Home /News /uttar-pradesh /

teachers pointed guns on each other in union meeting 4 suspend

ये शिक्षक सिखाएंगे संस्कार? बैठक में शिक्षक संघ के दो गुट ने एक-दूसरे पर तान दी बंदूकें, 4 सस्पेंड

इन शिक्षकों की हरकत से एक सवाल उठ रहा है कि ये स्कूल में बच्चों को किस तरह के संस्कार देंगे? (प्रतीकात्मक)

इन शिक्षकों की हरकत से एक सवाल उठ रहा है कि ये स्कूल में बच्चों को किस तरह के संस्कार देंगे? (प्रतीकात्मक)

विकास भवन में समीक्षा बैठक के दौरान शिक्षक नेताओं ने जो हरकत की, उसने तमाम तरह के सवाल खड़े कर दिए हैं. सबसे अहम सवाल तो यही है कि ऐसे शिक्षक स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को क्या इसी तरह के संस्कार देंगे?

हरदोई. उत्तर प्रदेश में हरदोई के विकास भवन में समीक्षा बैठक के दौरान रायफल-बंदूक ले कर पहुंचे शिक्षक संघ के दो गुटों में आमने-सामने आते हुए पहले तो गाली-गलौज हुई, उसके बाद नौबत मार-पीट तक पहुंच गई. इतना ही नहीं दोनों गुटों ने एक-दूसरे पर असलहे तक तान दिए थे. पुलिस ने दोनों गुटों की अलग-अलग तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. डीएम के आदेश पर सरकार की साख को बट्टा लगाने वाले चार शिक्षक नेताओं को निलंबित भी कर दिया गया है.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, 4 मई को विकास भवन के सभागार में समीक्षा बैठक हो रही थी. शिक्षक नेता शिवशंकर पाण्डेय, अक्षत पाण्डेय और दूसरे गुट के महेंद्र प्रताप सिंह व आलोक मिश्रा बैठक में शामिल थे. बैठक में रायफल-बंदूक लेकर पहुंचे शिक्षक नेताओं ने एक-दूसरे पर तोहमत मढ़ते हुए गाली-गलौज करनी शुरू कर दी. इतना ही नहीं आस्तीने समेटते हुए एक-दूसरे पर असलहे तान दिए. उनकी इस करनी से जहां बैठक में मौजूद अफसर हक्का-बक्का रह गए, वहीं सरकार की साख को भी बट्टा लगा. पुलिस को दी अलग-अलग तहरीर में शिक्षक संघ के दोनों गुटों के नेताओं ने एक-दूसरे के रिपोर्ट दर्ज कराई. पुलिस जांच कर रही थी. शिक्षक नेताओं के इस रवैए से डीएम तक हैरान रह गए.

बीएसए वीपी सिंह ने बताया कि डीएम अविनाश कुमार के निर्देश पर शिवशंकर पांडेय प्रधान अध्यापक उच्च प्राथमिक विद्यालय कंडहुना टड़ियावां जो कि उत्तर प्रदेश प्रादेशिक प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष व प्रांतीय कोषाध्यक्ष है के साथ अक्षत पांडेय सहायक अध्यापक प्राथमिक विद्यालय सहोरा बिलग्राम महेद्र प्रताप सिंह प्रधान अध्यापक प्राथमिक विद्यालय मढ़िया बावन व शिक्षक नेता आलोक मिश्रा प्रधान अध्यापक प्राथमिक विद्यालय हरपालपुर को निलंबित कर दिया है.

ये भी पढ़ें- हरदोई में सरकारी विभागों पर 35 करोड़ का बिजली बिल बकाया, विद्युत विभाग के छूटे पसीने

बीएसए ने बताया कि सभी निलंबित शिक्षकों को उनके पद स्थापित विद्यालय से सम्बद्ध किया है. इस मामले में बीईओ सांडी राजेश कुमार व बीईओ बावन आईपी सिंह को जांच सौंपी है. 4 मई को विकास भवन में बैठक थी, जिसके बाद दोनों गुटों ने बाहर आकर आपस में गाली गलौज मारपीट के साथ असलहे लहराए थे. इस मामले में दोनों पक्षों की शहर कोतवाली में एफआईआर दर्ज है. शासकीय बैठक में असलहे ले जाने पर डीएम ने कड़ा रुख अख्तियार किया है.

बीईओ बावन और साण्डी को सौंपी गई जांच
बीएसए वीपी सिंह ने शिक्षक नेता शिवशंकर पाण्डेय, अक्षत पाण्डेय, महेंद्र प्रताप सिंह व आलोक मिश्रा को निलंबित करते हुए बीईओ बावन आईंपी सिंह और बीईओ साण्डी राजेश कुमार को जांच अधिकारी बनाया है. बनाए गए दोनों जांच अधिकारियों से जल्द जांच रिपोर्ट देने की बात कही गई है.

बच्चों को क्या सिखाएंगे संस्कार?
विकास भवन में समीक्षा बैठक के दौरान शिक्षक नेताओं ने जो हरकत की, उसने तमाम तरह के सवाल खड़े कर दिए हैं. सबसे अहम सवाल तो यही है कि ऐसे शिक्षक स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को क्या इसी तरह के संस्कार देंगे? अफसरों के सामने सारी हदें पार करने वाले शिक्षकों से आगे क्या उम्मीद की जा सकती है? हर एक के ज़ेहन में इसी तरह के सवाल बार-बार कौंध रहें हैं.

Tags: Hardoi News, Teacher Punished

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर