हाथरस पुलिस की सफाई- पुलिस-प्रशासन की देखरेख में परिजनों ने रीति-रिवाज से किया अंतिम संस्कार

हाथरस में गैंगरेप पीड़िता के अंतिम संस्कार को लेकर पुलिस ने सफाई दी है.  (Source: News18)
हाथरस में गैंगरेप पीड़िता के अंतिम संस्कार को लेकर पुलिस ने सफाई दी है. (Source: News18)

हाथरस (Hathras) कांड: पुलिस के अनुसार सच्चाई ये है कि पुलिस और प्रशासन की देखरेख में परिजनों द्वारा रीति-रिवाज के साथ मृतका के शव का अंतिम संस्कार किया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 30, 2020, 11:58 AM IST
  • Share this:
हाथरस. उत्तर प्रदेश के हाथरस में कथित गैंगरेप और प्रताड़ना की शिकार युवती का आधी रात के बाद बिना किसी रीति रिवाज के अंतिम संस्कार (Crimation) करने की बात पर स्‍थानीय पुलिस ने सफाई दी है. हाथरस पुलिस का कहना है कि सोशल मीडिया से झूठी खबर फैलाई जा रही है कि मृतका के शव का अंतिम संस्कार बिना परिजनों की अनुमति के पुलिस ने जबरन रात में करा दिया. पुलिस के अनुसार, सच्चाई यह है कि पुलिस और प्रशासन की देखरेख में परिजनों द्वारा अपने रीति-रिवाज के साथ मृतका के शव का अंतिम संस्कार किया गया.

उधर, हाथरस के ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रेम प्रकाश मीणा ने भी कहा है कि शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए पीड़िता के परिवारवालों की अनुमति से और उनके सहयोग से अंतिम संस्कार किया गया है. इसमें किसी भी तरह की कोई अड़चन नहीं आई. बाकी के सभी आरोप बेबुनियाद हैं. वहीं इस बारे में पुलिस अधिकारियों ने बात करने से इनकार कर दिया.


सीओ बोले- इस मामले में मेरे कप्तान से ही बात करें
क्या पीड़िता का अंतिम संस्कार जबरन रात में किया गया? पीड़ित परिवार को शव भी नहीं दिया गया. मृतका का चेहरा भी घरवालों को नहीं दिया गया. अंतिम संस्कार के लिए परिवार से अनुमति भी नहीं ली गई. इन आरोपों पर सादाबाद के सर्किल अफसर ब्रह्रम सिंह से बात की गई. चंदपा थाना और पीड़ित परिवार का गांव इन्हीं के इलाके में आता है. सीओ ने पूरी बात सुनने के बाद कहा कि इस मामले पर मैं कुछ नहीं बोल सकता हूं. बेहतर होगा कि आप मेरे कप्तान से बात कर लें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज