हाथरस कांड: CM योगी आदित्यनाथ से मिल सकता है पीड़ित परिवार, 12 अक्टूबर को कोर्ट में होना है पेश

हाथरस कांड का पीड़ित परिवार आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिल सकता है. (फाइल फोटो)
हाथरस कांड का पीड़ित परिवार आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिल सकता है. (फाइल फोटो)

Hathras Case: 12 अक्टूबर को हाथरस मामले से जुड़े प्रदेश के अधिकारियों के साथ ही पीड़ित परिवार को भी अपना पक्ष रखने के लिए तलब किया है. पीड़ित परिवार के पांच सदस्य दोपहर एक बजे के करीब सरकारी गाड़ी से लखनऊ के लिए रवाना होंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2020, 9:16 AM IST
  • Share this:
हाथरस. उत्तर प्रदेश के हाथरस जिल में स्थित चंदपा थाना क्षेत्र के बुलगढ़ी गांव में 19 वर्षीय कथित गैंगरेप पीड़िता (Hathras Gangrape and Murder Case) की मौत के बाद मचे सियासी घमासान और जांच के बीच पीड़िता का परिवार रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) से मुलाक़ात कर सकता है. बताया जा रहा है कि यह मुलाक़ात शाम को हो सकती है. दरअसल, इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने हाथरस कांड का संज्ञान लेते हुए 12 अक्टूबर को पीड़ित परिवार को भी पेश होने को कहा है. आज परिवार भारी सुरक्षा के बीच लखनऊ पहुंचेगा, जहां उनकी मुलाक़ात मुख्यमंत्री से हो सकती है. इससे पहले भी वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिए मुख्यमंत्री पीड़ित परिवार से बातचीत कर चुके हैं.

बता दें 12 अक्टूबर को हाथरस मामले से जुड़े प्रदेश के अधिकारियों के साथ ही पीड़ित परिवार को भी अपना पक्ष रखने के लिए तलब किया है. पीड़ित परिवार के पांच सदस्य दोपहर एक बजे के करीब सरकारी गाड़ी से लखनऊ के लिए रवाना होंगे. पुलिस ने परिवार को लाने के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं.

सीबीआई ने मामले को किया टेकओवर



हाथरस गैंगरेप और हत्या मामले की जांच अब सीबीआई करेगी. सीबीआई की गाजियाबाद यूनिट उन मामलों में केस को दोबारा रजिस्टर्ड करेगी, जिन्हें यूपी पुलिस ने दर्ज किया था. इसके अलावा हाथरस में हुए उग्र धरना प्रदर्शन के बाद यूपी पुलिस द्वारा दर्ज राजद्रोह और राज्य सरकार के खिलाफ साजिश रचने जैसे सभी मामलों की भी जांच सीबीआई करेगी. केंद्र सरकार की डीओपीटी विभाग के नोटिफिकेशन के बाद सीबीआई ने हाथरस केस को टेकओवर किया है. जल्द सीबीआई हाथरस केस की जांच शुरू करेगी. इससे पहले योगी सरकार ने हाथरस कांड की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट से गुजारिश की थी कि सीबीआई जांच सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में हो. सूत्रों के मुताबिक रविवार को सीबीआई की टीम एसआईटी, पीड़ित परिवार व पुलिस से मुलाक़ात कर जांच प्रक्रिया को परख सकती है. अभी तक हाथरस कांड की जांच एसआईटी कर रही थी. हाल ही में इस जांच को पूरा करने के लिए यूपी सरकार ने 10 दिनों का और वक्त दे दिया था, ताकि सच सामने आ सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज