हरदोई: जानिए कैसे पता चला शराब माफिया सपा नेता की पत्नी और मां के पास है ढाई करोड़ की संपति

हरदोई के शराब माफिया और सपा नेता सुभाष पाल (Subhash Pal) की पत्नी और उनकी मां की गैस एजेंसी, पेट्रोल पंप कुर्क किया गया.

Hardoi News: हरदोई में सुभाष पाल समाजवादी पार्टी से बिलग्राम मल्लावां क्षेत्र से विधानसभा का चुनाव लड़ चुके हैं और पार्टी के बड़े नेताओं में गिने जाते हैं. मंगलवार को पुलिस अधीक्षक अजय कुमार मजिस्ट्रेट भारी पुलिस बल के साथ सपा नेता की माता व उनकी पत्नी की संपत्ति कुर्क कराने पहुंचे.

  • Share this:
सीतापुर. उत्तर प्रदेश में हरदोई (Hardoi) के समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के नेता सुभाष पाल (Subhash Pal) की पत्नी और उनकी मां की गैस एजेंसी, पेट्रोल पंप को प्रशासन व पुलिस की मौजूदगी में कुर्क किया गया है. सपा नेता सुभाष पाल पर कई आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं और उनके विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट की कार्यवाही भी हुई है. पुलिस की तरफ से की गई कार्यवाही में कहा गया है कि उन्होंने अपने भाई सुधीर पाल के सहित 14 लोगों का गैंग बनाकर अपराधिक कृत्यों से इन्होंने यह संपत्ति अर्जित की है.

सुभाष पाल अवैध व मिलावटी शराब के रजिस्टर्ड शराब माफिया घोषित हो चुके हैं. यहां प्रशासन ने लगभग ढाई करोड़ से अधिक की संपत्ति की कुर्की की कार्यवाही की है. एसपी के मुताबिक शराब माफिया ने कई अन्य लोगों के नाम अपराधिक कृत्यों से अर्जित की गई धनराशि से यह संपत्ति अर्जित की है. डीएम अविनाश कुमार ने सुरसा थाना के गडरियन पुरवा निवासी सुभाष पाल एवं उनके भाई सुधीर पाल पर की गई गैंगेस्टर की कार्यवाही के संबंध में एसपी की ओर से प्राप्त कराई गई रिपोर्ट के परीक्षण में पाया कि दोनों भाइयों ने करीब 14 लोगों का गैंग बनाकर आपराधिक गतिविधियों को चलाया और अपराधिक गतिविधियों से संपत्ति को अर्जित किया गया.

ये है पूरा मामला

8 मई, 2020 को कोतवाली देहात में दर्ज गैंगस्टर के मुकदमे की विवेचना के दौरान सुभाष पाल और सुधीर पाल द्वारा गिरोह बनाकर अर्जित की गई संपत्तियां प्रकाश में आई. डीएम ने सुभाष पाल की पत्नी सुनीता पाल के नाम से फतियापुर में गैस एजेंसी जिसकी अनुमानित कीमत 18 लाख है, के भूमि को सुभाष पाल ने पत्नी को लीज पर दे रखा है. सुधीर पाल ने यही पेट्रोल पंप भी संचालित कराया है. पेट्रोल पंप के लाइसेंस फीस 15 लाख सिक्योरिटी मनी 5 लाख और पंप आदि निर्माण की लागत 15 लाख से अधिक है. दो वाहन जिनकी अनुमानित कीमत 25 लाख है. ऐसे ही बिलग्राम मार्ग पर भूमि की कीमत करीब 10 लाख एवं उस पर निर्मित भवन की कीमत करीब 25 लाख रुपए हैं.

कहा गया है कि एसपी की आख्या से स्पष्ट है कि सुनीता पाल और प्रेमावती गैंगस्टर सुभाष पाल और सुधीर पाल पर आश्रित हैं. दोनों भाइयों ने आपराधिक कृत्यों से अर्जित संपत्ति को आश्रितों के नाम लगाकर बचाने का प्रयास किया है.

सपा के बड़े नेताओं में शुमार हैं सुभाष पाल

बता दें कि सुभाष पाल सपा से बिलग्राम मल्लावां क्षेत्र से विधानसभा का चुनाव लड़ चुके हैं और समाजवादी पार्टी के बड़े नेताओं में गिने जाते हैं. मंगलवार को पुलिस अधीक्षक अजय कुमार मजिस्ट्रेट के साथ भारी पुलिस बल के साथ सपा नेता की माता व उनकी पत्नी की संपत्ति कुर्क कराने पहुंचे. एसपी ने बताया कि इस प्रकार से उन्होंने तमाम संपत्ति अर्जित की हैं और करीब 13 अन्य गुर्गे है जिनकी पड़ताल की जा रही है और कड़ी कार्यवाही की जाएगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.