Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    हाथरस केस: पीड़िता के पिता बोले- बेटी को खोने के बाद दीपावली का त्योहार हमारे लिए खोटा

    बेटी को खोने के बाद दीपावली का त्योहार हमारे लिए खोटा (ANI)
    बेटी को खोने के बाद दीपावली का त्योहार हमारे लिए खोटा (ANI)

    मौके पर किसी भी बाहरी व्यक्ति के पहुंचने पर रोक है और सुरक्षा के लिए सीआरपीएफ (CRPF) की तैनाती की गई है.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 6, 2020, 10:17 PM IST
    • Share this:
    हाथरस. उत्तर प्रदेश के हाथरस कांड (Hathras) में पीड़िता के पिता ने शुक्रवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि हमारा परिवार दीपावली का त्योहार नहीं मनाएगा. उन्होंने कहा कि हम लोग बेटी के जाने का गम कभी नहीं भूला पाएंगे. उनका कहना है कि इस बार तो त्योहार हमारे लिए खोटा हो गया है. बिटिया के पिता ने भावुक होते हुए बताया कि इस बार हमारे यहां त्योहार की कोई तैयारी नहीं हो रही. उन्होंने बताया कि हर बार वह गेहूं की फसल पैदा करते थे लेकिन इस बार घर के सभी लोग बहुत ज्यादा परेशान हैं. ऐसे में हम कैसे काम करते इसलिए गांव के ही एक व्यक्ति को हमने खेत को फसल के लिए बंटाई पर उठा दिया है. राहुल गांधी द्वारा दिए गए चेक के बारे में उन्होंने कहा कि अभी इस चेक को बैंक में जमा नहीं किया है.

    रोती पीड़िता की मां को चुप कराती दिखीं सीबीआई अफसर
    मौके पर किसी भी बाहरी व्यक्ति के पहुंचने पर रोक है और सुरक्षा के लिए सीआरपीएफ की तैनाती की गई है. यहां घटनास्थल पर सीबीआई टीम एक बार फिर क्राइम सीन रिक्रिएट कर रही है. यही नहीं घटनास्थल पर ही टीम पीड़िता के परिवार सभी अलग-अलग पूछताछ करती दिखाई दी. सीबीआई की अधिकारी सीमा पाहूजा पूछताछ कर रही हैं. इस दौरान पीड़िता की मां को दूर बिठाकर उसके भाई से पूछताछ की गई. वहीं सीबीआई के सवालों का सामना करने के बाद खेत की मेढ़ पर बैठकर मां रोती दिखाई दी. बिलखकर रोती मां को सीबीआई की महिला अधिकारी चुप कराती दिखीं.


    भाई ने किया था खुलासा- CBI ने पूछा- तुमने ही अपनी बहन को मारा है?



    बता दें हाल ही में पीड़िता के भाई ने सीबीआई की पूछताछ को लेकर खुलासा किया था कि टीम ने उससे पूछा कि तुमने ही अपनी बहन को मारा है? इस पर भाई ने जवाब दिया कि मैं अपनी बहन को मारता तो उसे लेकर थाने क्यों जाता? पीड़िता के भाई ने बताया कि अगर हमें उसे मारना होता तो घर पर ही मार देते. बुधवार को मानवाधिकार संगठन पीपुल्स यूनियन फ़ॉर सिविल लिबर्टी के प्रतिनिधिमंडल से बातचीत में पीड़िता के भाई ने ये खुलासा किया. मानवाधिकार संगठन के लोगों ने सीबीआई की पूछताछ को लेकर परिवार के बातचीत की. परिवार के लोगों ने सीबीआई द्वारा पूछे गए सवालों को लेकर विरोध जाहिर किया था.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज