Home /News /uttar-pradesh /

दिल्ली हिंसा में हापुड़ के सुलेमान ने गंवाई जान, परिजनों को इंसाफ का इंतजार

दिल्ली हिंसा में हापुड़ के सुलेमान ने गंवाई जान, परिजनों को इंसाफ का इंतजार

दिल्ली हिंसा में हापुड़ के सुलेमान ने गंवाई जान (file photo)

दिल्ली हिंसा में हापुड़ के सुलेमान ने गंवाई जान (file photo)

सुलेमान की मौत के दो दिन बाद परिजनों को जीटीबी अस्पताल में उसका शव मिला. सुलेमान के साथ मजदूरी करने दिल्ली गए मामूर ने बताया कि वह सभी काम कर रहे थे तभी दिल्ली में हिंसा भड़क उठी.

हापुड़. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के उत्तर-पूर्वी इलाके में हुई हिंसा (Delhi Violence) का शिकार बना हापुड़ का गरीब मजदूर सुलेमान. जनपद के बाबूगढ़ थाना क्षेत्र के गांव भीकनपुर के रहने वाले गरीब मजदूर सुलेमान की इलाज के दौरान मौत हो गई. सुलेमान (20) का शव परिवार को जीटीबी अस्पताल में मिला. जहां परिजनों ने उसकी शिनाख्त की. बताया जा रहा है कि सुलेमान को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया था. सुलेमान दिल्ली में रहकर राजमिस्त्री का काम करता था.

दरअसल सुलेमान के गांव के रहने वाले कई लोग दिल्ली में मजदूरी करते है. सुलेमान भी उनके साथ लेंटर पर सरिया बांधने का काम करता था. दिल्ली हिंसा वाले दिन सुलेमान अपने साथियों के साथ एक फैक्ट्री की छत पर मजदूरी कर रहा था. इसी दौरान दिल्ली में हिंसा भड़की तो सुलेमान अपने साथियों के साथ वहां से निकल गया, लेकिन रास्ते में भीड़ ने सुलेमान और उसके साथियों को घेर लिया. सभी के साथ मारपीट की गई और सुलेमान के सिर पर भी हमला किया गया.

सुलेमान के साथी तो किसी तरह बचकर भागने में कामयाब रहे, लेकिन वह भीड़ से घिर गया था. भीड़ ने सुलेमान के साथ जमकर मारपीट की थी. घायल अवस्था में सुलेमान को अस्पताल में भर्ती कराया गया था लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका. सुलेमान की मौत के दो दिन बाद परिजनों को जीटीबी अस्पताल में सुलेमान की लाश मिली. सुलेमान के साथ मजदूरी करने दिल्ली गए मामूर ने बताया कि वह सभी काम कर रहे थे तभी दिल्ली में हिंसा भड़क उठी.

दिल्ली में हिंसा के दौरान वह सभी लोग अपने घरों के लिए वहां से निकल गए लेकिन रास्ते में भीड़ ने घेर लिया. सुलेमान को भीड़ ने पकड़ कर जमकर पीटा. बाकी लोग तो किसी तरह बचकर निकल आए लेकिन सुलेमान हिंसा की भेंट चढ़ गया. फिलहाल मृतक सुलेमान के परिजन दिल्ली सरकार से इंसाफ की उम्मीद लगाए हुए है. वहीं परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है. परिजनों के मुताबिक सरकार दंगाइयों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करे.

ये भी पढ़ें:

कानपुर में कुत्तों ने महिला को पहुंचाया अस्पताल, मदद के बजाये पुलिसवालों ने किया ये सलूक

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर