Hardoi news

हरदोई

अपना जिला चुनें

Hardoi News: गन्ने के खेत में दौड़ रहा था करंट, पिता-पुत्र की मौत से मचा कोहराम

गन्ने के खेत में दौड़ रहा था करंट

गन्ने के खेत में दौड़ रहा था करंट

एएसपी (ASP) अनिल यादव ने बताया कि पुलिस ने शवों को कब्जे में ले लिया और खेत में करंट प्रवाहित करने वाले धर्मपाल और उसके पुत्र चीनू को हिरासत में ले लिया.

SHARE THIS:
हरदोई. उत्तर प्रदेश के हरदोई (Hardoi) में रविवार सुबह पचदेवरा थाना क्षेत्र के ग्राम भाहपुर धर्मपुर निवासी टुल्लू उर्फ सुल्तान (43) व उसके पुत्र गोविंद (7) का शव गन्ने के खेत में पड़ा मिला. बताया जा रहा है कि खेत में करंट लगने से दोनों की मौत हुई है. घटना से क्षेत्र में सनसनी फैल गई. सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस जांच में जुटी है. वहीं पुलिस करंट लगने से दोनों की मौत का दावा कर रही है. पिता- पुत्र शाहजहांपुर जनपद के अल्लागंज थाना क्षेत्र के रहने वाले थे.

जानकारी के अनुसार, शाहजहांपुर जनपद के अल्लाहगंज के ग्राम धर्मपुर पिंडरिया के मजरा पांडेय की मड़ैया निवासी टुल्लू उर्फ सुल्तान खेती करते थे. परिवार वालों ने बताया कि टुल्लू का पुत्र गोविंद कुपोषित था. उन्हें एक बाबा ने बताया था कि बच्चे को गन्ने के खेत में खड़ा कर नहला दो, जिससे उसका कुपोषण दूर हो जाएगा. आज सुबह टुल्लू अपने पुत्र को लेकर पास के गांव भाहपुर सपहा पहुंचे, जहां धर्मपाल के खेत में गन्ने की फसल थी. गन्ने की फसल में करंट दौड़ रहा था, जिसकी चपेट में आने से पिता-पुत्र की मौके पर ही मौत हो गई.

Kalyan Singh Health Update: पूर्व CM मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की तबीयत फिर बिगड़ी, सीएम योगी पहुंचे पीजीआई

धर्मपाल जब खेत पहुंचे तो शवों को पड़े देखा. इसके बाद उन्होंने दोनों शवों को खेत से निकाल कर बाहर कर दिया. देखते ही देखते मौके पर ग्रामीणों की भीड़ एकत्र हो गई और टुल्लू के परिजन भी मौके पर पहुंच गए और कोहराम मच गया. एएसपी अनिल यादव ने बताया कि पुलिस ने शवों को कब्जे में ले लिया और खेत में करंट प्रवाहित करने वाले धर्मपाल और उसके पुत्र चीनू को हिरासत में ले लिया. पुलिस मामले की जांच कर रही है. एएसपी के मुताबिक परिजनों की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

पूर्व सांसद का दावा, 'हमारे विधायकों पर दावा कर रहे नेता खुद BJP में आने को बेताब', सपा, बसपा पर साधा निशाना

हरदोई में बीजेपी का प्रबुद्ध सम्मेलन हुआ.

UP Politics : भाजपा के पूर्व सांसद ने सपा बसपा और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. यही नहीं, उन्होंने ओमप्रकाश राजभर के '150 विधायक हमारे संपर्क में' वाले बयान पर पलटवार किया. जानिए अग्रवाल ने मीडिया के सवालों का कैसे सामना किया.

SHARE THIS:

हरदोई. यूपी के हरदोई ज़िले में गांधी भवन में आयोजित भारतीय जनता पार्टी के प्रबुद्ध सम्मेलन में भाजपा नेता व पूर्व सांसद नरेश अग्रवाल ने सपा, बसपा और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने एक तरफ, अखिलेश यादव के बयान को ‘मुंगेरीलाल का सपना’ कहा, तो दूसरी तरफ राजभर का नाम लिये बगैर उनके खिलाफ जवाबी हमला बोलते हुए कहा कि ‘जो लोग भाजपा विधायकों के संपर्क में होने के दावे कर कर रहे हैं, वो सब भाजपा जॉइन करना चाहते हैं, लेकिन हम विचार कर रहे हैं.’ पत्रकारों से बातचीत के पहले अग्रवाल ने मंच से कहा कि उप्र में किसी दल की दाल नहीं गलेगी क्योंकि ‘उत्तर प्रदेश की जनता ने मन बनाया है कि देश को कोई बचा सकता है, तो मोदी जी और प्रदेश को कोई बचा सकता है, तो वो योगी जी हैं.’

अग्रवाल ने यूपी में हो रही जातिवादी राजनीति पर कहा कि एक जाति को लोग देखते हैं, तो कहते हैं कि बसपा गई. दो जाति देखते हैं, तो कहते हैं सपा गई और सभी जातियां देखते हैं तो कहते हैं भाजपा आ गई. उन्होंने कहा, ‘हम जाति के आधार पर राजनीति में विश्वास नहीं रखते, हम सभी का साथ लेकर सभी का विकास करते हैं.’ गांधी भवन में भाजपा के प्रबुद्ध सम्मेलन में अग्रवाल ने पत्रकारों के सवालों के जवाब कुछ इस तरह दिए.

सवाल : ओमप्रकाश राजभर ने दावा किया है कि भाजपा के 150 विधायक उनके संपर्क में हैं, इसे किस तरह देख रहे हैं?
जबाब : हम भी यह वादा करते हैं कि जो लोग बीजेपी के डेढ़ सौ विधायकों की बात कर रहे हैं, वो सभी हमारे संपर्क में हैं. वास्तव में वो सब चाहते हैं कि भाजपा जॉइन कर लें लेकिन उनके नामों पर अभी हम ही विचार कर रहे हैं.

uttar pradesh news, up news, up politics, bjp sammelan, bjp bayan, उत्तर प्रदेश न्यूज़, यूपी न्यूज़, यूपी राजनीति, बीजेपी सम्मेलन

प्रबुद्ध सम्मेलन के दौरान भाजपा नेताओं ने अन्य नेताओं की बयानबाज़ी पर अपनी प्रतिक्रिया रखी.

सवाल : भाजपा के नारे पर अखिलेश यादव कह रहे हैं कि ‘नहीं चाहिए ऐसी सरकार, जिसका सच है ठग का साथ, ठग का विकास और ठग का विश्वास’, इस पर आपका क्या रिएक्शन है?
जबाब : वह अभी जनता के बीच कुछ भी कहें लेकिन अखिलेश जी नब्ज़ समझ गए होंगे कि जिस तरीके से उत्तर प्रदेश को ‘उत्तम प्रदेश’ बनाया गया, मुझे लगता है कि अखिलेश जी का सत्ता पाने का सपना, बस मुंगेरीलाल का सपना रहेगा.

सवाल : पश्चिमी यूपी से कांग्रेस 2022 चुनावी अभियान की शुरुआत करने जा रही है, इस पर भाजपा की क्या रणनीति है?
जबाब : जो लोग विलुप्त हो चुके हैं, वो फिर से यूपी में ज़िंदा नहीं होंगे. यह मेरा विश्वास है.

सवाल : कांग्रेस ने पंजाब में चरणजीत सिंह को मुख्यमंत्री कैंडिडेट बनाया, ऐसे में दलित मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद मायावती ने कहा कि यह कांग्रेस का चुनावी स्टंट है, आप क्या मानते हैं?
जवाब : अब देखिए इतनी बड़ी राष्ट्रीय पार्टी आज अगर जाति के आधार पर अपने आप को ला रही है, तो इसका मतलब है कि उसकी सोच कहां पहुंच गई है. कांग्रेस पार्टी किस गर्त में पहुंच गई है! हम जाति आधारित राजनीति में विश्वास नहीं रखते. हम सभी का साथ लेकर सभी का विकास करते हैं.

Hardoi: 2017 में अखिलेश यादव को लगा है सदमा, उबर नहीं पा रहे - सतीश महाना

हरदोई में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना.

Achievement : हरदोई में औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना यूपी सरकार की साढ़े चार साल की योजनाओं का बखान करने पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने अखिलेश यादव पर कसा तंज और कहा कि सरकार में कुछ लोगों को गुंडे और माफिया की चिंता लगी रहती थी.

SHARE THIS:

हरदोई. उत्तर प्रदेश सरकार ने जनहित के काम किए हैं. किसानों, महिलाओं और नौजवानों के लिए ऐसी योजनाओं का संचालन किया, जिसका लाभ सभी को मिला है. पहले की सरकारें जनता से दूर रहती थीं, लेकिन भाजपा सरकार को आम आदमी अपनी सरकार कहता है. जनता का भरोसा सरकार में जगा है. ये बातें जिले के प्रभारी मंत्री और औद्योगिक विकास मंत्री चाहें यूपी हो या देश भाजपा की सरकारों के जितना काम किसी ने नही किया. ने हरदोई में कहीं. सतीश महाना उत्तर प्रदेश सरकार की साढ़े चार साल की उपलब्धियों का बखान करने हरदोई पहुंचे थे.

कलेक्ट्रेट सभागार में पत्रकारों से उन्होंने कहा कि चाहें यूपी हो या देश, भाजपा की सरकारों के जितना काम किसी ने नहीं किया. उन्होंने कहा कि पहले उत्तर प्रदेश में लोग आना नहीं चाहते थे, पर आज चाहे औद्योगिक क्षेत्र हो या पर्यटन का – लोग जुड़े हैं और जुड़ रहे हैं. उत्तर प्रदेश देश ही नहीं, विश्व में अलग रूप से जाना जा रहा है.

इन्हें भी पढ़ें :
अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर साधा निशाना, कहा- ‘ठग का साथ, ठग का विकास, ठग का विश्वास, ठग का प्रयास’
योगी सरकार के साढ़े 4 साल पूरे होने पर मायावती और प्रियंका गांधी ने साधा निशाना, बोलीं- विज्ञापन और दावे अधिकांश हवा-हवाई

मंत्री ने कहा कि बीजेपी सरकार में ‘सबका साथ, सबका विकास’ हुआ है. पूर्व की सरकारों में ग्रामीण इलाकों में एक या दो घंटे बिजली मिलती थी, बीजेपी सरकार में बिजली के लिए किसी को भटकना नहीं पड़ता है. सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव के ट्वीट ‘ठग का साथ, ठग का विकास, ठग का विश्वास, झूठ का फूल’ पर मंत्री ने कहा कि हमारी सरकार विकास कराती है तो कहते हैं कि हमारा काम है. मंत्री ने एक सदमा फिल्म का जिक्र करते हुए कहा कि उसमें 8 वर्ष की नेत्री हादसा होने पर सब भूल जाती है. उसी तरीके से अखिलेश यादव को भी 2017 में सदमा लगा है. इसलिए उन्हें पहले की बात याद रहती है और वर्तमान की बातें भूल जाते हैं. सतीश महाना ने कहा कि इनलोगों ने पूर्व की सरकारों में जनता के हित में कोई काम नहीं किया और गुंडों, माफिया को संरक्षण देने का काम किया.

हरदोई: गौशाला में जलभराव से 8 गौवंशों की मौत, 6 बीमार, कई अफसरों पर गिरी गाज

UP: हरदोई में एक गौशाला में जलभराव के चलते कई गौवंश की मौत हो गई है.

Hardoi News: हरदोई में गौवंश की मौत मामले में ग्राम विकास अधिकारी को निलंबित और बीडीओ को शोकॉज नोटिस जारी किया गया है. पशु चिकित्सा अधिकारी के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही की गई है.

SHARE THIS:

हरदोई. उत्तर प्रदेश के हरदोई (Hardoi) के कछौना कोतवाली इलाके के पतसेनी देहात के मजरा तेरवा में अव्यवस्थाओं के बीच गौशाला में हुए जलभराव और बीमारी के चलते 8 गौवंश की मौत हो गई. वहीं 6 गौवंश गंभीर रूप से बीमार हो गए. सूचना पाकर प्रशासन में हड़कंप मच गया. एडीएम, एसडीएम, सीओ, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी समेत पुलिस भी मौके पर पहुंची.

इस पूरे मामले में ग्राम विकास अधिकारी को निलंबित कर दिया गया है, वहीं बीडीओ को शो कॉज नोटिस जारी किया गया है और पशु चिकित्सा अधिकारी के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही व ग्राम प्रधान के दायित्वों का निर्वहन न करने की कार्यवाही तय की गई है. एडीएम ने बताया बीमार पशुओं को इलाज के लिए भेजा जा रहा है. समुचित व्यवस्था गौशाला की कराई जा रही है. यहां पर तैनात तीन केयर टेकरों को भी हटाया जाएगा.

पतसेनी देहात के मजरा तेरवा में लगभग 111 गौवंश हैं. जहां पर न तो चारे की समुचित व्यवस्था हो पा रही है, न ही वहां पर गौवंशों की देखभाल की जा रही है. बरसात की वजह से अव्यवस्थाएं और फैल गईं. इन्हीं अव्यवस्थाओं के वजह से पूरी गौशाला में जलभराव हो गया और इस जलभराव में फंसकर आठ गौवंशों की मौत हो गई जबकि 6 गंभीर रूप से बीमार हो गए. किसी ने 40 गौवंशों के मौत की खबर सोशल मीडिया पर चला दी, जिसके बाद प्रशासन में हड़कंप मच गया. पूरे मामले की सूचना पाकर अपर जिलाधिकारी संजय कुमार सिंह, एसडीएम संडीला मनोज श्रीवास्तव, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर जेएन पांडेय, सीओ बघौली हेमंत उपाध्याय समेत पुलिस बल मौके पर पहुंच गया.

गौवंश की मौत के बाद प्रशासन में मचा हड़कंप

gaushala, Hardoi News, Cow deaths, UP News,

UP: हरदोई में एक गौशाला में जलभराव के चलते कई गौवंश की मौत हो गई है.

यहां पर गौशाला में मृत गौवंश को एकत्र कराया गया, वहां पर उनकी संख्या आठ पाई गई. इसके साथ ही जो बीमार गोवंश हैं, उन्हें इलाज के लिए भेजा गया. अपर जिलाधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी इस योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए लगातार जिला अधिकारी अविनाश कुमार बैठक करके संबंधित को निर्देशित किया करते हैं. बावजूद इसके कुछ लापरवाही बरती गई, जिसके चलते ग्राम विकास अधिकारी को निलंबित करने की संस्तुति की गई है. यहां के खंड विकास अधिकारी को आज नोटिस जारी किया गया है. पशु चिकित्सा अधिकारी पर विभागीय कार्यवाही के लिए संस्तुति की गई है. इसी के साथ ही प्रधान प्रवीण दायित्वों का निर्वहन करने को लेकर जिम्मेदारी तय की गई है.

राहुल गांधी व अखिलेश यादव का मंदिर जाना भाजपा की वैचारिक जीत : केशव प्रसाद मौर्य

यूपी के हरदोई में 14 सौ करोड़ से ज्यादा की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करने पहुंचे डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य.

News18 special : हरदोई पहुंचे केशव प्रसाद मौर्य ने गुरुवार को 14 सौ करोड़ की परियोजनाओं का किया शिलान्यास और लोकार्पण किया. न्यूज18 हिंदी से हुई विशेष बातचीत में उन्होंने राहुल गांधी और अखिलेश यादव के मंदिर जाने को बताया भाजपा की वैचारिक जीत.

SHARE THIS:

हरदोई. उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने आज यानी गुरुवार को हरदोई जिले में 14 सौ करोड़ से अधिक की परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया. भारी बारिश के बीच पहुंचे केशव प्रसाद मौर्य ने जहां अपने संबोधन में अपनी सरकार की उपलब्धियों का बखान किया, वहीं उन्होंने इस मौके पर विपक्षी दलों को भी आड़े हाथों लिया. उन्होंने आप पार्टी के प्रदेश में 300 यूनिट बिजली फ्री देने को केवल घोषणा करार दिया, वहीं राहुल गांधी और अखिलेश यादव के मंदिर मंदिर जाने की बात को अपनी पार्टी की वैचारिक जीत बताया. पेश है उनसे हुई बातचीत के खास अंश :

सवाल : आज मनीष सिसोदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और उन्होंने कहा कि 300 यूनिट बिजली फ्री देंगे और जो पुराने बिजली के बिल हैं, माफ कर देंगे.

जवाब : जिस पार्टी के नेता का आप नाम ले रहे हैं, वह एक नगर निगम की तरह स्थान रखने वाली सरकार को चलाते हैं. मुझे लगता है कि आम आदमी पार्टी को तो उत्तर प्रदेश में सभी सीटों पर प्रत्याशी भी नहीं मिलेंगे. वह एक भी सीट नहीं जीतेंगे, तो घोषणा मंत्री बनने में क्या जाता है.

सवाल : राहुल गांधी की स्पीच का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वे कह रहे हैं कि महात्मा गांधी जी के साथ तीन-चार महिलाएं देखी जाती थीं. आरएसएस के मोहन भागवत के साथ कोई महिला नहीं देखी जाती है. महिला सशक्तीकरण को दबाने का प्रयास किया जा रहा है.

जवाब : राहुल गांधी जी अपनी पार्टी पर ध्यान दें. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ विश्व का सबसे बड़ा स्वयंसेवी संगठन है. उन्हें कैसे क्या करना है, अगर इतना ज्ञान उनके पास है तो अपनी पार्टी को दें. उनकी पार्टी उत्तर प्रदेश में खाता खोले 2022 और 24 में यही बड़ी बात है.

सवाल : लोग मंदिर जाने लगे हैं, आपको ऐतराज क्या है ?

जवाब : यह हमारी वैचारिक विजय है. विरोधी जो कभी मंदिर देख कर मुंह फेर लेते थे, हिंदू को देख कर मुंह फेर लेते थे, आज उनको मंदिर जाना पड़ रहा है. यह तो भारतीय जनता पार्टी की वैचारिक विजय है. हम किसी के जाने से नाराज नहीं है, हमें खुशी होती है कि अखिलेश यादव को संगम में डुबकी लगानी पड़ रही है. हरिद्वार और कुंभ में जाना पड़ रहा है. संतों के पांव छूने पड़ रहे हैं. रामभक्त और कृष्णभक्त बनना पड़ रहा है. किसी को जनेऊधारी बताना पड़ रहा है, यह तो हमारी वैचारिक जीत है.

सवाल : एनसीआरबी के आंकड़े आए हैं, जिसमें हत्या के मामले में नंबर एक और दुष्कर्म के मामले में यूपी नंबर दो पर है.

जवाब : देखिए उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था दुरुस्त है. कौन से नंबर पर किस आंकड़े की आप बात कर रहे हैं, यह मैंने नहीं देखा है. लेकिन उत्तर प्रदेश में हमारी उपलब्धि यह है कि आप भी भयमुक्त रह कर पत्रकारिता को अंजाम देने का काम कर रहे हैं. जनता को किसी गुंडे-अपराधी से डर नहीं लग रहा है. जो अवैध कब्जे किए हुए भूमाफिया हैं, उनकी बिल्डिंग पर बुलडोजर चल रहे हैं और जो जनता की की जमीन है, जनता को सौंपी जा रही है. सरकार की जो जमीन है वह सरकार अपने कब्जे में ले रही है.

OMG: हरदोई के 200 साल पुराने मंदिर में नीम के पेड़ से प्रकट हुईं देवी! ग्रामीणों का जमघट

हरदोई के मंदिर में नीम पेड़ों की पूजा करती महिलाएं, जहां देवी मूर्ति के प्रकट होने की बात कही जा रही है. (इनसेट) जिसे लोग बता रहे हैं देवी की मूर्ति.

Miracle or Science : सुशीला देवी के मुताबिक, पहले उन्हें यह लगा कि कुकुरमुत्ता या फंगस जैसी कोई चीज उग आई है. जब उन्होंने उसे उखाड़ने की कोशिश की तो बहुत कोशिश के बाद भी वह उखड़ा नहीं. इसके बाद सुशीला ने उसे अच्छे तरीके से धोया, तो वहां उन्हें मां भगवती की मूर्ति दिखी.

SHARE THIS:

हरदोई. हरदोई में एक अजूबा हुआ है, जिसकी चर्चा सबकी जबान पर है और सब चकित हैं. यहां गांव के बाहर एक मंदिर प्रांगण में खड़े दो नीम के पेड़ों के बीच देवी मूर्ति प्रकट हुई है. मां भगवती की इस मूर्ति की चर्चा आसपास के इलाकों में फैल गई है और ग्रामीणों की भीड़ दर्शन के लिए उमड़ रही है.

यह मामला हरदोई के हरपालपुर विकासखंड का है. यहां के ग्राम कठेठा के मां भगवती के मंदिर प्रांगण में दो नीम के पेड़ों के बीच एक देवी मूर्ति निकली है. यह मंदिर 200 वर्ष पुराना है. दरअसल पूरा गांव यहां रोज पूजा-अर्चना करता है. आज रविवार की सुबह गांव की महिला सुशीला देवी भी वहां पूजा करने पहुंचीं. वे वर्षों से यहां पूजा-अर्चना करती आ रही हैं. जब वह आज सुबह मंदिर पहुंचीं, तो उन्होंने मंदिर की सभी जगहों की साफ-सफाई करनी शुरू कर दी. तब उन्हें यह मूर्ति दिखी.

इन्हें भी पढ़ें :
OMG! गाय ने कुत्ते की शक्ल के बछड़े को दिया जन्म, फिर लोग इस वजह से चढ़ाने लगे चढ़ावा
रायबरेली पहुंचकर प्रियंका गांधी ने हनुमान मंदिर में मत्था टेका, मांगा जीत का आशीर्वाद

सुशीला देवी के मुताबिक, पहले उन्हें यह लगा कि कुकुरमुत्ता या फंगस जैसी कोई चीज उग आई है. तब उन्होंने उसे उखाड़ कर साफ करने की बात सोची. जब उन्होंने उसे उखाड़ने की कोशिश की तो बहुत कोशिश के बाद भी वह उखड़ा नहीं. इसके बाद सुशीला ने उसे अच्छे तरीके से धोया, तो वहां उन्हें मां भगवती की मूर्ति दिखी. सुशीला बताती हैं कि मूर्ति पूरी तरह से सिंदूरी है. तब उन्होंने इसकी जानकारी अपने घर के लोगों को दी. फिर धीरे-धीरे वहां ग्रामीणों की भीड़ उमड़ने लगी. अब गांव की महिलाएं वहां लगातार पूजा-अर्चना कर रही हैं और प्रसाद चढ़ा रही हैं. फिलहाल, गांव के लोग इसे दैवीय चमत्कार मान रहे हैं और मूर्ति के दर्शन के लिए वहां आ रहे हैं. अभी इसका कोई वैज्ञानिक पहलू सामने नहीं आया है.

Hardoi:ओमान में फंसे पति की वापसी के लिए महिला ने लगाई सरकार से गुहार, Video Viral

ओमान की जिस कंपनी में हरदोई के चंद्रशेख नौकरी करने गए थे, उसने पासपोर्ट-वीजा छीन लिया. पत्नी सोनी ने की सरकार से अपील.

video viral : सोनी के वायरल हुए वीडियो में उसकी मासूम बेटी कहते दिख रही है कि मेरे पापा को वापस हमारे पास बुला दो, हम सब बहुत परेशान हैं. सोनी ने भी अपने पति को वापस बुलाने के लिए सरकार से गुहार लगाई है. फिलहाल विदेश मंत्रालय ने ओमान एंबेसी से संपर्क किया है, पर युवक से संपर्क नहीं हो पाया है.

SHARE THIS:

हरदोई. अपने परिवार के भरण-पोषण के लिए भारत से 2,395 किलोमीटर दूर ओमान गया युवक वहां के कंपनी मालिक के चंगुल में फंस गया है. जिस कंपनी में वह काम करता है, वहां के मालिक ने उसका वीजा व पासपोर्ट जब्त कर लिया है और उसे भारत लौटने नहीं दे रहा. इधर भारत में उसके में उसकी पत्नी व दो छोटे-छोटे बच्चों का हाल बेहाल है. युवक की पत्नी ने सोशल मीडिया पर वीडियो अपलोड कर सरकार से अपने पति को वापस बुलाने की गुहार लगाई है. भाजपा नेता पंकज शुक्ला ने युवक को वापस लाने की कोशिशें शुरू कर दी हैं.

कंपनी के मालिक ने छीन लिए पासपोर्ट-वीजा

यह मामला उत्तर प्रदेश के हरदोई के कछौना का है. यहां रहनेवाली रचना सोनी ने सोशल मीडिया पर वीडियो अपलोड कर अपने पति चंद्रशेखर सोनी को ओमान से वापस लाने की सरकार से गुहार लगाई है. बता दें की 17 फरवरी 2021 को चंद्रशेखर अपने परिवार के भरण-पोषण के लिए ओमान में नौकरी करने गए थे. लेकिन वहां कंपनी के मालिक के उनका पासपोर्ट व वीजा जब्त कर लिया है. हालांकि कुछ समय पहले तक पत्नी रचना सोनी से फोन पर चंद्रशेखर की बात हो जाया करती थी. मगर कुछ दिन से उसका स्वाथ्य ठीक नहीं रह रहा था, तो रचना ने उन्हें वापस आने के लिए कहा. मगर बिना पासपोर्ट और वीजा के वापस आना संभव नहीं है.

इन्हें भी पढ़ें :
Moradabad में मौत की कुश्ती: एक दांव में चली गई पहलवान की जान, वीडियो वायरल
सीतापुर के बीजेपी MLA शशांक त्रिवेदी के बिगड़े बोल, कहा- SDM को जूते से मारूंगा… सही कर देंगे

30 हजार रुपये मांगे

रचना सोनी का आरोप है कि उसने कंपनी से संपर्क किया, तो 30 हजार रुपये की मांग की गई और कहा गया कि रुपये भेजो तब तुम्हारे पति को पासपोर्ट और वीजा मिल जाएगा. रुपये भेजने के बावजूद जब पति को वापस नहीं आने दिया गया तो मजबूर होकर सोनी ने सोशल मीडिया पर वीडियो अपलोड कर सरकार से मदद मांगी.

भाजपा नेता की कोशिश से विदेश मंत्रालय तक पहुंचा मामला

सोनी का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. वीडियो में उसकी मासूम बेटी भी दिख रही है, महिला अपने पति को वापस बुलाने के लिए सरकार से गुहार लगाते दिख रही है. उसकी मासूम बेटी का कहना है मेरे पापा को वापस हमारे पास बुला दो, हम सब बहुत परेशान हैं. सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद भाजपा नेता पंकज शुक्ला ने चंद्रशेखर को उसके बीवी-बच्चों से मिलाने की मुहिम शुरू कर दी है. पंकज ने विदेश मंत्रालय से संपर्क किया है. जानकारी मिलने के बाद विदेश मंत्रालय ने ओमान एंबेसी से संपर्क किया, हालांकि अभी ओमान में फंसे युवक से संपर्क नहीं हो सका है.

UP Chunav 2022: इस बार बुजुर्ग और दिव्यांग घर से डाल सकेंगे वोट, मतदान के लिए नहीं लगानी होगी लंबी लाइन

इस बार विधानसभा चुनाव में बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाता घर से डाल सकेंगे वोट

Hardoi News: संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी द्वारा जिला निर्वाचन अधिकारी डीएम को पत्र भेजा गया है. पत्र में कहा गया है कि सामान्य व उप चुनाव में 80 वर्ष से अधिक और दिव्यांग वोटरों को पोस्टल बैलेट से मतदान की सुविधा मिलेगी.

SHARE THIS:

हरदोई. आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Election) में 80 साल से अधिक के बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाताओं (Voters) को मतदान के लिए केंद्र नहीं जाना पड़ेगा. अस्सी साल से अधिक और दिव्यांग मतदाताओं को पोस्टल बैलेट से मतदान की सहूलियत दी गई है.. हरदोई में 51 हजार बुजुर्ग और 18 हजार 383 दिव्यांग मतदाता चिन्हित किए गए है. एडीएम संजय कुमार सिंह ने बताया कि आयोग से मिले आदेश के बाद तैयारियां चल रही है.

दरअसल, उत्तर प्रदेश के संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी द्वारा जिला निर्वाचन अधिकारी डीएम को पत्र भेजा गया है. पत्र में कहा गया है कि सामान्य व उप चुनाव में 80 वर्ष से अधिक और दिव्यांग वोटरों को पोस्टल बैलेट से मतदान की सुविधा मिलेगी. राज्य निर्वाचन आयोग ने अवगत कराया है कि 80 वर्ष से अधिक आयु के मतदाताओं तथा दिव्यांग मतदाता को पोस्टल बैलट की सुविधा प्रदान की जाएगी. इनसे फार्म 20 भरवाया जाएगा तथा पोस्टल बैलट के माध्यम से मतदान करने की सहमति ली जाएगी. इसके बाद ही इनको पोस्टल बैलट दिया जाएगा.

तैयारियां जोरों पर
आगामी विधानसभा चुनाव 2022 में 80 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाता पोस्टल बैलेट के जरिए मतदान करेंगे. कोविड प्रोटोकॉल के तहत अतिरिक्त मतदान केंद्र भी बनाए जा रहे हैं. निर्वाचन मशीनरी ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है. बता दें कि हरदोई में 51 हजार बुजुर्ग 18 हजार 383 दिव्यांग चिन्हित है. एडीएम संजय कुमार सिंह ने बताया कि आयोग से मिले आदेश के बाद सभी तैयारियां चल रही है.

FB पर CM से महिला की गुहार 'प्लीज हेल्प मी सर, मेरे साथ न्याय किया जाए', फिर कर ली खुदकुशी

रोली गुप्ता की फाइल फोटो.

Crime Against Woman : रोली गुप्ता और उसके बच्चों को लवी त्रिवेदी नाम के शख्स ने पीटकर लहूलुहान कर दिया था. लवी के साथ उसके माता-पिता भी इस वारदात में शरीक थे. रोली ने पुलिस थाने में दी गई अपनी शिकायतों पर उचित कार्रवाई न होते देख खुदकुशी जैसा कदम उठाया.

SHARE THIS:

हरदोई. हरदोई के माधोगंज थाना क्षेत्र में एक महिला ने फेसबुक पर पोस्ट लिखकर मुख्यमंत्री को अपने साथ हुए मामले की जानकारी दी. उसने मामले पर कार्रवाई किए जाने की मांग करते हुए एक मार्मिक पोस्ट लिखी. इस पोस्ट में के साथ उसने कई तस्वीरें भी डाली हैं. मुख्य अभियुक्त लवी त्रिवेदी, एफआईआर की कॉपी और लवी की पिटाई के बाद खून से लथपथ हुए खुद के कपड़ों की तस्वीरें उसके फेसबुक पोस्ट के साथ अटैच्ड हैं. देर रात उसने कमरे में खुद को बंद कर फांसी लगाकर जान दे दी. महिला की पहचान रोली गुप्ता के रूप में हुई है.

रोली का फेसबुक पोस्ट

रोली ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा ‘मैं रोली गुप्ता उर्फ प्राची पत्नी मनोज कुमार गुप्ता अपने पूरे होशो हवास में यह बयान करती हूं. आदरणीय सेवा में यूपी सरकार माननीय आदित्यनाथ योगी, हाथ जोड़ विनम्र निवेदन है कि मेरे साथ न्याय किया जाए. 4/9/2021 दिन शनिवार 7:00 बजे शाम को लवी त्रिवेदी अपने परिवार के साथ आके मेरे और नाबालिग लड़के के साथ बाप बेटे ने जबरदस्ती करने की कोशिश की. जब मैंने विरोध किया तो उसने बेल्टों से लात घुसा से बहुत मारा. मेरे नाक में दांत से काट लिए जोर से, जिससे मैं लहूलुहान हो गई. उसके पिता पुती त्रिवेदी ने डंडों से खूब मारा और उसकी मां मीरा देवी ने भी बाल नोच-नोच के खूब मारा. पटक पटक के मेरे गले का लॉकेट, कान के बाले नोच मेरे दो मोबाइल एंड्राइड और 90 हजार नगदी अपने साथ ले गए. मेरे कपड़े फाड़ के दुपट्टा भी साथ ले गए और बच्चों को रूम में बंद कर दिया था लोगों ने. मुझे और मेरे छोटे बेटे को बहुत मारा और बोले मेरे खिलाफ कुछ भी करवाया तो पूरे परिवार को गोली से मार देंगे. मैं बेहोश हो गई. जब मेरे पति बाहर से आए तो मुझे लहूलुहान देखकर बोले क्या हुआ था. मैंने सब बताया. पुलिस थाने ले गए. वहां मे गए मैंने माधव गंज थाने में बहुत सारी एफआईआर मेरी पहले के भी पड़ी थी. कोई कार्यवाही नहीं होती है. बताते कुछ हैं लिखा कुछ दूसरा जाता है एफआईआर में. मेरे साथ पहले भी ऐसा सब कुछ घटित हो चुका है. उसकी f.i.r. लिखो आई थी मैंने. ऑनलाइन भी कराई थी. लेकिन डिसीजन कुछ नहीं निकला. रेप करने की कोशिश, अटाइम टू मर्डर. अगर मेरे परिवार को कुछ हुआ या फिर मुझे तो इसके जिम्मेदारी सिर्फ और सिर्फ सरकार की होगी. प्लीज हेल्प मी सर, मेरे साथ न्याय किया जाए. मेरा जो भी नुकसान हुआ है उसकी भरपाई करी जाए. मैं मेरे परिवार को इन लोगों से खतरा है. मेरे प्रिय भाई और बहनों, जिसको जिसको मेरी पोस्ट मिले, प्लीज उसको ज्यादा से ज्यादा शेयर करें. अपराधियों को सजा मिलनी चाहिए…’

Hardoi : Woman pleads with CM yogi adityanath on FB post, then committed suicide/FB पर CM से महिला की गुहार 'प्लीज हेल्प मी सर, मेरे साथ न्याय किया जाए', फिर कर ली खुदकुशी

रोली के फेसबुक पोस्ट की स्क्रिप्ट का स्क्रीनशॉट (बाएं), एफआईआर की कॉपी (दाएं) और वह खून सने कपड़े जो रोली ने पोस्ट किए थे.

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतजार

इस पोस्ट के बाद रोली गुप्ता ने कमरे में खुद को बंद कर फांसी लगा ली. उसने अपने फेसबुक पोस्ट में माधोगंज पुलिस पर भी लापरवाही बरतने के आरोप लगाए हैं. उसने साफ तौर पर लिखा है कि पुलिस को बताया कुछ जाता है और वह एफआईआर में लिखती कुछ और है. इस पूरे मामले में पुलिस अधीक्षक अजय कुमार ने बताया कि पुलिस के ऊपर जो आरोप लगाए गए हैं, उनको लेकर अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी को जांच सौंपी गई है. जांच रिपोर्ट आने के बाद जो भी दोषी पुलिसकर्मी पाया जाएगा, उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने बताया कि इस पूरे मामले में महिला की तहरीर पर पहले जो मुकदमा दर्ज किया गया है, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के आधार पर उसे उचित धाराओं में बदला जाएगा और कार्रवाई की जाएगी. पुलिस ने बताया कि इस मामले में मुख्य आरोपी लवी त्रिवेदी को गिरफ्तार कर लिया गया है.

खुदकुशी से ठीक एक दिन पहले

रोली गुप्ता (34) माधोगंज कस्बे के मोहल्ला आजादनगर में रहनेवाले मनोज गुप्ता की पत्नी थीं. रविवार की रात उन्होंने कमरे में साड़ी से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी. खुदकुशी से पहले उन्होंने जो फेसबुक पोस्ट लिखा, उसकी तस्दीक करता हुआ बयान उसके पति मनोज गुप्ता और बेटे ने भी दिया है. उसके पति ने एक दिन पहले की वारदात के बारे में बताया कि शनिवार के दिन वह मकान से अपनी दुकान के लिए निकला था, उसी दौरान लवी उसके घर में घुसा और 50 हजार की नगदी और मोबाइल फोन उठा लिया. जब उसकी पत्नी रोली गुप्ता ने विरोध किया, तो उसे धक्का देकर उसने गिरा दिया और कहा कि पैसे लेने हो तो स्टेशन पर आ जाना. मनोज ने बताया कि रोली अपने बच्चों के साथ स्टेशन गई. पर रास्ते में ही लवी ने रोली को मारना-पीटना शुरू कर दिया. लवी ने रोली गुप्ता के नाक पर दांत काट ली, जिसके बाद वह बेसुध होकर मौके पर ही गिर गई. बाद में रोली के साथ हुई वारदात की जानकारी मनोज को हुए तो वह रोली को लेकर थाने गया. वहां उसने पुलिस को पूरा वाकया बताया और तहरीर देने की बात कही. आरोप है कि उसकी बेटी काजल गुप्ता तहरीर लिखने लगी, तो पुलिसवाले ने डांट डपट कर अपने मन मुताबिक तहरीर लिखवाई. मनोज का कहना है कि जब रोली ने अपनी शिकायत पर कोई कार्रवाई होते न देखी तो उसने न्याय के लिए मुख्यमंत्री से फेसबुक पर गुहार लगाई और खुदकुशी कर ली.

Hardoi: आखिर गांधी परिवार से मिलने क्यों भूख हड़ताल पर बैठा है यह पुराना कांग्रेसी, जानें वजह

सोनिया, राहुल और प्रियंका से एक मुलाकात की खातिर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठ गए शिव कुमार.

हरदोई में कांग्रेस समर्थक नेता शिवकुमार कलेक्ट्रेट में अनिश्चित कालीन भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं. शिव कुमार की ये भूख हड़ताल सोनिया, राहुल या फिर प्रियंका गांधी से मुलाकात के लिए है. उनका कहना है मुलाकात नहीं होने तक वह अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर रहेंगे.

SHARE THIS:

हरदोई. हरदोई (Hardoi) शहर कोतवाली क्षेत्र के मन्नापुरवा के रहने वाले शिव कुमार (Shiv Kumar) कलेक्ट्रेट में अनिश्चित कालीन भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं. शिव कुमार की मांग किसी क्षेत्रीय समस्या की नहीं है, बल्कि उनका कहना है कि सोनिया गांधी, राहुल गांधी या फिर प्रियंका गांधी से उनकी मुलाकात नहीं कराई जाएगी तब तक वह अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर रहेंगे. उनकी भूख हड़ताल का शनिवार को दूसरा दिन हो गया है.

दरअसल, कांग्रेस के ये नेता गांधी परिवार को सियासी ज्ञान देना चाहता है. इन्हें लगता है कि कांग्रेस गलत रास्ते पर चल पड़ी है. शिवकुमार बताते हैं कि 18 अगस्त को उन्होंने ज्ञापन दिया था, जिसमें आज तक अखिल भारतीय कांग्रेस पार्टी नई दिल्ली से कोई भी सूचना नहीं प्राप्त हुई और पार्टी के भविष्य को लेकर वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं से वार्ता करनी है.

भूख हड़ताल पर बैठे शिव कुमार का कहना है कि उनके पिता के ज़माने से वो लोग कांग्रेस के प्रबल समर्थक रहे, लेकिन शीर्ष नेतृत्व ने कभी उन पर ध्यान नहीं दिया है. शिव कुमार ने बताया वर्ष 1967 में प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी कानूनगो ट्रेनिंग सेंटर पर आई थीं तब उनके खेत से गन्ना मंगाया गया था. प्रधानमंत्री राजीव गांधी जब लखनऊ से हरदोई आए थे तब शिव कुमार के पिता ने गांव वालों को राजीव गांधी से मिलवाया था. मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी भी शिव कुमार के पिता के खास रह चुके हैं. शिव कुमार बताते हैं कि वह तब से ही पिता के साथ ही कांग्रेस का साथ निभाते आए हैं. समय-समय पर कांग्रेस की स्थिति का ज्ञान उच्च नेताओं को पत्र लिख कर भी कराया, लेकिन आज तक शीर्ष नेताओं की तरफ़ से कोई जवाब नहीं दिया गया जो उनके मन को काफी कचोट रहा है.

शिवकुमार कहते हैं उनके पिता और उन्होंने ने सारी ज़िंदगी कांग्रेस में समय बिताया कभी किसी दूसरी पार्टी का रुख नहीं किया, लेकिन अफसोस जब चुनाव आता है तो उन्हें अपनी ही पार्टी से शर्मिंदा होना पड़ता है. पार्टी के टिकट न देने पर निर्दलीय चुनाव लड़ना पड़ता है. कांग्रेस के टिकट न देने पर भी उन्होंने किसी दूसरी पार्टी का रुख नहीं किया है चुनाव भी निर्दलीय के रूप में लड़ा.

शिव कुमार ने अब तक 5 विधानसभा, 3 लोक सभा, 3 जिला पंचायत, 3 प्रधान पद के कुल 14 चुनाव लड़े हैं. कांग्रेस पार्टी की होती दुर्गति को देखकर मजबूरन उन्हें अपनी बात कांग्रेस पार्टी की शीर्ष कमान गांधी परिवार तक अपनी बात पहुंचाने के लिए अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठना पड़ा है.

अखिलेश यादव का बड़ा बयान, कहा- नरेश अग्रवाल कह दें BJP में हुआ अपमान, तो वापस ले लेंगे

हरदोई पहुंचे अखिलेश यादव ने कहा कि जनता इस बार बीजेपी को सत्ता से हटा देगी, लोग सपा की सरकार बनाएगी.

Uttar Pradesh News: हरदोई पहुंचे सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने साधा बीजेपी पर निशाना, कहा- तुष्टीकरण की राजनीति करती है भाजपा, इसी के साथ यादव ने विधानसभा चुनावों के लिए छोटे राजनीतिक दलों के साथ गठबंधन करने का भी इशारा किया.

SHARE THIS:

हरदोई. समाजवादी पार्टी के अध्यख अखिलेश यादव ने बुधवार को बीजेपी पर जमकर निशाना साधा. साथ ही सपा से बीजेपी में गए नरेश अग्रवाल को लेकर भी उन्होंने बड़ा बयान दे डाला. अखिलेश यादव ने कहा कि नरेश अग्रवाल यदि ये कह दें कि बीजेपी में उनका अपमान हुआ है तो वापस ले लेंगे. हमने हमेशा सम्मान देने का काम किया है. इसके साथ ही इशारे इशारे में अखिलेश यादव ने मुख्तार अंसारी के भाई के लिए भी सपा के दरवाजे खुले होने की बात कही. वहीं आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर छोटे दलों के साथ गठबंधन की बात पर भी वे सहमत नजर आए.
उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग सरकार को कंपनी बना रहे हैं. बीजेपी में तुष्टीकरण की राजनीति होती है. देश की महत्वपूर्ण संस्‍थाएं बड़ी बड़ी कंपनियों को बेची जा रही हैं. गौरतलब है कि सपा अध्यक्ष एमएलसी डॉ. राजपाल कश्यप के आवास पर हरदोई पहुंचे थे.

चाहते हैं जातियों में झगड़ा हो
अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी ने किसानों की आय दोगुनी करने की बात कही थी, आय कितनी हुई कोई ये बताए. वहीं नौजवानों को रोजगार कितना मिला. नोटबंदी और जीएसटी ने लोगों को मार डाला. अखिलेश ने कहा कि ईस्ट इंडिया कंपनी आई थी, अब बीजेपी के लोग कंपनी बना रहे हैं और राजनीतिक ताकत कंपनी के हाथ में देना चाहते हैं. तुष्टिकरण की राजनीति कर ऐसा माहौल बनाया जा रहा है कि जातियों में झगड़ा हो.

बीजेपी को हटा देगी जनता
अखिलेश ने कहा कि समाजवादी पार्टी संपन्नता की राजनीति करती है. लोग खुशहाल हों, किसान सम्पन्न हों, उन्हें उपज का उचित मूल्य मिले सपा का यही लक्ष्य है. सपा अध्यक्ष ने कहा कि जनता इस बार बीजेपी को हटाने का मन बना चुकी है और सपा की सरकार जनता ही बनाएगी. इसके साथ ही उन्होंने बड़ी बात कही कि छोटे दलों से गठबंधन हो रहा है और सपा में जो आएगा उसका स्वागत है.

ऐसी राजनीति बीजेपी के लोग करते हैं
कल्याण सिंह की तेरहवीं में शामिल होने की बात पर अखिलेश यादव ने कहा कि मैं तो यहां भी एक कार्यक्रम में शामिल हुआ हूं. हमारे साथ काम करने वाले जो भी नेता हैं उनके यहां पर होने वाले कार्यक्रमों में हम लोग शामिल होते हैं. समाजवादी पार्टी के अन्य नेता भी कार्यक्रमों में जाते हैं. उनके दाह संस्कार में भी शामिल हुए थे. इस तरह की राजनीति बीजेपी के लोग करते हैं. सपा सभी को साथ लेकर चलने वाली पार्टी है.

Hardoi News: नशे में धुत सप्लाई इंस्पेक्टर की करतूत, लड़की पर चढ़ाई कार, 100 मीटर तक घिसटने के बाद...

लोगों ने शोर मचा कर कार रुकवाने का प्रयास किया, लेकिन वह भागने की कोशिश करता रहा.

Hardoi News: यूपी के हरदोई में एक दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है. दरअसल पूर्ति विभाग (Supply Department) के निरीक्षक ने विवेक सिंह (Vivek Singh) ने नशे की हालत में एक लड़की पर कार चढ़ा दी और लोगों के शोर मचाने के बाद भी उन्‍होंने कार (Car) नहीं रोकी. कार के साथ 100 मीटर घिसटने की वजह से लड़की गंभीर रूप से घायल हो गई. इस मामले में पुलिस (UP Police) ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

SHARE THIS:

हरदोई. उत्‍तर प्रदेश के हरदोई में पूर्ति विभाग (Supply Department) के निरीक्षक की हैरान कर देने वाली करतूत सामने आई है. नशे की हालत में पूर्ति निरीक्षक ने अपने भाई के साथ जा रही लड़की पर कार (Car) चढ़ा दी. जबकि कार स्पीड में होने के चलते लड़की गिर गई और उसके कपड़े कार में फंस गये. इस वजह से वह करीब सौ मीटर तक सड़क पर ही घिसटती रही. हालांकि इस दौरान स्थानीय लोगों ने शोर मचा कर गाड़ी रुकवाने का प्रयास किया, लेकिन विफल होने पर लोग जब गाड़ी के सामने खड़े हो गए तब जाकर कहीं कार रुकी. इस दौरान लड़की गंभीर रूप से घायल हो गई. जबकि गंभीर हालत में किशोरी को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहीं, पुलिस (UP Police) ने पूर्ति निरीक्षक को गिरफ्तार कर लिया है और अग्रिम कार्रवाई में जुटी है.

यह घटना हरदोई शहर के व्यस्ततम मार्ग लखनऊ रोड की है. दरअसल कोतवाली शहर के हरीपुरवा के रहने वाले स्‍वर्गीय मनोज पांडेय की बेटी प्रीति अपने भाई पीयूष के साथ पैदल लखनऊ चुंगी से सिनेमा चौराहे की ओर जा रही थी, तभी पूर्ति विभाग के विकासखंड सुरसा के पूर्ति निरीक्षक विवेक सिंह ने प्रीति को अपनी विटारा ब्रीजा कार से टक्कर मार दी. प्रीति मौके पर ही गिर गई और उसके ऊपर से निकली कार में उसके कपड़े फंस गए, जिसके बाद कार में फंसकर वह करीब सौ मीटर तक घिसटती चली गई.

ये भी पढ़ें- UP : अखिलेश यादव का सपा का चेहरा बदलने से ज्‍यादा जिताऊ कैंडिडेट पर फोकस, जानें यू-टर्न के पीछे की कहानी

लोग शोर मचाते रहे, लेकिन नहीं रोकी कार
हालांकि इस दौरान स्थानीय लोगों ने जब यह दृश्य देखा तो शोर मचा कर कार को रोकने की कोशिश की, लेकिन नशे की हालत में गाड़ी चला रहे पूर्ति निरीक्षक विवेक सिंह ने जब गाड़ी नहीं रोकी तो लोग उनकी गाड़ी के सामने ईंट पत्थर लेकर खड़े हो गए. इसके बाद पूर्ति निरीक्षक की गाड़ी रोकी जा सकी. मौके पर मौजूद लोगों ने तत्काल गाड़ी को उठाकर प्रीति को गाड़ी के नीचे से बाहर निकाला और उसे अस्पताल भिजवाया. यह तो गनीमत रही कि लड़की के कपड़े कार में फस गए नहीं तो उसकी जान भी जा सकती थी. मामले की सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने पूर्ति निरीक्षक को गिरफ्तार कर लिया है और उसके खिलाफ अग्रिम कार्यवाही में जुटी है.

Hardoi News: पत्नी ने प्रेमी को घर बुलाया, फिर पति की गला दबाकर कर डाली हत्या

हरदोई में पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर पति की गला दबाकर हत्या कर दी.

Hardoi Crime News: हरदोई में पत्नी ने प्रेमी के साथ मिल पति की कर हत्या दी. पुलिस ने FIR दर्ज करके हत्या की आरोपी पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है. महिला के प्रेमी की तलाश में पुलिस दबिश दे रही है.

SHARE THIS:

हरदोई. उत्तर प्रदेश के हरदोई के सण्डीला इलाके में प्रेमी के साथ मिलकर महिला ने पति की गला दबाकर हत्या कर दी. घटना की जानकारी मिलते ही हड़कंप मच गया. पुलिस ने तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर महिला को गिरफ्तार कर लिया है. महिला के प्रेमी की तलाश में पुलिस जुट गई है. एएसपी ने मौके का निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश पुलिस को दिए है.

जानकारी के अनुसार, सण्डीला कोतवाली क्षेत्र के बेलई निवासी मुरली ने बताया कि उसका पुत्र विपिन अपने ननिहाल भुड़कुल मजरा रसूलपुर में परिवार के साथ रहता था. बीती शाम विपिन व उसकी पत्नी गुड़िया, उनकी नानी, उसकी माता व छोटा भाई करन खाना खाकर अपने-अपने कमरे में चले गये. विपिन व गुड़िया के बीच उंसके प्रेमी छोटू निवासी भानपुर थानां अतरौली को लेकर अक्सर विवाद होता रहता था. आए दिन एक दूर पर आरोप-प्रत्यारोप लगाकर विवादों को और तूल दिया जाता था. इस सबसे त्रस्त होकर प्रेमी व प्रेमिका ने एक दिन प्लान बना कर अपने अपराधों को अंजाम दे दिया.

गुड़िया ने अपने प्रेमी छोटू के साथ मिलकर विपिन की गला दबाकर हत्या कर दी. सूचना पाकर मौके पर पहुची पुलिस ने तहरीर के आधार पर एफआईआर दर्ज करके शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. मामले में SP अजय कुमार ने बताया कि घटना में एफआईआर दर्ज करके हत्या की आरोपी पत्नी गुड़िया को गिरफ्तार कर लिया गया है, जिसने पूछताछ में जुर्म कबूल कर लिया है. उसके प्रेमी छोटू की तलाश की जा रही है.

हरदोई: जहरीली शराब कारोबारियों पर कसा शिकंजा, DM के आदेश पर 50 लाख की संपत्ति कुर्क

हरदोई:अवैध शराब कारोबारियों की 50 लाख की संपत्ति कुर्क, प्रशासन ने दिखाई सख्ती .

Hardoi News: हरदोई में जहरीली शराब के कारोबारियों पर बड़ी कार्रवाई हुई है. डीएम अविनाश कुमार के आदेश के पर यहां शराब कारोबारियों की 50 लाख की सम्पत्ति कुर्क की गई. इसमें जमीन के साथ करोबारियों की 3 लग्जरी कारें भी कुर्क की गईं.

SHARE THIS:

हरदोई.  हरदोई (Hardoi) में जहरीली शराब (Poisonous Liquor) के कारोबारियों पर बड़ी कार्रवाई हुई है. डीएम के आदेश पर यहां शराब कारोबारियों की 50 लाख की संपत्ति कुर्क की गई. इसमें जमीन के साथ करोबारियों की 3 लग्जरी कारें भी कुर्क की गईं. इस कार्रवाई को लेकर एसपी अजय कुमार ने कहा कि ऐसे अपराधियों को शरण देने वाले और उनके गुर्गों पर भी कार्रवाई की जाएगी.

हरदोई में डीएम अविनाश कुमार के आदेश के बाद जहरीली शराब के कारोबारियों पर प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई करते हुए शराब कारोबारियों की जमीन व 3 लग्जरी कारों समेत करीब 50 लाख रुपये की संपत्ति कुर्क की है. बेनीगंज में दर्ज हुए मुकदमे की टड़ियावां प्रभारी निरीक्षक द्वारा विवेचना की गई थी. सण्डीला में एसडीएम,तहसीलदार, सीओ हरियांवा व टड़ियावां के प्रभारी निरीक्षक की मौजूदगी में इस कार्रवाई को आंजाम दिया गया.

बतादें कि बेनीगंज कोतवाली में दर्ज एक मुकदमे के आरोपी मुकेश अवस्थी पुत्र जुगुल किशोर अवस्थी निवासी ग्राम मंगरा मजरा अटसलिया थाना सण्डीला पर पुलिस ने गैंगेस्टर एक्ट की कार्रवाई की थी, जिसकी विवेचना टड़ियावां पुलिस को दी गई थी. टड़ियावां प्रभारी निरीक्षक राय सिंह को विवेचना के दौरान मंगरा गांव में मुकेश अवस्थी व उनकी पत्नी गुंजन अवस्थी के नाम कृषि भूमि खरीदने की जानकारी मिली. इसके बाद जिलाधिकारी को रिपोर्ट भेजकर वाद के क्रम में उत्तर प्रदेश गिरोहबंद अधिनियम के अंतर्गत कुर्क करने का आदेश पारित हुआ.

सण्डीला एसडीएम मनोज कुमार श्रीवास्तव, सीओ हरियावां आरएस कुशवाहा, तहसीलदार अम्बिका चौधरी, टड़ियावां प्रभारी निरीक्षक राय सिंह, सण्डीला कोतवाली के वरिष्ठ उपनिरीक्षक इरशाद अली ने टीम के साथ मंगरा गांव में जाकर कृषि भूमि को मुनादी कराके संपत्ति की कुर्की की. एसपी अजय कुमार ने बताया कि इस प्रकार के अपराधियों को शरण देने वाले अथवा अपराधियों के गुर्गों पर भी कार्रवाई होगी.

Mob Lynching in Indore: दहशत में तस्लीम का परिवार, सरकार से लगाई गुहार

mob lynching indore: हरदोई में तस्लीम का परिवार दहशत में है. वह सरकार से न्याय की गुहार लगा रहा है.

Hardoi News: हरदोई में बिराइचमऊ गांव के करीब 30 लड़के चूड़ियों की फेरी का काम करते हैं. वर्षों से चला आ रहा तस्लीम का व्यवसाय मॉब लिंचिंग की घटना के बाद चर्चा का केंद्र बन गया है. तस्लीम के परिवार का रो-रोकर बुरा हाल है.

SHARE THIS:

हरदोई. मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में एक लिंचिंग (Mob Lynching in Indore) की घटना ने पूरे देश में एक नया बवाल खड़ा कर दिया है. तस्लीम के साथ हुई इस मारपीट की घटना से पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है. कई नेताओं के आरोप-प्रत्यारोप सामने आए हैं. ऐसे में इसके परिवार के लोग भी दहशत के साए में जी रहे हैं और सरकार से न्याय की गुहार लगा रहे हैं. एमपी में पीटा जाने वाला युवक तस्लीम उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले के सांडी थाना क्षेत्र के बिराइचमऊ गांव का रहने वाला है. वह चूड़ियों की फेरी इंदौर में लगाता था.

बता दें कि बिराइच मऊ गांव के करीब 30 लड़के हैं, जो चूड़ियों की फेरी का काम करते हैं. वर्षों से चला आ रहा तस्लीम का व्यवसाय आज अचानक चर्चा का केंद्र बन गया और और इस घटना के बाद बड़े-बड़े नेताओं की प्रतिक्रिया इस पर आने लगी है. बिराइचमऊ का तस्लीम 5 बच्चों का पिता है. छोटे-छोटे बच्चे व पत्नी और मां सभी का रो-रो कर बुरा हाल है.

इंदौर: चूड़ी बेचने वाले की पिटाई पर बवाल, गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा बोले- हिन्दू नाम बताकर बेच रहा था चूड़ियां

मां और पत्नी का यही मानना है कि उसका बेटा और पति किसी तरीके से हरदोई वापस आ जाए. पिता मोहर अली बताते हैं कि गांव में कई लोगों के आधार कार्ड दो नामों से बने हैं. तस्लीम का आधार कार्ड भी असलीन और तसलीम नाम से दो आधार कार्ड बने हुए हैं. जाहिर है कि प्रशासनिक लापरवाही के चलते दोबारा आधार कार्ड बनते हैं और भुगतते पीड़ित हैं.

Mob Lynching in Indore : केस में नया मोड़, चूड़ी बेचने वाले युवक पर पॉक्सो एक्ट सहित 9 गंभीर धाराओं में FIR

 इस घटना की जानकारी जब उन्हें मिली तो वह अपने साथियों के साथ वहां जा रहे हैं. आपको बता दें कि बिराइचमऊ में बंजारे रहते हैं. पूरा गांव बंजारों का है और इन लोगों का मुख्य धंधा जयपुर से चूड़ियां लाकर देश के विभिन्न इलाकों में बेचना होता है. यह लोग दो से ढाई महीने कहीं भी रह कर वापस हरदोई आ जाते हैं. बहरहाल परिवार अब सरकार की तरफ न्याय की आस लगाए है.

UP Assembly Election: ओमप्रकाश राजभर का वादा- 2022 में सरकार बनी तो उत्‍तर प्रदेश में लागू होगी शराब बंदी

ओमप्रकाश राजभर ने हरदोई में जान चौपाल  संबोधित

Hardoi News: ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि 1931 से जातिगत जनगणना सरकारें नहीं करा रही हैं. जबकि बाबा साहब अंबेडकर ने जो व्यवस्था दी है, उसके हिसाब से जातिगत जनगणना होनी चाहिए.

SHARE THIS:

हरदोई. संडीला विधानसभा के विकासखंड भरावन के बिरहाना गांव में जन चौपाल लगाने पहुंचे सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (SBSP) के सुप्रीमो ओमप्रकाश राजभर (Omprakash Rajbhar) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर तीखा हमला करते हुए उन्हें झूठा बताया. साथ ही कहा कि साल 2022 में सरकार बनने पर तक शिक्षा, 300 यूनिट बिजली फ्री देंगे और प्रदेश में शराब की पूर्ण रूप से बंदी की जाएगी.

इस दौरान पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि 1931 से जातिगत जनगणना सरकारें नहीं करा रही हैं, क्योंकि बाबा साहब अंबेडकर ने जो व्यवस्था दी है उसके हिसाब से जातिगत जनगणना होनी चाहिए और जाति के अनुसार निर्धारित हो किसकी कितनी भागीदारी है. उन्होंने कहा कि चाहे वह कांग्रेस की सरकार हो या बीजेपी की सरकार हो किसी ने भी इस पर अमल नहीं किया है.

हिन्दू-मुसलमानों में झगड़ा कराकर वसूलती है वोट
बीजेपी सरकार पर हमला बोलते हुए राजभर ने कहा कि मध्य प्रदेश में जो मामला हुआ है, जहां भाजपा की सरकार है वहीं ऐसे मामले संज्ञान में आते हैं. हिंदू-मुस्लिम में इन सरकारों द्वारा झगड़ा करा कर वोट वसूला जाता है. हिंदू-मुस्लिम दोनों ही भारतीय नागरिक हैं. इनके बीच में झगड़ा कराना गलत बात है. जो दोषी हैं उनके खिलाफ तत्काल मुकदमा पंजीकृत करा कर कार्रवाई करनी चाहिए न कि फर्जी केस में फंसा कर निर्दोष को सजा मिलनी चाहिए.

कुंभ में करोड़ों रुपयों का हुआ घोटाला
ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ झूठ बोलते हैं. उन्होंने कहा साधु-संत और महात्माओं को मंदिर में घंटा बजाना चाहिए, क्योंकि उन्होंने राजनीति से पहले ही संन्यास ले लिया है, लेकिन वह तो यहां बैठ कर सत्ता का मजा ले रहे हैं. उन्होंने कहा कैग की रिपोर्ट आई है. कुंभ में करोड़ों रुपए का घोटाला हुआ है. हर विभाग में घोटाला है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रोजगार को लेकर दावा करते हैं कि उत्तर प्रदेश में बेरोजगारी बिल्कुल नहीं है, वहीं इसके उलट मध्य प्रदेश में उत्तर प्रदेश के लोग रोजगार करते हैं.

UP: हरदोई में सम्मेलन के दौरान सतीश चंद्र मिश्रा का दावा- ‘2007 की तरह एक बार फिर 2022 में बनेगी BSP की सरकार’

UP: ‘2007 की तरह एक बार फिर 2022 में बनेगी BSP की सरकार’

सतीश चंद्र मिश्रा (Satish Chandra Mishra) ने प्रबुद्ध सम्मेलन में समाजवादी पार्टी पर भी तीखा हमला बोला. उन्होंने कहा समाजवादी पार्टी की सरकार जब भी आती है, तो डकैती, फिरौती बलात्कार, लूटपाट, दंगे फसाद इन सब की झड़ी लग जाती है.

SHARE THIS:

हरदोई. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में होने वाले 2022 विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) से पहले बसपा (BSP) प्रदेशभर में प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन कर रही है. इसी क्रम में हरदोई (Hardoi) जिले में भी बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा (Satish Chandra Mishra) ने प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन के दौरान कहा कि 2007 की तरह एक बार फिर प्रदेश में पूर्ण बहुमत की सरकार बसपा बनाएगी. बसपा महासचिव ने हरदोई के गांधी मैदान में प्रबुद्ध वर्ग के सम्मेलन को संबोधित करते हुए भारतीय जनता पार्टी पर अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के नाम पर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए समाजवादी पार्टी पर भी ब्राह्मणों और दलितों के उत्पीड़न का आरोप लगाया. उन्होंने 2007 की तरह प्रदेश में इस बार बहुजन समाज पार्टी की पूर्ण बहुमत से सरकार बनाने का दावा भी किया.

उन्होंने बसपा की सरकार बनने की बात करते हुए कहा कहीं कोई चुनौती नहीं दे रहा है. चुनौती किसी की तरह नहीं हो रही है 2007 की तरह बहुजन समाज पार्टी पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने जा रही है और जितना 2007 से मिला इससे कहीं अधिक बनाने जा रही है. इस दौरान सतीश मिश्रा ने राम मंदिर निर्माण को लेकर भी बीजेपी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि अयोध्या में मंदिर निर्माण के नाम पर केवल पैसे खर्च हो रहे हैं, लेकिन जमीनी स्तर पर कुछ भी काम नहीं दिख रहा है. 5 अगस्त 2020 को 200 करोड़ रुपए खर्च कर भूमि पूजन का कार्यक्रम कराया गया, जबकि उस दिन भूमि पूजन नहीं हुआ, बल्कि 5 ईंटों का पूजन हुआ. उन्होंने बताया कि बीजेपी को बताना चाहिए कि राम मंदिर निर्माण के नाम पर वसूला हुआ पैसा कहां गया.

UP: पूर्व सीएम कल्याण सिंह पंचतत्व में विलीन, सीएम योगी बोले- राम की शरण में आज चले परम रामभक्त…

उन्होंने कहा कि हम लोगों की तरह नहीं हैं यह लोग खाली वोट मांगने के लिए धर्म का नाम लेते हैं. हम लोग धार्मिक स्थान होते हैं वहां पर वोट मांगने के लिए नहीं आस्था से जुड़ा हुआ होता है. खासकर ब्राह्मण समाज से उन आस्था वाले स्थानों को हम लोग सुधारने ठीक करने का काम करते हैं. सतीश चंद्र मिश्रा ने प्रबुद्ध सम्मेलन में समाजवादी पार्टी पर भी तीखा हमला बोला. उन्होंने कहा समाजवादी पार्टी की सरकार जब भी आती है, तो डकैती, फिरौती बलात्कार, लूटपाट, दंगे फसाद इन सब की झड़ी लग जाती है. समाजवादी पार्टी जैसे एक सिक्के के दो पहलू हैं, उस तरह से भारतीय जनता पार्टी और समाजवादी पार्टी है.

अखिलेश यादव की सरकार में सैफई से आई सूची पर होती थी नियुक्तियां: स्वतंत्र देव सिंह

हरदोई- बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर बड़ा हमला किया है.

UP News: बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने अखिलेश यादव पर बड़ा हमला बोला है. उन्होंने कहा कि अखिलेश की सपा सरकार में सैफई से आई सूची पर नियुक्तियां होती थीं. नियुक्तियां भी एक जाति विशेष की होती थीं.

SHARE THIS:

हरदोई. भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ( UP President Swatantra Dev Singh) ने अखिलेश यादव की सरकार को लेकर उन्हें कटघरे में खड़ा किया और कहाकि अखिलेश यादव की सरकार (Akhilesh Yadav Govt) ने प्रदेश के लिए किया ही क्या है? नियुक्तियों में भ्रष्टाचार और सैफई से आई सूची पर एक जाति की नियुक्तियों को किया गया. सरकार में भ्रष्टाचार गुंडाराज था ऐसे में जनता उनको दुबारा क्यों चुनेगी. कहाकि योगी सरकार में ईमानदारी से जनता के  लिए काम हो रहे इसलिए जनता ईमानदार नेता चुनेगी.

विधानसभा चुनाव में फतेह के लिए भारतीय जनता पार्टी पूरी जोर आजमाइश कर रही है भाजपा पूरी ताकत लगाए हुए हैं. ऐसे में संगठन को मजबूत करने के लिए छूट छोटे से बड़े नेताओं को जिलों में भेजा जा रहा है. इसी कड़ी में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह शनिवार को हरदोई पहुंचे. यहां BJP प्रदेश अध्यक्ष ने समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव को निशाने पर रखा. अखिलेश यादव की एक टिप्पणी कि 2022 में जनता सपा की सरकार बनाएगी. इसे लेकर कहा की जनता ने ऐसा कोई मन नहीं बनाया है. 2022 में जनता अखिलेश की सरकार क्यों बनाएगी और क्यों ऐसा मन बनाएगी?

सबसे ज्यादा सरकारी भर्तियां योगी सरकार में हुईं 

स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि कहाकि अखिलेश यादव ने प्रदेश के लिए क्या किया है. उन्होंने कहा सरकारी नौकरियों की नियुक्तियों में सैफई से एक जाति विशेष की सूची आती थी उसी सूची पर नियुक्तियां की जाती थी. अखिलेश यादव ने नियुक्तियों में भ्रष्टाचार किया है. प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि 15 सालों में जितनी नियुक्तियां नहीं हुई उतनी नियुक्तियां 4 साल में हुई हैं. सरकार ने 4 लाख 30 हजार भर्ती की हैं. अखिलेश सरकार में गुंडागर्दी, भ्रष्टाचार यह सब था लेकिन योगी सरकार में ईमानदार नेता है. जनता की सेवा के लिए जुटे हुए हैं, तो ऐसे में जनता अखिलेश यादव को वोट क्यों देगी. स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि बीजेपी का लक्ष्य है गरीबों की सेवा और गरीबों के कल्याण के लिए काम करना. सभी समाज को सभी वर्गों को जोड़ना और उनके लिए काम करना और जनता को खुशहाल रखना.

23 अगस्त से बूथ विजय अभियान की शुरुआत

स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि 23 अगस्त से विजय बूथ अभियान शुरू होगा. नोएडा से पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा इसकी शुरुआत करेंगे. 25 सितंबर को पंडित दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि पर पन्ना प्रमुखों का उत्तर प्रदेश के सभी मंडलों में सम्मेलन के साथ इस अभियान का समापन होगा. इस अभियन मे सदस्यता अभियान चलेगा जिसमें नए सदस्यों को जोड़ा जाएगा, पुराने जो मेम्बर हैं. उनका सम्पर्क अभियान चलेगा, लाभार्थियों से सम्पर्क अभियान चलेगा हर घर लोग सम्पर्क करने जाएंगे. ये पूरी रुपरेखा तैयार की गई है.

UP Anganwadi Recruitment 2021: यूपी के 11 जिलें में 5वीं से 10वीं पास के लिए बंपर नौकरियां, जल्द करें आवेदन

UP Anganwadi Recruitment 2021: हरदोई सहित यूपी के विभिन्न जिलों में आंगनबाड़ी की भर्तियां निकली हैं.

UP Anganwadi Recruitment 2021:  उत्तर प्रदेश में हरदोई सहित 11 जिलों में आंगनबाड़ी की भर्तियां निकाली गई हैं. इन पदों के लिए अभ्यर्थी निर्धारित अंतिम तिथि तक आवेदन कर सकते हैं.  

SHARE THIS:

नई दिल्ली(UP Anganwadi Recruitment 2021). उत्तर प्रदेश के 11 जिलों में आंगनबाड़ी कार्यकत्री, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों व सहायिका की भर्तियों के लिए नोटिफिकेशन जारी किया गया है. इन पदों के लिए अभ्यर्थी बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग की आधिकारिक वेबसाइट balvikasup.gov.in के जरिए आवेदन कर सकते हैं. अगल- अलग जिलों के आवेदन की अंतिम तिथि अलग-अगल निर्धारित की गई हैं.

UP Anganwadi Recruitment 2021: इन जिलों में होगी भर्तियां
जारी आधिकारिक नोटिफिकेशन के अनुसार प्रदेश के मेरठ, हरदोई, संतकबीर नगर मैनपुरी, बरेली, भदोही, अलीगढ़, औरैया, पीलीभीत देवरिया और एटा जिले में भर्तियां होगी. अभ्यर्थी आधिकारिक वेबसाइट से आवेदन फॉर्म डाउनलोड कर इन जिलों के लिए आवेदन कर सकते हैं.

UP Anganwadi Recruitment 2021: शैक्षणिक योग्यता
इन पदों के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थी को किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 5वीं या 10वीं पास होना चाहिए. इन पदों के लिए 12वीं और ग्रेजुएशन पास अभ्यर्थी भी आवेदन कर सकते हैं.

UP Anganwadi Recruitment 2021: आयु सीमा
इन पदों के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थी की उम्र 21 वर्ष से 45 वर्ष के बीच होनी चाहिए.

UP Anganwadi Recruitment 2021: चयन प्रक्रिया
इन पदों पर अभ्यर्थियों का चयन शैक्षणिक योग्यता के आधार पर तैयार की गई मेरिट लिस्ट के अनुसार किया जाएगा. अभ्यर्थी इस भर्ती से संबंधित अधिक जानकारी के लिए जारी आधिकारिक नोटिफिकेशन को देख सकते हैं.

यह भी पढ़ें –
School Reopen: यूपी में खुलने वाले हैं सभी स्कूल, बच्चों को भेजने से पहले जानिए सभी सवालों के जवाब
UP Board Exam 2022: यूपी बोर्ड 10वीं व 12वीं प्री बोर्ड व प्रैक्टिकल परीक्षाओं का शेड्यूल, यहां करें चेक

UP Anganwadi Recruitment 2021: किस जिले में आवेदन की अंतिम तिथि कब  
अलीगढ़ में 4 सितंबर 2021, औरैया में 8 सितंबर 2021, बरेली में 3 सितंबर 2021, मेरठ में 6 सितंबर 2021, एटा में 6 सितंबर  2021, मैनपुरी में 7 सितंबर 2021, पीलीभीत में 31 अगस्त 2021, देवरिया में 8 सितंबर 2021, संत कबीर नगर में 31 अगस्त 2021, भदोही में 5 सितंबर 2021 और हरदोई में 3 सितंबर 2021 तक अभ्यर्थी इन पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं.

हरदोई: SP ऑफिस के सामने महिला ने पेड़ से लगाई फांसी, आस-पास मौजूद लोगों ने बचायी जान

महिला ने पुलिस को बताया कि उसके ससुरालवाले उसके साथ बुरा बर्ताव करते हैं, इससे परेशान होकर ही उसने फांसी लगाने जैसा कदम उठाया था

Uttar Pradesh News: लोगों द्वारा समय रहते फांसी लगाने से रोकने पर महिला ने बताया कि उसका पति विनोद उसे बिना बताए कहीं चला गया है. वो उससे बात नहीं कर रहा है लेकिन अपने माता-पिता से संपर्क में है. उसने बताया कि उसके ससुरालवाले उसे आए दिन मारते-पीटते हैं, और घर से भगाने का प्रयास करते हैं

SHARE THIS:

हरदोई. उत्तर प्रदेश हरदोई (Hardoi) में पुलिस अधीक्षक (एसपी) ऑफिस के पास दूर एक महिला ने अपनी जान देने की कोशिश की. महिला को पेड़ से फांसी (Suicide) लगाने का प्रयास करता देख वहां हड़कंप मच गया. आस-पास मौजूद लोगों ने आनन-फानन में उसे ऐसा करने से रोका और उसकी जान बचाई. बताया जा रहा है कि महिला मानसिक रूप से विक्षिप्त है. महिला अपने ससुरालवालों के व्यवहार से परेशान होने का दावा कर रही है.

मिली जानकारी के मुताबिक एसपी कार्यालय से चंद कदमों की दूरी पर पुलिस क्लब परिसर में पेड़ से महिला ने अपनी साड़ी को फंदा बनाकर उससे फांसी लगा ली. यह देखकर आसपास मौजूद लोग दौड़े और उसे नीचे से उठा कर पकड़ लिया जिससे उसे फांसी लगाने से बचाया जा सका. इस दौरान वहां से गुजर रहे एक पुलिसकर्मी ने महिला को फांसी के फंदे से नीचे उतारा. पीड़िता ने अपना नाम प्रमिला बताया. उसने कहा कि वो बिहार के जमुई जिले के अमृतपुर गांव की रहने वाली है, और 15 वर्ष पहले उसकी शादी पिहानी थाना के बड़ा गांव निवासी विनोद के साथ हुई थी. उसकी दो बेटियां हैं.

प्रमिला का कहना है कि उसका पति विनोद उसे बिना बताए कहीं चला गया है. वो उससे बात नहीं कर रहा है लेकिन अपने माता-पिता से संपर्क में है. उसने बताया कि उसके ससुरालवाले उसे आए दिन मारते-पीटते हैं, और घर से भगाने का प्रयास करते हैं.

पीड़िता के मुताबिक उसने स्थानीय थाने में इसकी शिकायत की लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की. इसके बाद उसने एसपी कार्यालय पहुंच कर भी शिकायत की है. मगर यहां भी उसकी बात नहीं सुनी गई. इसलिए परेशान होकर वो फांसी लगाकर आत्महत्या करना चाहती थी.

UP Assembly Election 2022: शिवपाल ने तोड़ी चुप्पी, बताया किस पार्टी से चाहते हैं गठबंधन

गठबंधन के सवाल पर शिवपाल यादव बोले- सपा उनकी पहली प्राथमिकता (File photo)

इससे पहले इटावा में शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) ने कहा था कि 2022 में अगर हमारी उत्तर प्रदेश में सरकार बनती है तो किसानों और मुसलमानों को पूरा सम्मान मिलेगा.

SHARE THIS:

हरदोई. उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए सभी सियासी दल अब माहौल बनाना शुरू कर दिया है. इसी कड़ी में मंगलवार को अलीगढ़ (Aligarh) जाते समय हरदोई (Hardoi) पहुंचे प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया (PSP) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) ने गठबंधन के सवाल पर बड़ा बयान दिया. शिवपाल ने कहा कि दो साल पहले उन्होंने नारा दिया था कि गैर भाजपाई दल उनके साथ मिलकर काम करें तो उनकी प्राथमिकता है. इसलिए उनका आज भी यही कहना है कि उनकी पहली प्राथमिकता में समाजवादी पार्टी ही है.

उन्होंने कहा कि मुसलमानों पर जहां शक हो वहां देश के लिए हानि है. आजादी की लड़ाई हो या कोई और अन्य परिस्थितियां मुसलमान हमेशा देशभक्त रहा है उनकी देशभक्ति पर शंका नहीं करनी चाहिए. यह उनका सुझाव है. अलीगढ़ शहरों के नाम बदलने को लेकर शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि इस सरकार ने कोई नया काम नहीं किया है जो भी निर्णय लिए गए हैं ना वह देश हित में है ना जनता के हित में है. इसीलिए हर तरह से प्रदेश और देश काफी पिछड़ चुका है. क्योंकि देश और प्रदेश की सरकार असफल है. इस दौरान संडीला बॉर्डर से लेकर हरदोई तक उनका कई जगह भव्य स्वागत हुआ.

UP Election 2022: जानिए BJP की ‘जन आशीर्वाद’ और SP की ‘जन आक्रोश’ यात्रा के पीछे का मकसद!

इससे पहले इटावा में शिवपाल सिंह यादव ने कहा था कि 2022 में अगर हमारी उत्तर प्रदेश में सरकार बनती है तो किसानों और मुसलमानों को पूरा सम्मान मिलेगा. किसी के साथ धर्म जाति से कोई भेदभाव नहीं किया जाएगा. किसान सरकार के द्वारा पास किए गए काले कानून का विरोध कर रहा है. लेकिन, सरकार किसानों की समस्याओं को नहीं सुन रही है. जिसको लेकर किसान भी महीनों से धरने पर बैठे हैं. सरकार को किसानों की बात सुनना चाहिए क्योंकि किसान ही अन्नदाता है.

Load More News

More from Other District

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज