Home /News /uttar-pradesh /

अब हरदोई में प्रशासन ने गिराया 10 साल पुराना इबादतगाह, अवैध रूप से किया गया था निर्माण

अब हरदोई में प्रशासन ने गिराया 10 साल पुराना इबादतगाह, अवैध रूप से किया गया था निर्माण

इस दौरान भारी संख्या में पुलिस बल भी मौजूद रहा.

इस दौरान भारी संख्या में पुलिस बल भी मौजूद रहा.

काशीराम कालोनी (Kashiram Colony) में सरकारी जमीन पर अवैध रूप से अतिक्रमण कर एक इबादतगाह बनाए जाने का मामला सामने आया था. ईओ नगर पालिका ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि सगीर अहमद ने सरकारी जमीन पर अवैध अतिक्रमण कर रखा है.

हरदोई. उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले (Hardoi District) में एक बड़ी खबर सामने आई है. यहां के देहात कोतवाली क्षेत्र स्थित काशीराम कालोनी (Kashiram Colony) में सरकारी जमीन पर अवैध रूप बने एक धार्मिक स्थल (Religious Place) को प्रशासनिक अधिकारियों ने भारी पुलिस बल की मौजूदगी में हटवा दिया. ईओ ने बताया कि इसको हटवाने के लिए पहले नोटिस जारी किया जा चुका था. उन्होंने बताया कि अतिक्रमण करने वाले ने खुद ही अपने लोगों के साथ मिलकर इसे हटाया है.

जानकारी के मुताबिक, काशीराम कालोनी में सरकारी जमीन पर अवैध रूप से अतिक्रमण कर एक इबादतगाह बनाए जाने का मामला सामने आया था. ईओ नगर पालिका ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि सगीर अहमद ने सरकारी जमीन पर अवैध अतिक्रमण कर रखा है. इस पर उनको नोटिस जारी किया गया था. ईओ ने बताया कि नोटिस मिलने के बाद उन्होंने इसे हटाने की बात कही थी. शुक्रवार को सीओ सिटी समेत अन्य अधिकारियों की मौजूदगी में टीन-शेड से निर्मित अवैध इबादतगाह को हटवा दिया गया.

इस दौरान भारी संख्या में पुलिस बल भी मौजूद रहा
वहीं, इस मामले में इस इबादतगाह के मुतवल्ली सगीर अहमद का कहना है कि जब से कालोनी स्थापित हुई है तब से यह स्थापित है. लगभग 10 वर्ष हो गए. उन्होंने कहा कि पहले तिरपाल डाला गया था. अब इसमे टीन शेड डाली गई थी. इसको लेकर अब बजरंग दल वालों ने आपत्ति जताई. जिसके बाद इसको अवैध अतिक्रमण बताकर हटा दिया गया. इस दौरान भारी संख्या में पुलिस बल भी मौजूद रहा.

मुख्यमंत्री के सचिव को एक ज्ञापन भी सौंपा था
बता दें कि पिछले महीने उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले की रामसनेहीघाट तहसील परिसर में बनी मस्जिद को पुलिस-प्रशासन ने ढहा दिया था. मस्जिद ढहाने की खबर जंगल में आग की तरह फैली और मुस्लिम संगठनों ने कड़ी नाराजगी जताते हुए सभी दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई और मौके पर मस्जिद पुनर्निर्माण की मांग की थी. इस संबंध में मुस्लिम धर्मगुरुओं ने मुख्यमंत्री के सचिव को एक ज्ञापन भी सौंपा था.

Tags: Hardoi, Masjid, Muslim, Uttar pradesh news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर