• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • HAPUR HAPUR AROUND 90 DALIT FAMILIES HAVE PUT POSTERS OF MAKAN BIKAU HAI ON THEIR HOUSES FACING LACK OF BASIC AMENITIES NODMK8

हापुड़ में 90 दलित परिवारों ने अपने घरों पर लगाए 'मकान बिकाऊ है' के पोस्टर, मचा हड़कंप

आदर्श नगर कॉलोनी में रहने वाले 80-90 दलित परिवारों ने यहां मूलभूत सुविधाएं नहीं होने पर यह कदम उठाया है (फोटो: ANI)

गरीबी की मार झेल रहे इन दलित परिवारों का कहना है कि इलाके में पिछले दो-तीन वर्षो से पानी की सुविधा नहीं है. साथ ही यहां की सड़कें भी टूटी-फूटी हैं. बरसात में मौसम में घरों में बारिश का पानी भर जाता है जिससे यहां रहने वालों को काफी परेशानी होती है

  • Share this:
    हापुड़. अलीगढ़ के बाद अब उत्तर प्रदेश के हापुड़ (Hapur) में दलित बस्तियों में 'मकान बिकाऊ है' के पोस्टर लगाने का मामला सामने आया है. यहां लगभग 80 से 90 दलित परिवारों ने इलाके में सड़क, पानी और अन्य सुविधाएं नहीं होने के कारण अपने-अपने घरों पर 'मकान बिकाऊ है' (House For Sale) के पोस्टर लगाए हैं. कहने को तो यहां सरकारी नल लगा हुआ है लेकिन उसमें पानी नहीं आता है. दलितों के मुताबिक बार-बार शिकायत करने के बावजूद भी उनकी समस्या का निवारण नहीं किया गया. जिसके बाद उन्होंने अपने-अपने घरों के बाहर 'मकान बिकाऊ है' (Makan Bikau Hai) के पोस्टर लगा दिए. इतनी संख्या में लोगों के अपने घरों पर 'मकान बिकाऊ है' के पोस्टर लगाने से प्रशासन में हड़कंप मच गया है.

    न्यूज़ एजेंसी एएनआई के अनुसार हापुड़ जिला मुख्यालय से कुछ किलोमीटर दूर आदर्श नगर कॉलोनी को वर्ष 2005 में दलितों ने बसाया गया था. समय के साथ यहां सैकड़ों दलित परिवार ने घर और ठिकाना बनाकर रहने लगे थे. गरीबी की मार झेल रहे इन परिवारों का कहना है कि यहां पिछले दो-तीन वर्षो से पानी की सुविधा नहीं है. साथ ही यहां की सड़कें भी टूटी-फूटी हैं. बरसात में मौसम में घरों में बारिश का पानी भर जाता है जिससे यहां रहने वालों को काफी परेशानी होती है.



    उनका यह भी कहना है कि कई बार अधिकारियो से इसकी शिकायत की गयी लेकिन अभी तक समस्या जस का तस है. अधिकारी उनकी बातों को सुनकर अनसुना कर देते हैं. समस्या के निवारण के लिए धरना-प्रदर्शन भी किया गया लेकिन इसका कोई नतीजा नहीं निकला. इसके बाद यहां रहने वाले 80-90 दलित परिवारों ने विवश होकर अपने घरों के बाहर 'यह मकान बिकाऊ है' के पोस्टर लगा दिए.

    मामला सामने आने के बाद अधिकारियों में हड़कंप मच गया है. जिसके बाद अब वो जल्द यहां का सर्वे करवाकर समस्याओं का समाधान करने की बात कह रहे हैं.