होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /अजब-गजब: घर में चल रही थी अंतिम संस्कार की तैयारी, तभी जिंदा लौट आया युवक

अजब-गजब: घर में चल रही थी अंतिम संस्कार की तैयारी, तभी जिंदा लौट आया युवक

लापता युवक को जिंदा देखकर घरवाले हक्के-बक्के रहे गये. (सांकेतिक तस्वीर)

लापता युवक को जिंदा देखकर घरवाले हक्के-बक्के रहे गये. (सांकेतिक तस्वीर)

ट्रेन हादसे में युवक की मौत की खबर सुनकर लापता युवक को तलाश रहे परिजनों ने शव की शिनाख्त की. फिर पोस्टमार्टम होने के बा ...अधिक पढ़ें

हरदोई. यूपी के हरदोई जिले से एक अजीबो गरीब मामला सामने आया. ट्रेन हादसे में युवक की मौत की खबर सुनकर लापता युवक को तलाश रहे परिजनों ने शव की शिनाख्त की. फिर पोस्टमार्टम होने के बाद शव को अंतिम संस्कार के लिए घर ले आए. मौत का मातम बरपा था कि तभी लापता युवक जिंदा घर पहुंच गया. जब पुलिस को इस बारे में जानकारी मिली तो पैरों तले की जमीन खिसक गई. फौरन युवक के घर पहुंची पुलिस ने जानकारी एकत्र कर शव को कब्जे में लेकर रवाना हो गई.

कोतवाली देहात की कांशीराम कालोनी निवासी संदीप नामक युवक सोमवार से लापता था. उसकी मां विद्यावती और भाई संतोष उसकी तलाश कर रहा था. इसी बीच बुधवार को पता चला कि आंझी-शाहाबाद रेलवे स्टेशन के पास किसी युवक की ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गई. इसका पता चलते ही संदीप का भाई संतोष पहले जीआरपी थाने पहुंचा, वहां से आरपीएफ चौकी गया, वहां से आंझी-शाहाबाद स्टेशन पहुंचा. संतोष ने कपड़ों और हाथों की उंगलियों की बनावट से शव की शिनाख्त अपने लापता भाई संदीप के रूप में की. शिनाख्त होने के बाद पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव संतोष को सुपुर्द कर दिया. संतोष अंतिम संस्कार के लिए शव घर ले आया. घर में मौत का मातम छाया हुआ था और शव के अंतिम संस्कार की तैयारी हो रही थी. इसी बीच लापता संदीप घर पहुंच गया. उसे जिंदा देखते ही सभी हक्का-बक्का रह गये.

उधर संदीप के जिंदा होने की जानकारी मिलते ही पुलिस भी कालोनी पहुंच गई. उसने संदीप से पूछताछ की. संदीप मानसिक तौर पर बीमार रहता है. उसने पूछने पर बताया कि वह बघौली गया हुआ था. इसके बाद पुलिस ने जरूरी कागजी कार्रवाई को पूरा किया और फिर शव को अपनी सुपुर्दगी में लेकर वहां से रवाना हो गई.

Tags: Hardoi News, UP news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें