होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /हाथरस: UP के पूर्व ऊर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय और निजी सचिव कोर्ट में तलब 

हाथरस: UP के पूर्व ऊर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय और निजी सचिव कोर्ट में तलब 

UP: यूपी के पूर्व ऊर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं. (File Photo)

UP: यूपी के पूर्व ऊर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं. (File Photo)

Hathras News: हाथरस के पूर्व बीडीसी सदस्य के अपहरण की कोशिश, गाली-गलौज के मामले में एडीजे चतुर्थ ने सादाबाद विधायक व पू ...अधिक पढ़ें

हाथरस. उत्तर प्रदेश के पूर्व ऊर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय (Ramveer Upadhyay) की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं. दो साल पुराने एक मामले में रामवीर उपाध्याय और उनका निजी सचिव कोर्ट में तलब किए गए हैं. इन पर पूर्व बीडीसी सदस्य ने अपहरण की कोशिश का आरोप लगाया है. एडीजे चतुर्थ पारुल वर्मा ने दो साल पुराने मामले में इन्हें तलब किया है. बता दें पूर्व बीडीसी सदस्य के अपहरण की कोशिश, गाली-गलौज के मामले में एडीजे चतुर्थ ने सादाबाद विधायक व पूर्व ऊर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय और उनके निजी सचिव रानू पंडित को तलब किया है.

वीरेन्द्र कुमार पुत्र गंगाराम निवासी गंभीर पट्टी विसाना ने कोर्ट में प्रार्थना पत्र दिया कि एक सितम्बर 2019 को दोपहर 3 बजे सादाबाद विधायक रामवीर उपाध्याय और उनके सचिव अपनी गाड़ियों के काफिले के साथ विसाना गांव में आये. रामवीर उपाध्याय और उनके निजी सचिव ने देखते ही गाली-गलौज करना शुरू कर दिया. इतने में रामवीर उपाध्याय ने कहा कि इसे गाड़ी में खींचकर डालो. उन्होंने जान से मारने की धमकी दी. इतने में गांव के प्रदीप आ गये और उसे बचा लिया.

वीरेन्द्र ने कोर्ट में कहा कि पुलिस ने इस घटना का कोई मुकदमा नहीं लिखा. वीरेन्द्र ने कोर्ट में कहा कि पहले उसका अपहरण हुआ था. सीबीसीआईडी ने उस विवेचना में एफआर लगा दी. न्यायाधीश पारुल वर्मा ने रामवीर उपाध्याय और उनके निजी सचिव रानू पंडित धारा 365 और एससीएसटी एक्ट के मामले में तलब किया है. साथ ही परिवादी को पन्द्रह दिन के अंदर गवाहों की सूची दाखिल करने के लिए कहा है.

Tags: Crime in up, Hathras Case, Hathras news, UP news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें