होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

UP Election: असदुद्दीन ओवैसी बोले- ना डरने वाला हूं, ना सिक्योरिटी लूंगा, चुनाव प्रचार जारी रखूंगा

UP Election: असदुद्दीन ओवैसी बोले- ना डरने वाला हूं, ना सिक्योरिटी लूंगा, चुनाव प्रचार जारी रखूंगा

ओवैसी के काफिले पर फायरिंग करने वाले दोनों व्यक्तियों सचिन और शुभम को गुरुवार रात ही गिरफ्तार कर लिया था. (File photo)

ओवैसी के काफिले पर फायरिंग करने वाले दोनों व्यक्तियों सचिन और शुभम को गुरुवार रात ही गिरफ्तार कर लिया था. (File photo)

UP Election Politics: आरोपियों ने पुलिस को बताया कि AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने वर्ष 2013-14 में राम मंदिर को लेकर बयान दिया था, जिससे वे आहत थे. इसी कारण उन्‍होंने ओवैसी के काफिले पर हमला किया. पुलिस के मुताबिक सचिन और शुभम ने 9 एमएम की पिस्टल से ओवैसी के काफिले पर फायरिंग की थी. पुलिस ने आरोपियों के पास से दो पिस्टल और आल्टो कार बरामद की है. उधर, हापुड़ जिला प्रशासन ने चुनाव आयोग को असदुद्दीन ओ‍वैसी पर फायरिंग की रिपोर्ट भेजी है.

अधिक पढ़ें ...

हापुड़. ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की गाड़ी पर गुरुवार शाम को हापुड़ के नजदीक छजारसी टोल प्‍लाजा के पास दो युवकों ने फायरिंग की थी. फायरिंग के दौरान ओवैसी बाल-बाल बच गए. शुक्रवार को ओवैसी ने एक ट्वीट के जरिए अपने विरोधियों को एक संदेश देने की कोशिश की. इस ट्वीट में ओवैसी ने लिखा- ‘ना डरने वाला हूं, ना सिक्योरिटी लेने वाला हू. मैं अपना चुनाव प्रचार जारी रखूंगा. अगर किसी माई के लाल में दम है तो मार के दिखाए मुझे. पुलिस ने ओवैसी के काफिले पर फायरिंग करने वाले दोनों व्यक्तियों सचिन और शुभम को गुरुवार रात ही गिरफ्तार कर लिया था.

हमले का आरोपी सचिन पंडित ग्रेटर नोएडा के बादलपुर थाना का रहने वाला है. दुरयाई गांव के रहने वाले सचिन के पिता विनोद पंडित प्राइवेट कंपनियों में ठेकेदार हैं. सचिन लॉ का स्टूडेंट रहा है. वहीं दूसरा आरोपी शुभम सहारनपुर का रहने वाला है. शुभम 10वीं पास है और खेती करता है. पुलिस की अब तक की जांच में शुभम का कोई क्रिमिनल बैकग्राउंड नहीं निकला है. पूछताछ में शुभम और सचिन ने बताया है कि ये दोनों ओवैसी और उनके छोटे भाई के बयानों से नाराज थे. फेसबुक, ट्विटर, सोशल मीडिया पर ये ओवैसी भाइयों के भाषण सुनते थे और उनसे बेहद नफरत करते थे.

आरोपियों ने पुलिस को बताया कि AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने वर्ष 2013-14 में राम मंदिर को लेकर बयान दिया था, जिससे वे आहत थे. इसी कारण उन्‍होंने ओवैसी के काफिले पर हमला किया. पुलिस के मुताबिक सचिन और शुभम ने 9 एमएम की पिस्टल से ओवैसी के काफिले पर फायरिंग की थी. पुलिस ने आरोपियों के पास से दो पिस्टल और अल्टो कार बरामद की है. उधर, हापुड़ जिला प्रशासन ने चुनाव आयोग को असदुद्दीन ओ‍वैसी पर फायरिंग की रिपोर्ट भेजी है. एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी पर हमले का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

Tags: Akhilesh yadav, Asaduddin owaisi, CM Yogi, UP Election 2022

अगली ख़बर