हाथरस कांड: अखिलेश नहीं जाएंगे पीड़िता के घर, नरेश उत्तम पटेल की अगुवाई में मिलेगा सपा डेलिगेशन

hअथ्रस पीड़िता के परिजनों से मिलने के लिए सपा का प्रतिनिधिमंडल रवाना
hअथ्रस पीड़िता के परिजनों से मिलने के लिए सपा का प्रतिनिधिमंडल रवाना

Hathras Gangrape: समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) क्योंकि विदेश दौरे पर हैं और कोविड प्रोटोकॉल की वजह से न आ पाने के कारण यह प्रतिनिधिमंडल उनके बिना हाथरस भेजा गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 4, 2020, 8:59 AM IST
  • Share this:
हाथरस. कांग्रेस (Congress) के बाद अब समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) का डेलिगेशन रविवार को हाथरस (Hathras) मामले में पीड़िता के परिवार से मुलाकात करेगा. इसके लिए समाजवादी पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल लखनऊ से रवाना हो गया है. हालांकि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) हाथरस नहीं जाएंगे. समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल की अगुवाई में प्रतिनिधिमंडल के 10 पीड़ित परिवार से मुलाक़ात कर अखिलेश यादव को रिपोर्ट सौंपेंगे.

डेलिगेशन में ये नेता शामिल

नरेश उत्तम पटेल के साथ लखनऊ से उनके साथ एमएलसी उदयवीर सिंह इस डेलिगेशन में शामिल हैं. बाकी 8 प्रतिनिधि जिनमें पूर्व सांसद रामजी लाल सुमन ,पूर्व सांसद धर्मेंद्र यादव, पूर्व सांसद अक्षय यादव, जुगल किशोर वाल्मीकि, एमएलसी जसवंत यादव, एमएलसी संजय लाठर, अतुल प्रधान, राम करन निर्मल और राम कुमार बघेल शामिल हैं. ये सभी स्ते में नरेश उत्तम पटेल को ज्वाइन करेंगे. 10 सदस्यीय समाजवादी पार्टी का प्रतिनिधिमंडल हाथरस पीड़िता के परिवार से मुलाकात करेगा. उम्मीद की जा रही है कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की तरफ से भेजे गए इस प्रतिनिधि मंडल की तरफ से पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता भी दी जाएगी.



विदेश दौरे पर हैं अखिलेश
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव क्योंकि विदेश दौरे पर हैं और कोविड प्रोटोकॉल की वजह से न आ पाने के कारण यह प्रतिनिधिमंडल उनके बिना हाथरस भेजा गया है. लखनऊ से हाथरस की तरफ कूच करने से पहले न्यूज़18 से बातचीत में समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने कहा कि "हाथरस में हैवानियत की शिकार मृतक बेटी के परिजनों से मिलने जा रहे हैं. समाजवादी पार्टी ने सड़क से लेकर गांव-गांव तक इस लड़ाई को लड़ा है. सरकार सोचती है वो लाठियों के बल पर हम को रोक लेगी तो ऐसा संभव नहीं है." उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि "2 अक्टूबर को गांधी जयंती के दिन जब उनके पार्टी के 60 से ज्यादा विधायक हजरतगंज स्थित गांधी प्रतिमा पर जाना चाह रहे थे तो उनको पुलिस ने डंडे के बल पर रोका, उनके सभी विधायकों को गिरफ्तार कर पुलिस लाइन भेज दिया गया, जबकि उससे कुछ देर पहले ही मुख्यमंत्री वहां पर गांधी जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण करके आए थे."

नरेश उत्तम पटेल ने इस बात को भी कहा कि "अगर भारतीय जनता पार्टी सोचती है कि उनको सत्ता से नहीं जाना है तो वह दिन में ख्वाब देख रहे हैं. 7 सीटों पर होने वाले उपचुनाव में ही जनता उनको बता देगी कि आखिर उनके खिलाफ आम लोगों में कितनी नाराजगी भरी हुई है.".
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज