UP के इन 18 शहरों में बेची जा रही है रंगी हुई और तेजाब से धुली सब्जियां

News18Hindi
Updated: September 13, 2019, 4:44 PM IST
UP के इन 18 शहरों में बेची जा रही है रंगी हुई और तेजाब से धुली सब्जियां
हरी सब्जियों को रंग कर तो अदरक को तेजाब से धोकर बेचा जा रहा है. (प्रतीकात्मक फोटो)

एफएसडीए (FSDA) की जांच में खुलासा यह हुआ है कि यूपी के 18 शहरों में सब्जियों को ताज़ा और हरा दिखाने के लिए रंगों से धोया जा रहा है. वहीं अदरक (Ginger) को चमकदार दिखाने के लिए तेजाब से धोया जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 13, 2019, 4:44 PM IST
  • Share this:
नोएडा. जरूरी नहीं की बाज़ार (Market) में बिक रहा चमकदार बैंगन (eggplant) ताज़ा हो. यह भी कोई जरूरी नहीं कि दूर से हरी नज़र आ रही मटर (Green peas) और मेथी भी अंदर से उतनी ही ताज़ा और हरा-भरा हो. ये हम नहीं खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन (एफएसडीए) कह रहा है. एफएसडीए (FSDA) की जांच में खुलासा हुआ है कि उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के 18 शहरों में सब्जियों को ताजा और हरा दिखाने के लिए रंगों से धोया जा रहा है. वहीं अदरक (Ginger) को चमकदार दिखाने के लिए तेजाब से नहलाया जा रहा है.

ऐसे हुआ सब्जियों को रंग कर बेचने का खुलासा

अपर मुख्य सचिव अनीता जैन भटनागर के निर्देशन में खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन (एफएसडीए) की टीम को तैयार किया गया है. अलग-अलग शहरों में बनी एफएसडीए की टीम ने अगस्त महीने में लगातार सब्जी बाज़ार में छापेमारी की. पूरे राज्य से सब्जियों के 600 सैंपल लिए गए. सभी सैंपल को अलग-अलग लैब में जांच के लिए भेजा गया. जांच के बाद 600 में से 32 नमूने फेल पाए गए.

colors in vegetables

18 शहरों में फेल हुए सब्जियों के 32 नमूने

जानकारों की मानें तो एफएसडीए ने जो सैंपल लिए थे उसमें से 32 सैंपल जांच में फेल पाए गए. यह सभी 32 सैंपल यूपी के 18 अलग-अलग शहरों के हैं. जिन शहरों में सब्जी के सैंपल फेल हुए हैं उनमें गाज़ियाबाद, कानपुर देहात, जालौन, आगरा, मुरादाबाद, संभल, हाथरस, इटावा, हरदोई, कासगंज, मैनपुरी, अमरोहा, फिरोजाबाद, रामपुर, झांसी, मुजफ्फरपुर, औरेय्या और सिद्धार्थनगर शामिल हैं.

ऐसे रंगी जा रही हैं कुछ खास सब्जियां
Loading...

टीम से जुड़े जानकार बताते हैं सैंपल के लिए सिर्फ बाज़ार में ही छापेमारी नहीं की गई, बल्कि कुछ किसानों के ठिकानों पर भी छापे मारे गए. जब छापा मारा गया तो उस वक्त सब्जी उगाने वाले कुछ किसानों ने पानी की बड़ी-बड़ी टंकियों में हरा रंग घोलकर रखा हुआ था. उसी रंग में वो सब्जियों को धो रहे थे. जिसमे प्रमुख रूप से हरी मटर, परवल, पालक, मैथी, तोरई, करेला आदि थे.

स्प्रे से इन सब्जियों को देते हैं चमक

छापा मारने वाली टीम की मानें तो कुछ किसान और सब्जी बेचने वाले दुकानदार बैंगन, शिमला मिर्च और लौकी पर स्प्रे करते हैं. स्प्रे करने से सब्जियों पर चमक आ जाती है. वहीं चमक आने के चलते सब्जी ताज़ा लगने लगती है. जांच टीम को मौके पर कई कंपनियों के ट्रांसपेरेंट से दिखने वाले स्प्रे भी मिले.

अदरक पर मिली तेजाब की परत

जांच टीम ने बताया कि छापेमारी के दौरान बाज़ार में कई जगह चमकदार, साफ-धुली हुई और हल्की पीली दिख रही बिना छिलके वाली अदरक भी बिकती हुई मिली. मजे की बात है कि ये अदरक 20 रुपये किलो मिल रही उस सामान्य अदरक से सस्ती थी जो दिखने में मटमैली और छिलकेदार थी. जब अदरक का सैंपल लेकर लैब में जांच के लिए भेजा गया तो सामने आया कि अदरक पर तेजाब की परत चढ़ी हुई थी. यह परत तब चढ़ी जब अदरक को चमकदार और ताज़ा बनाने के लिए तेजाब से धोया गया था.

ये भी पढ़ें:- 

अलीगढ़ में कुछ छात्र नेताओं की घोषणा, वो बुर्के और टोपी में कॉलेज आएंगे तो हम भगवा वस्त्र पहनकर जाएंगे

चालान की रकम देखकर वाहन छोड़ा तो ऐसे में देनी पड़ सकती है दोगुनी पेनल्टी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नोएडा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 13, 2019, 2:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...