हाथरस कांड: हिंसा की साजिश रचने के मास्टरमाइंड रऊफ शरीफ को लगा बड़ा झटका, कोर्ट ने खारिज की जमानत अर्जी

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया की स्टूडेंट विंग कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया का राष्ट्रीय महासचिव है रऊफ शरीफ.

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया की स्टूडेंट विंग कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया का राष्ट्रीय महासचिव है रऊफ शरीफ.

हाथरस में दलित युवती के साथ दुष्कर्म (Hathras Rape Case) और हत्या की वारदात के बाद हिंसा की साजिश रचने वाले पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया की स्टूडेंट विंग कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय महासचिव रऊफ शरीफ (Rauf Sharif) की मथुरा कोर्ट ने जमानत अर्जी खारिज कर दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 18, 2021, 7:21 AM IST
  • Share this:
हाथरस/मथुरा. उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित युवती के साथ दुष्कर्म (Hathras Rape Case) और हत्या की वारदात के बाद साम्प्रदायिक विद्वेष फैलाकर हिंसा की साजिश रचने के आरोपियों के सरगना पीएफआई/सीएफआई के राष्ट्रीय महासचिव रऊफ शरीफ (Rauf Sharif) की जमानत याचिका मथुरा की एक अदालत ने खारिज कर दी.

गौरतलब है कि हाथरस जाते समय यमुना एक्सप्रेस-वे (Yamuna Expressway) पर देशद्रोह एवं हिंसा की साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार किए गए पीएफआई/सीएफआई के चार सदस्यों से की गई पूछताछ के बाद आंध्र प्रदेश के एर्नाकुलम जेल से लाए गए मुख्य आरोपी रऊफ शरीफ की जमानत याचिका सुनवाई के पश्चात अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश (प्रथम) अनिल कुमार पाण्डेय ने खारिज कर दी.

यह याचिका उनके पैरोकार अधिवक्ता मधुवन दत्त चतुर्वेदी ने विगत चार मार्च को दाखिल की थी. न्यायाधीश का कहना था कि इस अत्यंत गंभीर मामले में रऊफ शरीफ के खिलाफ ही सारी साजिश रचे जाने के प्रमाण सामने आए हैं. अदालत के अनुसार उसके खिलाफ विदेशी फंडिंग स्वीकार करने एवं उसका अपने अन्य सदस्यों में वितरण किए जाने के पुख्ता सुबूत जांच एजेंसी ने अदालत में पेश किए हैं ऐसे में उसे जमानत नहीं दी जा सकती.

पहले तीन आरोपियों की जमानत अर्जी हो चुकी है खारिज
जिला शासकीय अधिवक्ता शिवराम सिंह तरकर ने बताया कि न्यायालय ने एसटीएफ के उपाधीक्षक एवं मामले के जांच अधिकारी विनोद कुमार सिरोही की उपस्थिति में ही बचाव पक्ष के वकील की भी पूरी दलीलें सुनीं. अभियोजन पक्ष ने कड़ा विरोध किया. बाद में न्यायाधीश ने प्रार्थी के खिलाफ सुबूतों में दम होने का जिक्र करते हुए याचिका खारिज कर दी. बता दें कि इससे पूर्व अदालत इस मामले के तीन अन्य आरोपियों अतीकुर्ररहमान, मसूद अहमद और मोहम्मद आलम की जमानत अर्जी पहले ही खारिज कर चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज