हाथरस: चाइल्ड हेल्प लाइन पर मिली बाल-विवाह की सूचना, पुलिस ने पहुंच कर रुकवाई शादी...
Hathras News in Hindi

हाथरस: चाइल्ड हेल्प लाइन पर मिली बाल-विवाह की सूचना, पुलिस ने पहुंच कर रुकवाई शादी...
दूल्हा, दुल्हन ने अपने-अपने राज्यों की सीमा पर ही निकाह कर एक-दूसरे को कबूल कर लिया. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

चाइल्ड लाइन (child help line) से सूचना मिली कि हाथरस गेट कोतवाली इलाके की एक कॉलोनी में नाबालिग लड़की की शादी करायी जा रही है. इस सूचना पर जब बाल संरक्षण अधिकारी और हाथरस गेट कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची तो वहां रस्में चल रही थीं....

  • Share this:
हाथरस. उत्तर प्रदेश के हाथरस जनपद में चाइल्ड हेल्प लाइन (Child Help Line) पर आई एक कॉल ने 15 वर्षीय किशोरी का जीवन बर्बाद होने से बचा लिया. दरअसल बिन मां-बाप की इस किशोरी का बाल विवाह उसके रिश्तेदारों द्वारा करवाए जाने की सूचना चाइल्ड हेल्प लाइन पर मिलने के बाद बाल संरक्षण अधिकारी पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे और हो रहे बाल विवाह (Child Marriage) को रुकवाया.

सूचना पर पहुंची पुलिस, चल रही थीं रस्में
रिपोर्ट के मुताबिक हाथरस गेट कोतवाली इलाके में कुंवर जी का नागला रोड पर एक कॉलोनी में सोमवार को कराये जा रहे एक बाल विवाह कार्यक्रम की सूचना चाइल्ड हेल्प लाइन को मिली. सूचना के बाद हरकत में आए बाल संरक्षण अधिकारी और हाथरस गेट पुलिस ने तत्काल मौके पर पहुंचकर इस विवाह को रुकवाया. चाइल्ड लाइन से सूचना मिली कि हाथरस गेट कोतवाली इलाके की एक कॉलोनी में नाबालिग लड़की की शादी करायी जा रही है. इस सूचना पर जब बाल संरक्षण अधिकारी और हाथरस गेट कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची तो वहां हल्दी आदि की रस्में चल रही थीं. पूछ-ताछ में पता चला कि लड़की के माता-पिता की मृत्यु के बाद वह अपनी बहन के यहां रहती है. टीम के साथ पुलिस को देखकर वहां लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई. लड़की के परिवार के लोग उसके बालिग होने का भी कोई सबूत पुलिस को नहीं दिखा सके.

सूचना पर पहुंची पुलिस व बाल संरक्षण अधिकारी
सूचना पर पहुंची पुलिस व बाल संरक्षण अधिकारी

जिसके बाद लड़की के जीजा वीरेंद्र ने भी स्वीकार किया कि उसकी साली की उम्र महज 15 साल है.  उन्होंने अपनी सफाई में बताया कि उसे यह जानकारी नहीं थी कि 18 साल से पहले लड़की की शादी नहीं की जाती है. जिसके बाद बाल संरक्षण अधिकारी विमल शर्मा ने उसकी फटकार लगाई और किशोरी की बहन व जीजा को हिदायत दी गई कि लड़की जब तक 18 साल की न हो जाए तब तक इसकी शादी न करें. जिस पर उन्होंने अपनी सहमति देते हुए विवाह को टाल दिया. बाल संरक्षण अधिकारी का कहना था कि लोगों की जागरूकता से ही इस प्रकार की कुप्रथाओं को रोका जा सकता है.



ये भी पढ़ें- बांदा: शराब के नशे में धुत युवकों ने बुजुर्ग की गोली मारकर की हत्या, आरोपी फरार...
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज