Home /News /uttar-pradesh /

UP Election: जब जेल से रिहा होने के बाद सीधे हाथरस में सभा करने आये थे कल्याण सिंह, पढ़ें वह दिलचस्प किस्सा 

UP Election: जब जेल से रिहा होने के बाद सीधे हाथरस में सभा करने आये थे कल्याण सिंह, पढ़ें वह दिलचस्प किस्सा 

हाथरस में जेल से रिहा होने के बाद आए थे कल्याण सिंह (फाइल फोटो- न्यूज18)

हाथरस में जेल से रिहा होने के बाद आए थे कल्याण सिंह (फाइल फोटो- न्यूज18)

UP Election 2022: उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है और सभी पार्टियां अपने लिए प्रचार-प्रसार में जुट चुकी हैं. यूपी के चुनावी माहौल में जानते हैं पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह का वह किस्सा, जिसके बिना हाथरस का चुनावी चर्चा अधूरा है. दरअसल, इमरजेंसी में 28 महीने तक कल्याण सिंह जेल में रहे. 1977 में जैसे ही कल्याण सिंह रिहा हुए तो सीधे हाथरस आये. यहां जनसभा भी की. जैसे ही कल्याण सिंह ने कार्यकर्ताओं से चंदा मांगा तो चादर छोटी पड़ गई. जरा सा कहने पर ही लाखों रुपए आ गए. उसे पार्टी फंड में जमा कराया गया. हाथरस के नगर पालिका के पूर्व चेयरमैन रमेश चंद आर्य बताते हैं कि 1977 में इमरजेंसी में सारे दल एकजुट हुये. उसके बाद जनता पार्टी का गठन हुआ. इमरजेंसी में कल्याण सिंह 28 महीने तक जेल में रहे.

अधिक पढ़ें ...

हाथरस: उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है और सभी पार्टियां अपने लिए प्रचार-प्रसार में जुट चुकी हैं. इसी चुनावी माहौल में जानते हैं पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह का वह किस्सा, जिसके बिना हाथरस का चुनावी चर्चा अधूरा है. दरअसल, इमरजेंसी में 28 महीने तक कल्याण सिंह जेल में रहे. 1977 में जैसे ही कल्याण सिंह रिहा हुए तो सीधे हाथरस आये. यहां जनसभा भी की. जैसे ही कल्याण सिंह ने कार्यकर्ताओं से चंदा मांगा तो चादर छोटी पड़ गई. जरा सा कहने पर ही लाखों रुपए आ गए. उसे पार्टी फंड में जमा कराया गया. हाथरस के नगर पालिका के पूर्व चेयरमैन रमेश चंद आर्य बताते हैं कि 1977 में इमरजेंसी में सारे दल एकजुट हुये. उसके बाद जनता पार्टी का गठन हुआ. इमरजेंसी में कल्याण सिंह 28 महीने तक जेल में रहे.

रमेश चंद आर्य बताते हैं कि जेल से रिहा होने के बाद कल्याण सिंह अपने घर अतरौली नहीं गये. वह सीधे हाथरस आये और रामलीला मैदान पर सभा की. सभा के वक्त कल्याण सिंह ने सभा में आये लोगों से पार्टी के लिए चंदा देने देने की बात कही. पदाधिकारियों ने सभा में ही चादर डाल दिया. थोड़ी ही देर में चादर कम पड़ गई. लाखों रुपया इकठ्ठा हुए. उस पैसे को भाजपा के कोष में जमा कराया गया.

कल्याण सिंह ने चारों विधानसभा प्रत्याशियों के समर्थन में जनसभा की थी. चारों ही विधानसभा में प्रत्याशी अच्छे मतों से जीते. मगर अब राजनीति बिल्कुल बदल गई है. पहले लोग पार्टी में पूरी निष्ठा के साथ काम करते थे.

हर चुनाव में आते रहे कल्याण सिंह

कल्याण सिंह यूपी के सीएम बनने के बाद भी हर प्रत्याशी के समर्थन में सभा करने आए. रमेश चंद आर्य बताते हैं कि कोई ऐसा चुनाव नहीं रहा, जिस चुनाव में कल्याण सिंह विधानसभा और लोकसभा में भाजपा प्रत्याशी के लिए सभा करने के लिए न आये हो. वह हाथरस के कार्यकर्ताओं को नाम से पहचान थे.

Tags: Assembly elections, Hathras news, Uttar Pradesh Assembly Elections

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर