MP से हाथरस लाईं गयीं 12 लड़कियां, कमरे में बंद कर 3 दिन तक रखा भूखा, ऐसे बचाई जान

MP से हाथरस लाईं गयीं 12 लड़कियां
MP से हाथरस लाईं गयीं 12 लड़कियां

पीड़ित लड़कियों (Victims Girls) ने बताया कि बड़ी मुश्किल से जान बचाकर भागी और सीधे रोडवेज बस स्टैंड पर पहुंचकर पुलिस को पूरी घटना बताई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2020, 3:01 PM IST
  • Share this:
हाथरस. उत्तर प्रदेश के हाथरस जिल में स्थित चंदपा थाना क्षेत्र के बुलगढ़ी गांव में 19 वर्षीय कथित गैंगरेप पीड़िता (Hathras Gangrape and Murder Case) की मौत के बाद मचे सियासी घमासान और जांच के बीच शनिवार देर रात ह्यूमन ट्रेफिकिंग का मामला सामने आया है. हाथरस में मध्यप्रदेश से लाई गई 12 लड़कियां रोती बिलखती सड़क पर मिली. जिनमें से एक नाबालिग लड़की भी शामिल है. पीड़ित लड़कियों ने बताया कि हम सभी लोगों को कमरे में बंधक बनाकर रखा गया था. वहीं 11 लड़कियां अभी भी लापता है. जिनकी तलाश पुलिस कर रही है.

मामला सदर कोतवाली क्षेत्र के रोडवेज बस स्टैंड की है. बताया जा रहा है कि मध्यप्रदेश से 12 लड़कियां बेचने के लिए लाई गई थी. इतना इतना ही नहीं उन्हें 3 दिन तक भूखा रखा गया था. वहीं इन लड़कियों को एक घर के कमरे में ताला लगाकर रखा गया था ताकि ये भाग न सकें. पुलिस के मुताबिक इन्हे सिलाई काम कराने का झांसा देकर सिलाई का काम कराने के नाम पर 12 लड़कियों को हाथरस लाया गया था.





ह्यूमन ट्रेफिकिंग से जुड़े तार
पीड़ित लड़कियों ने बताया कि बड़ी मुश्किल से जान बचाकर भागी और सीधे रोडवेज बस स्टैंड पर पहुंचकर पुलिस को पूरी घटना बताई. सूचना मिलने के बाद पुलिस टीम ने बंधक बनाकर रखी गई लड़कियों को मुक्त कराया. अब बड़ा सवाल कि क्या ह्यूमन ट्रेफिकिंग का रैकेट हाथरस में हुआ सक्रिय. पुलिस घटना की जांच पड़ताल में जुटी है.

सीएम योगी ने उठाया बड़ा कदम

निर्भया फंड के तहत योगी सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए लखनऊ पुलिस के साथ वूमैन पावर लाइन 1090 और अन्य सुरक्षा एजेंसियों को मजबूत और सक्रिय किया है. योगी सरकार ने प्रदेशभर एंटी रोमियो स्क्वाड की तैनाती के साथ सादी वर्दी में जगह-जगह महिला पुलिसकर्मियों की तैनाती, यूपी 112 इंडिया मोबइल एप रात्रि सुरक्षा कवच योजना, महिला हेल्प डेस्क के साथ चौराहों पर पिंक बूथ बनाए हैं. सीएम योगी खुद महिलाओं के खिलाफ होने वाले क्राइम को लेकर हर महीने प्रदेशभर के अधिकारियों के साथ बैठक करते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज