हाथरस कांड में सीबीआई ने दर्ज की गैंगरेप की धारा में FIR, जांच के लिए बनाई टीम

सीबीआई ने इस केस की जांच के लिए अलग टीम का भी गठन किया है. (फाइल)
सीबीआई ने इस केस की जांच के लिए अलग टीम का भी गठन किया है. (फाइल)

सीबीआई (CBI) के प्रवक्ता आर. के गौड़ ने कहा, ‘‘शिकायतकर्ता ने 14 सितंबर को आरोप लगाया था कि आरोपियों ने बाजरे के खेत में उसकी बहन का गला घोंटने की कोशिश की.

  • Share this:
लखनऊ. केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) ने उत्तर प्रदेश के हाथरस में 14 सितंबर को दलित युवती के साथ हुई कथित सामूहिक बलात्कार (Gang Rape) की घटना की जांच अपने हाथ में ले ली है और इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज कर ली है. सीबीआई की एफआईआर में बतौर आरोपी फिलहाल सिर्फ संदीप का नाम है, लेकिन इस केस में गैंगरेप की धारा जोड़ी गई है. अधिकारियों ने बताया कि एजेंसी ने रविवार सुबह भारतीय दंड संहिता की सामूहिक बलात्कार और हत्या से संबंधित धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की. इससे पहले मृतका के भाई की शिकायत पर हाथरस जिले के चंदपा थाने में इस घटना के संबंध में मामला दर्ज किया गया था.

सीबीआई के प्रवक्ता आर. के गौड़ ने कहा, 'शिकायतकर्ता ने 14 सितंबर को आरोप लगाया था कि आरोपियों ने बाजरे के खेत में उसकी बहन का गला घोंटने की कोशिश की. उत्तर प्रदेश सरकार के अनुरोध पर और उसके बाद भारत सरकार की अधिसूचना के बाद सीबीआई ने इस संबंध में मामला दर्ज किया है.' उन्होंने बताया कि मामले की जांच के लिए एजेंसी ने एक दल का गठन किया है.

ये भी पढे़ं- 'बाबा का ढाबा' के बाद आगरा के कांजी वड़ा वाले बाबा सोशल मीडिया पर वायरल, ठेले पर पहुंचे DM ने की ये अपील



कथित सामूहिक बलात्कार की शिकार 19 वर्षीय दलित लड़की की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में 29 सितंबर को मौत हो गई थी. अभी तक हाथरस कांड की जांच एसआईटी कर रही थी. हाल ही में इस जांच को पूरा करने के लिए यूपी सरकार ने 10 दिनों का और वक्त दे दिया था, ताकि सच सामने आ सके. माना जा रहा था कि इस मामले में लगातार बढ़ते पेच की वजह से सरकार ने ये फैसला लिया, लेकिन अब ये मामला सीबीआई के पास पहुंच गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज