LIVE NOW

Hathras Case Live Update: कुछ लोगों को विकास अच्छा नहीं लग रहा, यही सोचकर षडयंत्र रच रहे- CM योगी

Hathras Gangrape: कहा यह भी जा रहा है कि जब पहली बार एसआईटी पहुंची थी तो मृतका के पिता का बयान दर्ज नहीं हो पाया था. आज वह उनका बयान भी दर्ज कर रही है. इससे पहले एसआईटी की रिपोर्ट के आधार पर ही एसपी समेत लापरवाह पुलिसकर्मियों पर गाज गिरी थी.

Hindi.news18.com | October 4, 2020, 7:20 PM IST
facebook Twitter Linkedin
Last Updated October 4, 2020

हाइलाइट्स

7:20 pm (IST)

राज्यसभा सांसद और आम आदमी पार्टी के उत्तर प्रदेश प्रभारी संजय सिंह के नेतृत्व में पार्टी नेताओं और पदाधिकारियों का एक प्रतिनिधिमंडल सोमवार को हाथरस जाकर पीड़ित परिवार से मुलाकात करेगा. अयोध्या पहुंचे आप के यूपी अध्यक्ष सभाजीत सिंह ने इस बात की जानकारी दी

7:00 pm (IST)

हाथरस घटना से जोड़ते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को विकास अच्छा नहीं लग रहा है. यह लोग देश में और प्रदेश में जातीय और सांप्रदायिक दंगा  भड़काना चाहते हैं. इस दंगे से विकास रुकेगा और उन्हें रोटियां सेंकने का मौका मिलेगा, यही सोचकर वो षड्यंत्र रचते रहते हैं 

5:53 pm (IST)

भीम आर्मी के अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद ने आज हाथरस जाकर पीड़ित परिवार से मुलाकात की है. उन्होंने पीड़ित परिवार की जान को खतरा बताते हुए उनके लिए Y श्रेणी की सुरक्षा की मांग की है. उन्होंने कहा कि यदि ऐसा नहीं होता है तो वो उन्हें अपने साथ अपने घर ले जाएंगे. इसके अलावा चंद्रशेखर आजाद ने सुप्रीम कोर्ट के रिटार्यड जज से पूरे मामले की न्यायिक जांच कराने की मांग की

5:26 pm (IST)

उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने हाथरस की घटना को लेकर योगी सरकार पर तीखा हमला बोला है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के इशारे पर पीड़िता का अंतिम संस्कार रात में कराया गया. हाथरस घटना में मीडिया को रोककर और तथ्य छुपाने की कोशिश हुई. इस मामले में अलीगढ़ मेडिकल कॉलेज की वायरल रिपोर्ट में भी पीड़ित लड़की से रेप की पुष्टि हुई है. लल्लू ने पूछा कि सरकार इस मामले में सच क्यों छुपा रही है?

5:15 pm (IST)

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद और यूपी प्रभारी संजय सिंह ने योगी सरकार पर सवाल खड़ा किए. उन्होंने योगी आदित्यनाथ पर हमलावर होते हुए कहा कि उन्हें सीएम की कुर्सी से इस्तीफा देकर वापस मठ लौट जाना चाहिए. साथ ही उन्होंने कहा कि मायावती और उनकी पार्टी इस मामले में बीजेपी के मुखपत्र की तरह काम रही है. विपक्षी दल होने के नाते उनका यह रवैया बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है. उन्हें विपक्षी नेता होने के कारण सरकार के खिलाफ मजलूमों के साथ खड़ा होना चाहिए था 

2:51 pm (IST)
दलित गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मिलने जा रहे राष्ट्रीय लोक दल के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी और समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं पर पर रविवार को पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी. दरअसल, जिला प्रशासन ने यह कहा था कि किसी को भी पीड़िता के घर जाकर प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं है. क्योंकि कोरोना महामारी की वजह से धारा 144 लागू है. साथ ही कानून व्यवस्था को देखते हुए भी यह निर्णय लिया है. लेकिन राजनेताओं को अनुमति लेने और सीमित संख्या के साथ पीड़ित परिवार से मिलने की अनुमति दी जाएगी. इसी क्रम में आज जयंत चौधरी पीड़ित परिवार से मिलने जा रहे थे. 


2:48 pm (IST)
घटना के बाद पीड़ित परिवार से मुलाकात करने पहुंचे सपा प्रदेश उपाध्यक्ष निजाम मलिक द्वारा आरोपियों के सर काटने पर एक करोड़ की राशि देने की बात को लेकर सवर्ण समाज में विरोध है. दरअसल लगातार आरोपियों के खिलाफ हुई कार्रवाई को लेकर सवर्ण समाज के लोगों का धरना-प्रदर्शन जारी है. पीड़ित परिवार पर लगाये गंभीर आरोप मीडिया के खिलाफ भी सवर्ण समाज में आक्रोश देखा गया. गांव में पुलिस का सख्त पहरा है. अब हाथरस कांड की जांच सीबीआई के हवाले करने की तैयारी है. योगी सरकार ने केंद्र सरकार से इस बात की सिफारिश की है. लेकिन पीड़ित परुवार सीबीआई जांच की सिफारिश संतुष्ट नजर नहीं आया.

2:40 pm (IST)
हाथरस गैंगरेप की लड़ाई सीबीआई तक आ गई, लेकिन इंसाफ की जंग थमी नहीं है. उधर, रविवार को हाथरस के बसंत बाग स्थित पूर्व विधायक राजवीर पहलवान के आवास पर पहले से तय पंचायत शुरू हुई. पंचायत में कई लोग उमड़े. पूर्व विधायक के आवास पर शुरू हुई इस पंचायत में हाथरस मामले को लेकर कई अहम बातें रखी गईं. पंचायत में क्षेत्र के सवर्ण समाज के लोग भी इकट्ठा हुए. पंचायत के दौरान सवर्ण समाज के लोगों ने पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए लोगों को निर्दोष बताया है. वहीं सीएम योगी के सीबीआई जांच की सिफारिश वाले फैसले का सवर्ण समाज के लोगों ने स्वागत भी किया.

LOAD MORE
हाथरस. गैंगरेप और मर्डर केस (Gangrape and Murder case) की जांच कर रही भगवन स्वरूप की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम (SIT) रविवार को एक बार फिर मृतका के घर पहुंची. शासन को अपनी रिपोर्ट सौंपने से पहले एसआईटी एक बार फिर परिजनों के बयान और उनकी मांगों को रिकॉर्ड करना चाहती है. कहा यह भी जा रहा है कि जब पहली बार एसआईटी पहुंची थी तो मृतका के पिता का बयान दर्ज नहीं हो पाया था. आज वह उनका बयान भी दर्ज कर रही है. इससे पहले एसआईटी की रिपोर्ट के आधार पर ही एसपी समेत लापरवाह पुलिसकर्मियों पर गाज गिरी थी. आज जब एसआईटी परिजनों का बयान दर्ज कर अपनी रिपोर्ट शासन को सौंपेगी तो उस पर भी एक्शन होगा. कहा जा रहा है कि अलीगढ डीएम प्रवीण कुमार लक्ष्कार पर भी कार्रवाई हो सकती है.

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज