक के अधिकारी सुरेंद्र ढटवालिया मंगलवार को मुंबई के नजदीक युद्धपोत आईएनएस में हुए विस्फोट में शहीद हुए नौसेना के 3 जवानों में शामिल थे.

अधिक पढ़ें ...

हमीरपुर. नेवी डॉकयार्ड मुंबई में युद्धपोत आईएनएस रणवीर हादसे (INS Ranveer Accident) में शहीद हमीरपुर के जांबाज सुरेंद्र ढटवालिया (Surendra Thatwalia) की पार्थिव देह शुक्रवार को उनके पैतृक गांव लाई गई. दोपहर के समय राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया और शहीद को उनकी बेटी ने मुखाग्नि दी. इस मौके पर विधायक इंद्रदत लखनपाल, भाजपा प्रदेश प्रवक्ता विनोद ठाकुर के अलावा काफी संख्या में स्थानीय लोग मौजूद रहे.

युद्धपोत आईएनएस रणवीर हादसे में शहीद हमीरपुर के जांबाज सुरेंद्र ढटवालिया की पार्थिव देह शुक्रवार को पैतृक गांव पहुंची. राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया. शहीद को उनकी बेटी ने अपने पिता को मुखाग्नि दी. भारतीय नौसेना में एमसीपीओ रैंक के अधिकारी सुरेंद्र ढटवालिया मंगलवार को मुंबई के नजदीक युद्धपोत आईएनएस में हुए विस्फोट में शहीद हुए नौसेना के 3 जवानों में शामिल थे.

राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार 

हमीरपुर उपायुक्त देव श्वेता बनिक ने बताया कि युद्धपोत आईएनएस रणवीर हादसे में शहीद हमीरपुर के जांबाज सुरेंद्र ढटवालिया की पार्थिव देह शुक्रवार को पैतृक गांव पहुंची है. राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया है.

INS में हुए विस्फोट में हुए थे शहीद 

उल्लेखनीय है कि भारतीय नौसेना में एमसीपीओ रैंक के अधिकारी सुरेंद्र ढटवालिया मंगलवार को मुंबई के नजदीक युद्धपोत आईएनएस में हुए विस्फोट में शहीद हो गए थे. सुरेंद्र ढटवालिया जिला हमीरपुर के उपमंडल बड़सर की ग्राम पंचायत सठवीं के रहने वाले थे. उनके शहीद होने की सूचना मिलने के बाद पैतृक गांव सठवीं में शोक की लहर है. शहीद सुरेंद्र ढटवालिया अपने पीछे माता केहरो देवी, पत्नी नीलम कुमारी और दो बेटियां अंशिका तथा काजल को छोड़ गए हैं.

Tags: Himachal news, India Navy, Major accident

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर