Home /News /uttar-pradesh /

मां को पानी लाने भेजकर अस्पताल में डॉक्टरों ने की नाबालिग दलित लड़की से कथित छेड़खानी

मां को पानी लाने भेजकर अस्पताल में डॉक्टरों ने की नाबालिग दलित लड़की से कथित छेड़खानी

पुलिस मामले की जांच कर रही है. सांकेतिक फोटो.

पुलिस मामले की जांच कर रही है. सांकेतिक फोटो.

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर जिला महिला चिकित्सालय में भर्ती नाबालिग दलित लड़की (Dalit Girl) से कथित छेड़खानी का मामला सामने आया है.

फतेहपुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर जिला महिला चिकित्सालय में भर्ती नाबालिग दलित लड़की (Dalit Girl) से कथित छेड़खानी का मामला सामने आया है. आरोप है कि पीड़िता की मां को पानी लाने के बहाने बाहर भेजकर अस्पताल के दो डाक्टरों ने उसके साथ कथित छेड़खानी की है. जब पीड़िता की मां पानी लेकर वापस आई तो पीड़िता ने छेड़खानी की पूरी घटना अपनी मां से बताई, जिसके बाद परिजनों ने घटना की सूचना पुलिस को दी. सूचना के बाद सीओ सिटी और सदर कोतवाली पुलिस अस्पताल पहुंची और पीड़िता का बयान दर्ज कर मामले की जांच-पड़ताल शुरू कर दी. वहीं इस मामले में 24 घंटे बाद भी पुलिस अफसरों की तरफ से कोई आधिकारिक बयान सामने नही आया है. पुलिस अधिकारी मीडिया के सवालों से बचते रहें है.

फतेहपुर जिला महिला चिकित्सालय में भर्ती नाबालिग दलित लड़की से कथित छेड़खानी की वारदात के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया. घटना की सूचना के बाद सीओ सिटी संजय सिंह सदर कोतवाली पुलिस के साथ अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में पहुंचे और पीड़िता का बयान दर्ज मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी. घटना के 18 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस ने केस नही दर्ज किया था. बीते गुरुवार की रात करीब 10 बजे पुलिस फिर अस्पताल पहुंची और बुधवार की रात ड्यूटी पर तैनात सभी डाक्टरों से लंबी पूछताछ की. जब पुलिस ने ड्यूटी पर तैनात डाक्टरों की पहचान के लिए पीड़िता के सामने पेश किया तो पीड़िता ने एक आरोपी डॉक्टर की पहचान कर ली है, जिसके बाद पुलिस पीड़िता के परिजनों से तहरीर लेकर वापस थाने चली गई.

इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती
पीड़िता की बड़ी बहन ने बताया कि वह गाजीपुर थाना क्षेत्र की रहने वाली है. बुधवार को उसकी छोटी बहन की तबियत खराब हो गई थी, जिसे इलाज के लिए जिला महिला चिकित्साल में भर्ती कराया गया था. बुधवार की रात करीब 2 बजे अस्पताल के दो डाक्टर उसके बहन के पास आये और उसकी मां से ताजा पानी लाने के लिए बोला. जब उसकी मां पानी लेने के लिए बाहर चली गई तो दोनो डाक्टरों ने उसकी छोटी बहन को कमरे में ले जाकर उसके साथ छेड़खानी की. वहीं इस मामले में पीड़िता का कहना है कि उसके साथ छेड़खानी करने वाले दोनों डॉक्टर अस्पताल के ही स्टाफ हैं. वह उनका नाम तो नहीं जानती लेकिन सामने आने पर उन्हें जरूर पहचान जाएगी.

Tags: Hardoi, Uttar pradesh news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर