लाइव टीवी

शिवलिंग तोड़ने के आरोप में BJP ने अरुण मौर्या को पार्टी से किया निलंबित, बजरंग दल का अल्टीमेटम

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 17, 2019, 11:27 AM IST
शिवलिंग तोड़ने के आरोप में BJP ने अरुण मौर्या को पार्टी से किया निलंबित, बजरंग दल का अल्टीमेटम
शिवलिंग तोड़ने जाने के विरोध में सड़क पर उतरे लोग

शिवलिंग (Shivling) तोड़ने के आरोप में बीजेपी (BJP) ने अरुण मौर्या (Arun Maurya) को पार्टी से निलंबित कर दिया है. साथ ही एक जांच टीम भी गठित की है, जो तीन दिन के अंदर रिपोर्ट देगी.

  • Share this:
भार्तीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) ने हरदोई (Hardoi) में शिवलिंग तोड़ने के आरोप में अरुण मौर्या (Arun Maurya) को पार्टी से निलंबित (suspended) कर दिया. साथ ही बीजेपी ने तीन सदस्यीय जांच टीम भी गठित की है, जो तीन दिन के अंदर रिपोर्ट देगी. कहा जा रहा है कि अरुण मौर्या पुलिस की गिरफ्तारी के डर से अभी फरार चल रहे हैं. वहीं, इस घटना ने धीरे-धीरे पूरे शहर में बड़ा रूप धारण कर लिया है. अब तमाम हिंदू संगठनों (Hindu organizations) ने बवाल मचाना शुरू कर दिया है.

हिंदू संगठनों ने सोमवार को चौराहों को जाम कर दिया
जानकारी के मुताबिक, हिंदू संगठनों ने सोमवार को चौराहों को जाम कर दिया और जमकर बवाल काटा. हिंदू संगठन का कहना है कि अगर बीजेपी नेता की गिरफ्तारी नहीं होती है तो यह आंदोलन और भी उग्र होता चला जाएगा. वहीं पार्टी शीर्ष नेतृत्व की तरफ से अब बीजेपी नेता के खिलाफ जांच कराई जा रही है. फिलहाल, उनको पार्टी पद से कार्यमुक्त कर दिया गया है. सूत्रों का कहना है कि अरुण मौर्या को प्रदेश के उप मुख्यमंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या का राइट हैंड माना जाता है. यही वजह है कि अरुण मौर्या पर पुलिस कर्रवाई करने से घबरा रही है.

हरदोई में अराजक तत्वों ने मंदिर परिसर में घुसकर शिवलिंग तोड़ दिया था

बता दें कि रविवार की रात को हरदोई में अराजक तत्वों ने मंदिर परिसर में घुसकर शिवलिंग तोड़ दिया था. इससे आसपास के इलाके में तनाव फैल गया था. तनाव को देखते हुए मौके पर भारी संख्या में पुलिसबल की तैनाती कर दी गई थी. वहीं, लोगों ने भाजपा नेता अरुण मौर्या समेत 200 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था. मामला कोतवाली शहर इलाका स्थित सुभाष नगर मोहल्ले का है.

अरुण मौर्या के नेतृत्व में कुशवाहा समाज के लोगों की एक मीटिंग हुई थी
बताया जाता है कि मंदिर परिसर में भाजपा नेता अरुण मौर्या के नेतृत्व में कुशवाहा समाज के लोगों की एक मीटिंग हुई थी, जिसमें कुशवाहा समाज की भूमि पर मंदिर बनाए जाने को लेकर चर्चा हुई थी. सूत्रों की माने तो कथित तौर पर इस मीटिंग के बाद शिवलिंग को तोड़ दिया गया. घटना के बाद लोगों में आक्रोश फैल गया और मौके पर भीड़ इकट्ठा हो गई. मामले की सूचना पुलिस को दी गई. वहीं, बजरंग दल के लोगों ने हरदोई पुलिस को अल्टीमेटम देते हुए कहा है कि अगर जल्द ही पुलिस ने आरोपी बीजेपी नेता की गिरफ्तारी नहीं की तो आंदोलन और उग्र हो जाएगा.रिपोर्ट- आशीष मिश्रा

ये भी पढ़ें- 

संतोष गंगवार के 'नौकरी' वाले पर बयान पर प्रियंका का पलटवार, कहा- ये नहीं चलेगा

कांग्रेस नेता PL पुनिया बोले- BJP के खिलाफ बोलने का खामियाजा भुगत रहे हैं आजम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए हरदोई से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 17, 2019, 10:11 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर