Hathras Case: जामिया यूनिवर्सिटी का छात्र निकला PFI का संदिग्ध, LLB की कर रहा है पढ़ाई

उन्होंने बताया कि इसके बारे में और जानकारी जुटाई जा रही है. (फाइल फोटो)
उन्होंने बताया कि इसके बारे में और जानकारी जुटाई जा रही है. (फाइल फोटो)

दिल्ली से हाथरस (Hathras Case) जाते समय गिरफ्तार किया गया जामिया यूनिवर्सिटी (Jamia University) का छात्र मसूद खान. पुलिस के मुताबिक पिछले दो साल से वह PFI की छात्र शाखा कैम्पस फ्रेंड ऑफ इंडिया नाम के संगठन से जुड़ा हुआ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 6, 2020, 2:53 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश पुलिस ने हाथरस केस (Hathras case) में जाति आधारित संघर्ष की साजिश रचने और सरकार की छवि बिगाड़ने के प्रयास के आरोप में जिन चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है, उनमें से एक को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है. यूपी पुलिस (UP Police) ने इन चार आरोपियों में से मसूद खान (Masood Khan) के बारे में बताया है कि वह जामिया मिल्लिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia) का छात्र है. वह बहराइच जिले के बैरा काजी थाना स्थित जरवल रोड मोहल्ला क्षेत्र का रहने वाला है. उसके पिता का नाम शकील खान है.

बहराइच के एएसपी कुंवर ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि मसूद खान दिल्ली की जामिया यूनिवर्सिटी (Jamia University) में कानून (LLB) का छात्र है. वह बीते दो साल से कैम्पस फ्रेंड ऑफ इंडिया नाम के संगठन से जुड़ा हुआ है. यह संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) की छात्र शाखा है. आपको बता दें कि यूपी पुलिस ने सोमवार को दिल्ली से हाथरस जा रहे पीएफआई के 4 सदस्यों को गिरफ्तार किया था. टोल प्लाजा के पास एक कार की चेकिंग के दौरान इन संदिग्धों को पुलिस ने पकड़ा. जांच के दौरान इन युवकों के PFI से जुड़े होने की जानकारी मिली.





4 में से 3 संदिग्ध यूपी के
एडीजी (कानून-व्‍यवस्‍था) प्रशांत कुमार के मुताबिक, सोमवार को पुलिस ने जिन युवकों को गिरफ्तार किया है, पूछताछ के दौरान उनके संबंध PFI और सीएफआई से मिले हैं. पकड़े गए युवकों में मुजफ्फरनगर के नगला का रहने वाला अतीकउर्रहमान, मल्‍लपुरम का निवासी सिद्दीकी, बहराइच के जरवल का निवासी मसूद खान और रामपुर जिले की कोतवाली क्षेत्र का रहने वाला आलम शामिल है.

एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया था कि हाथरस प्रकरण को लेकर जिले के विभिन्‍न थाना क्षेत्रों में 6 मुकदमे दर्ज किए गए हैं. इसके अलावा सोशल मीडिया में आपत्तिजनक टिप्‍पणी को लेकर भी बिजनौर, सहारनपुर, बुलंदशहर, प्रयागराज, हाथरस, अयोध्‍या और लखनऊ में 13 मामले दर्ज किए गए हैं. पुलिस का आरोप है कि पकड़े गए संदिग्ध हाथरस के बहाने यूपी में सांप्रदायिक हिंसा फैलाने की साजिश में शामिल हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज