लाइव टीवी
Elec-widget

डिजिटल ज्ञान ने छात्रों को बनाया अपराधी, YouTube देखकर छाप रहे थे नकली नोट!

ashish mishra | News18 Uttar Pradesh
Updated: December 2, 2019, 5:10 PM IST
डिजिटल ज्ञान ने छात्रों को बनाया अपराधी, YouTube देखकर छाप रहे थे नकली नोट!
नकली नोट छापने वाले चार छात्र पुलिस के हत्थे चढ़े

उत्तर प्रदेश (UP) के हरदोई (Hardoi) में ग्रेजुएशन में पढ़ने वाले 4 छात्रों ने यूट्यूब (YouTube) की मदद से लाखों की फर्जी करेंसी (Fake Currency) बनाकर मेले और ठेलों पर चला दी.

  • Share this:
हरदोई. देश में फेक करेंसी (Fake Currency) की भरमार होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने वर्ष 2016 में नोटबंदी लागू की थी. ताकि देश में चल रही फर्जी करेंसी पर लगाम लगाई जा सके. लेकिन अपराधी, जिम्मेदारों से चार कदम आगे चल रहे हैं. यह हम नहीं कह रहे हैं बल्कि उत्तर प्रदेश के हरदोई (Hardoi) जिले में हुई एक घटना इसकी गवाही दे रही है. दरअसल हरदोई में ग्रेजुएशन में पढ़ने वाले 4 छात्रों ने यूट्यूब (YouTube) की मदद से फर्जी करेंसी बनाकर लाखों की करेंसी मेले और ठेलों पर चला दी. हालांकि बाद में जब यह खबर पुलिस के कानों तक पहुंची तो उसने चारों ही अपराधियों को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे पहुंचा दिया.

ज्ञान के गलत इस्तेमाल ने बनाया अपराधी

गिरफ्तार चारों छात्र वैसे तो पेशेवर अपराधी नहीं हैं, लेकिन अपनी काबिलियत के गलत इस्तेमाल ने इन्हें सलाखों के पीछे पहुंचा दिया. इन्होंने जो गुनाह किया है वह मामूली नहीं, बल्कि काफी गंभीर है. पुलिस की गिरफ्त में आए आरोपी आलोक, अतुल, आशीष सुरसा इलाके के रहने वाले हैं. चौथा आरोपी ओमप्रकाश कोतवाली शहर के आजाद नगर का रहने वाला है. ग्रेजुएशन में पढ़ने वाले इन छात्रों को डिजिटल ज्ञान ने अपराधी बना दिया.

यूट्यूब की मदद से छाप रहे थे नकली नोट

दरअसल यह चारों ही दोस्त यूट्यूब पर फेक करंसी बनाने वाले वीडियो को देखते थे. जिसके बाद उन्होंने फेक करेंसी बनाने का प्लान बनाया. इसके लिए बकायदा इन्होंने शाहजहांपुर जनपद से अच्छे कागज की खरीद की जो कि असली नोट से मिलता-जुलता हो. इसके बाद एक विशेष प्रकार के लेजर स्कैनर को खरीदा गया, जिससे किसी भी चीज को स्कैन करने में असली और नकली का फर्क जरा भी न पता चले. इन चारों ने मिलकर कोतवाली शहर इलाके के श्रवण देवी में एक कमरा किराए पर लिया और फिर यहां पर प्रिंटर लगाकर पहले 100 के असली नोटों को स्कैन करके उसकी नकली करेंसी बनाकर जिले और जिले के बाहर के मेलों में चलाना शुरु किया.

fake currency hardoi
बरामद नकली नोट


100 के नोटों से हुई शुरुआत
Loading...

पहली कोशिश के बाद सफल उनकी पहली कोशिश जब इन्हें कामयाब होती दिखी तो इन्होंने भारी मात्रा में फर्जी करेंसी छाप कर उसको चलाना शुरु किया. 100 के नोटों से हुई शुरुआत जब बराबर कामयाबी पाती गई तो इनके हौसले और बुलंद हुए और उसके बाद इन्होंने 100 की करेंसी के अलावा 500 की करेंसी भी छापना शुरू कर दिया. लेकिन लाखों रुपए की सप्लाई जब मार्केट में हो चुकी तब इसकी भनक हरदोई पुलिस को भी लगी.

इस तरह हुई गिरफ़्तारी

हरदोई पुलिस ने जब अपने सूत्रों से तार जोड़े तो पता चला कि टडियावा इलाके में कुछ लोग फर्जी करेंसी की सप्लाई देने वाले हैं. पुलिस ने जाल बिछाकर इन चारों को गिरफ्तार कर लिया और इनके पास से 1,26,700 रुपए के नकली नोट और 6630 के असली नोट बरामद किए. इसके अलावा 500 के तकरीबन 8 नकली नोट बरामद किए हैं. एसपी आलोक प्रियदर्शी ने बताया है चारों ही ग्रेजुएट के छात्र हैं, लेकिन इनकी गलत हरकतों ने इन्हें अपराधी बना दिया. फिलहाल पुलिस ने इन चारों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

ये भी पढ़ें- नैंसी मर्डर केस: हत्या में इस्तेमाल गाड़ी-पिस्तौल बरामद, सामने आईं 2 तस्वीरें

यहां लगेगी शराब की सेल, 25 प्रतिशत सस्ती मिलेगी अंग्रेजी शराब और बीयर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए हरदोई से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 2, 2019, 4:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...