Hapur News: कब्र खोदकर महिला शवों का निकाला सिर, पुलिस भी बनी चकरघिन्‍नी

उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में तीन कब्रें खोदकर सिर निकाल लेने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में तीन कब्रें खोदकर सिर निकाल लेने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. (फाइल फोटो)

हापुड़ जिले में महिलाओं की तीन कब्रें खोदी गईं, उनमें से दो शवों के सिर गायब हैं, पुलिस को तांत्रिक क्रिया का शक है. इस मामले के सामने आने के बाद इलाके में हड़कंप मचा हुआ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2021, 2:07 PM IST
  • Share this:
हापुड़. उत्तर प्रदेश के हापुड़ से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. यहां महिलाओं की तीन कब्र खोदकर शव का सिर निकालने की घटना सामने आई है. मामला जिले के पिलखुआ कोतवाली क्षेत्र के डुहरी के कब्रिस्तान का है. कब्रिस्तान में 4 कब्रें खुदी हुई मिलने से इलाके में हड़कंप मच गया है. इनमें से दो महिला शवों के सिर भी गायब मिले हैं. मामले की सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में लोग कब्रिस्तान पहुंच गए. स्थानीय लोगों ने पुलिस को पूरे मामले की जानकारी दी है.

मामले की गंभीरता को देखते हुए हापुड़ पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और लोगों से पूछताछ कर मामले की जांच में जुट गई है. स्थानीय लोगों की बीच चर्चा है कि तांत्रिक क्रियाओं के लिए कब्र खोदी गई हैं. अंदाजा लगाया जा रहा है कि तांत्रिक क्रिया में इस्तेमाल के लिए महिलाओं की लाशों से सिर को ले जाया गया है. पुलिस मौके पर लोगों और संबंधित परिवारों से पूछताछ कर रही है. सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए पुलिस जांच में जुट गई है.

Youtube Video


जानकारी के मुताबिक, हापुड़ के जिस कब्रिस्तान में कब्रों को खोदा गया है, वे एक ही गांव की हैं. एक महिला का नाम बानो पत्नी हाजी महरबान बताया गया है, जिनकी मौत अक्टूबर 2020 में हुई थी, वहीं, दूसरी लाश हबीब की पत्नी नूरजहां की है, जिनकी मौत 5 साल पहले हुई थी. तीसरी कब्र सायरा पत्नी शहजाद की खोदी गई, उनकी मौत 11 वर्ष पहले हुई थी. तीनों कब्रों की पहचान मृतकों के परिजनों द्वारा की गई है.
पुलिस ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है. सिर गायब होने की पुष्टि नहीं हो सकी है. परिजनों द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर कब्र क्षतिग्रस्त करने के मामले में शिकायत दर्ज की गई है. पुलिस जांच कर रही है कि आखिर कब्र किसने और क्यों खोदीं. वहीं गांव के लोगों का कहना है कि इससे पहले यहां ऐसा कभी नहीं हुआ.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज