होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /बड़ा खुलासा: मथुरा में बच्चा चोरी गैंग का सरगना निकला हाथरस का सरकारी डॉक्टर, ऐसा था नेटवर्क

बड़ा खुलासा: मथुरा में बच्चा चोरी गैंग का सरगना निकला हाथरस का सरकारी डॉक्टर, ऐसा था नेटवर्क

 मथुरा में बच्चा चोरी गैंग का सरगना निकला हाथरस में सरकारी अस्पताल में तैनात डॉक्टर दपत्ति।

मथुरा में बच्चा चोरी गैंग का सरगना निकला हाथरस में सरकारी अस्पताल में तैनात डॉक्टर दपत्ति।

मथुरा में बच्चा चोरी गैंग का सरगना हाथरस में सरकारी अस्पताल में तैनात डॉक्टर दंपति ही सरगना निकला है. डॉक्टर कपल द्वारा ...अधिक पढ़ें

हाथरस: यूपी के मथुरा में रेलवे स्टेशन से बच्चा चुराने के मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है. मथुरा में बच्चा चोरी गैंग का सरगना कोई और नहीं, बल्कि हाथरस में सरकारी अस्पताल में तैनात डॉक्टर दंपति निकला है. इस मामले में खास बात यह है कि गिरोह में शामिल कुल छह लोगों में से चार स्वास्थ्य विभाग में तैनात हैं. स्वास्थ्य विभाग से वेतन लेने के साथ ही अतरिक्त आमदनी के लिए यह डॉक्टर कपल अपना निजी अस्पताल चलाता था. इतना ही नहीं, इनके यहां स्वास्थ्य विभाग की आशा वर्कर्स भी इनके लिए काम करती हैं.

पुलिस की मानें तो गिरफ्तार किया गया सरगना डॉ. प्रेम बिहारी शहर के गोकुलधाम कालोनी सिकन्दराराऊ रोड का निवासी है, जो शहर के नवल नगर में बांकेबिहारी अस्पताल चलाता है. डीफार्मा के बाद बीडीएस करने वाला प्रेम बिहारी स्वास्थ्य विभाग के नगरिया रानी का नगला स्वास्थ्य केन्द्र पर संविदा फार्मासिस्ट के पद भी तैनात है. इसकी पत्नी डॉ. दयावती बीएएमएस है और बांकेबिहारी अस्पताल संचालन के साथ ही स्वास्थ्य विभाग के आरबीएसके में संविदा पर चिकित्सक के पद पर तैनात है.

इनके साथ गिरफ्तार की गई विमलेश शहर के अलगर्जी निवासी है और वहीं आशा के पद पर तैनात भी है. इसकी दूसरी सहयोगी पूनम मुरसान के गांव वंका की निवासी है और यहां आशा के पद पर तैनात है. इसके पति मंजीत को भी जीआरपी ने गिरफ्तार किया है. इनमें बच्चा चोरी करने वाला दीप कुमार शर्मा दवाओं की बिक्री आदि का काम करता है. इस मामाले में कुल मिलाकर छह लोगों में से चार लोग सीधे तौर पर स्वास्थ्य विभाग में तैनात हैं.

स्वास्थ्य विभाग ने सीज किया अस्पताल
डाक्टर कपल के बच्चा चोर गिरोह सरगना के रूप में सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने त्वरित कार्रवाई करते हुए नवल नगर स्थित बांकेबिहारी अस्पताल को सीज कर दिया. इसके साथ ही दंपति द्वारा संचालित अन्य अस्पतालों की भी जानकारी जुटाई जा रही है. बताया जाता है कि इस डॉक्टर कपल की गिरफ्तारी की सूचना मिलते ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को अस्पताल सील करने के आदेश दिए गए.

सरकारी अस्पताल में तैनात है आरोपी पति-पत्नी
डॉक्टर कपल में से पत्नी सिकन्दराराऊ क्षेत्र में संविदा डॉक्टर के पद पर तैनात है, वहीं पति शहर की पीएससी रानी का नगला में तैनात है. अब इनकी सेवा समाप्ति के लिए कार्रवाई की जा रही है. इतना ही नहीं, उसके नवल नगर के क्लीनिक को सीज किया गया है. इस मामले में कुछ अन्य आशाओं के भी शामिल होने की जानकारी सामने आई है.

Tags: Hathras news, Mathura news, Uttar pradesh news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें