प्यार में सात समुंदर पार करके भारत आई लड़की, बेरोजगार प्रेमी से भरा दिल; लौटी अपने देश

लॉकडाउन के दौरान जब लडक़े पर आर्थिक मार पड़ी तो विदेशी लडक़ी के प्यार का बुखार उतर गया. वह घर वापसी के लिए अपने परिजनों से मदद मांगने लगी.

लॉकडाउन के दौरान जब लडक़े पर आर्थिक मार पड़ी तो विदेशी लडक़ी के प्यार का बुखार उतर गया. वह घर वापसी के लिए अपने परिजनों से मदद मांगने लगी.

अपने प्यार को पाने के लिए एक विदेशी लड़की भारत आ गई थी. फेसबुक से हुई दोस्ती इश्क में बदली और लडक़ी 4,622 किलोमीटर दूर से अपने प्रेमी के पास चली आई. मगर लॉकडाउन के दौरान जब लड़के पर आर्थिक मार पड़ी तो विदेशी लड़की के प्यार का बुखार उतर गया. वह घर वापसी के लिए अपने परिजनों से मदद मांगने लगी.

  • Share this:

हरदोई. सात समंदर पार मैं तेरे पीछे -पीछे आ गई...!  इस फिल्मी गाने की तर्ज पर ही अपने प्यार को पाने के लिए एक विदेशी लड़की भारत आ गई थी. फेसबुक से हुई दोस्ती इश्क में बदली और लड़की 4,622 किलोमीटर दूर से अपने प्रेमी के पास चली आई. मगर लॉकडाउन के दौरान जब लड़के पर आर्थिक मार पड़ी तो विदेशी लड़की के प्यार का बुखार उतर गया. वह घर वापसी के लिए अपने परिजनों से मदद मांगने लगी.

दरअसल, मामला हरदोई जनपद के मझिला थाना क्षेत्र का है. यहीं के एक युवक पवन की दोस्ती फिलीपींस की एक लड़कीएडना से हो गई. फेसबुक से शुरू हुई दोस्ती में युवती अपना देश घर परिवार सबकुछ छोडक़र प्रेमी युवक पवन के पास हरदोई चली आई. आने बाद से वह पवन के साथ ही रहने लग गई. लॉकडाउन के कारण पवन बेरोजगार हो गया. जब पवन की आर्थिक स्थिति बिगडऩे लगी तो युवती के ऊपर से इश्क का बुखार धीरे- धीरे उतरने लगा. समस्याएं बढऩे पर युवती अपने परिजनों से सम्पर्क कर घर वापसी के लिए मदद मांगने लगी. उसके बाद फिलीपींस में रह रहे युवती के परिजनों ने दूतावास से संपर्क किया. फिलीपींस के दूतावास के अधिकारियों ने जनपद के प्रशासन से संपर्क कर युवती को ढूंढ निकाला गया. उसके बाद प्रशासन के लोग उसे लेने गांव पहुंच गए. युवती अपने घर जाना चाहती थी, मगर उसे अपने प्रेमी की भी चिंता थी कि उसे किसी भी प्रकार की यातनाएं ना दी जाएं. प्रशासन ने युवती को दूतावास के अधिकारियों के साथ रवाना कर दिया.

फिलीपींस की युवती का कहना है की वह अगस्त 2019 को हरदोई के रहने वाले पवन के पास आई थी. एक साल बीतने के बाद लॉकडाउन के चलते पवन की आर्थिक स्थिति खराब हो गई तो उसे रहने में समस्या होने लग गई. इस लिए वह अपने देश फिलीपींस जाना चाहती है. साथ ही उसने यह भी बताया कि उसका भारत के लिए वीजा केवल एक वर्ष का ही था, मगर लॉकडाउन की वजह से घर वापसी न कर सकी.

इस पूरे प्रकरण में एएसपी पश्चिमी कपिल देव का कहना है कि अगस्त 2019 में फिलीपींस की एडना नामक युवती भारत भ्रमण पर आई थी और मझिला थाना क्षेत्र के निवासी पवन से युवती की दोस्ती हो गई थी. दिल्ली व पवन के गांव में रहने के बाद लॉकडाउन के समय मे युवती के वीजा और पासपोर्ट की अवधि समाप्त हो गई थी और फिलीपींस एम्बेसी को इसकी सूचना विदेशी युवती के द्वारा दी गई थी, जिसके बाद एम्बेसी से आए हुए लोगों के साथ युवती को भेज दिया गया है. साथ ही पवन को नोटिस दिया गया है, जिसमें उनसे यह जानकारी मांगी गई है कि विदेश से आई युवती के संबंध में उनके द्वारा प्रशासन को सूचना क्यों नहीं दी गई.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज