होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

सपना कश्यप का अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में खेलने का पूरा होगा सपना, दो घंटे में मिला पासपोर्ट

सपना कश्यप का अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में खेलने का पूरा होगा सपना, दो घंटे में मिला पासपोर्ट

मालदीव में होने वाले अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट के लिए भारतीय हैंडबॉल टीम में चुनी गईं सपना कश्यप को महज दो घंटे में नया पासपोर्ट बनकर मिल गया.

मालदीव में होने वाले अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट के लिए भारतीय हैंडबॉल टीम में चुनी गईं सपना कश्यप को महज दो घंटे में नया पासपोर्ट बनकर मिल गया.

भारतीय हैंडबॉल टीम में चुनी गईं सपना कश्यप को 25 जून को लखनऊ से दिल्ली के लिए फ्लाइट पकड़नी थी और वहां से अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में खेलने के लिए भारतीय टीम के साथ मालदीव रवाना होना था. हालांकि सपना के पासपोर्ट में धब्बा होने के कारण एयरपोर्ट अधिकारियों ने उन्हें फ्लाइट पर चढ़ने नहीं दिया.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. भारतीय हैंडबॉल टीम में चुनी गईं सपना कश्यप का मालदीव में होने वाले अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में खेलने का सपना आखिरकार पूरा होने वाला है. दरअसल इनके पासपोर्ट खराब हो जाने के कारण उनके इस सपने में रोड़ा अटकने का डर था. हालांकि राजधानी लखनऊ के क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी कनिष्क शर्मा ने उनकी समस्या समझते हुए महज दो घंटे के अंदर उनको नया पासपोर्ट बनवा कर दे दिया. यह अपने आप में एक रिकॉर्ड भी है.

दरअसल मालदीव में 3 जुलाई से अंतरराष्ट्रीय वुमंस हैंडबॉल टूर्नामेंट शुरू होने वाला है. इसके लिए कानपुर के मालरोड कुरसवां की रहने वाली सपना कश्यप को भी भारतीय टीम में जगह दी गई थी. उन्हें 25 जून को लखनऊ से दिल्ली के लिए फ्लाइट पकड़नी थी और वहां से भारतीय टीम के साथ मालदीव रवाना होना था. हालांकि सपना के पासपोर्ट में धब्बा होने के कारण एयरपोर्ट अधिकारियों ने उन्हें फ्लाइट पर चढ़ने नहीं दिया.

सपना कश्यप बताती हैं, ‘मालदीव में टूर्नामेंट के लिए दो लड़कियों का सिलेक्शन हुआ था. मेरा पासपोर्ट डैमेज हो गया था. फिर हमने पासपोर्ट अधिकारी से संपर्क किया. हमें तुरंत वहां अपॉइंटमेंट मिला और फिर 2 घंटे के अंदर पासपोर्ट मुझे मिल गया.’

वह कहती हैं, ‘पासपोर्ट अधिकारी ने तरह से जिस तरह से व्यवहार किया मैं इससे बहुत खुश हूं. ऐसा मैंने कभी देखा- सुना नहीं था कि पासपोर्ट इतनी जल्दी मिल जाता है. मैं सभी अधिकारियों का धन्यवाद करती हूं और मेडल लेकर आने की मेरी पूरी कोशिश है.

वहीं पासपोर्ट अधिकारी कनिष्क शर्मा इस बारे में कहते हैं, ‘सपना कश्यप के बारे में मैंने मीडिया में देखा कि ये फ्लाइट टाइम से नहीं ले पाईं, क्योंकि इनका पासपोर्ट डैमेज था. हमने सोचा हमारे हाथ में जो भी है, हम सहायता करेंगे. महत्वपूर्ण केस को देखते हुए हमने इनको ऑफिस बुलाया और 2 घंटे में इनको पासपोर्ट जारी कर दिया. हम इनको शुभकामनाएं देते हैं कि यह जाएं और जीत के आएं.’

Tags: Handball, Maldives, Passport

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर